top menutop menutop menu

दिल्ली से लुधियाना तक 130 किमी प्रति घंटे की स्पीड से ट्रेन चलाने की स्वीकृति

दिल्ली से लुधियाना तक 130 किमी प्रति घंटे की स्पीड से ट्रेन चलाने की स्वीकृति
Publish Date:Fri, 14 Aug 2020 05:56 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, जालंधर

पंजाब के औद्योगिक शहर लुधियाना से दिल्ली तक 130 किमी प्रति घंटे की स्पीड से यात्री गाड़ी चलाने के लिए मुख्य संरक्षा आयुक्त की स्वीकृति प्राप्त हो गई है। तीव्र गति से ट्रेन चलाने के लिए ट्रैक के उन्नतीकरण का कार्य अंतिम चरण में है। साहनेवाल तथा ढंडारीकलां रेलवे स्टेशनों पर टी-28 मशीन द्वारा ट्रैक की पंक्ति को सीधा किया जा चुका है। बिजली की ओवरहेड तारों को भी ठीक किया जा चुका है। यह जानकारी फिरोजपुर रेल मंडल के प्रबंधक (डीआरएम) राजेश अग्रवाल ने वीरवार को फिरोजपुर से आयोजित हुए वेबिनार के दौरान मंडल की उपलब्धियां गिनाते हुए दी।

उन्होंने बताया कि लुधियाना रेलवे स्टेशन पर 19 लाइनों और 7 यात्री प्लेटफार्मो पर पुराने बंद पड़े यात्री पुलों को तोड़ने का काम पूरा कर लिया गया है। मंडल ने अमृतसर रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास के लिए नए स्टेशन बिल्डिग का वर्क प्लान फाइनल करके हेडक्वार्टर भेज दिया है। अमृतसर-अटारी सेक्शन के बीच स्थित खासा रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों के आगमन-प्रस्थान के लिए सदियों पुरानी पुरानी सिग्नल प्रणाली का उपयोग किया जा रहा था। इस प्रणाली को हटाकर उसकी जगह आधुनिक इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिग लगा दी गई है। अमृतसर-छेहरटा एवं बटाला-कादियां सेक्शन का विद्युतीकरण कार्य प्रगति पर है तथा इस वित्तीय वर्ष (2020-21) के दौरान पूर्ण होने की उम्मीद है। लॉकडाउन के दौरान सड़क यातायात बंद होने की सुविधा मिलने पर फिरोजपुर मंडल के सभी व्यस्तम फाटकों के ट्रैक की मरम्मत कर दी गई है।

परेल वर्कशॉप, मुंबई से जेडडीएम-3 श्रेणी का तीन नया शक्तिशाली डीजल इंजन इस वर्ष फिरोजपुर मंडल के पठानकोट और जोगिदर नगर रेलवे स्टेशनों के बीच यात्रा को आसान और आरामदायक बनाने के लिए प्राप्त हो चुका है। इन इंजनों का ट्रायल किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण से बचने के लिए फिरोजपुर कैंट, अमृतसर तथा लुधियाना में नियमित फ्लू क्लीनिक संचालित किए जा रहे हैं। मंडल के सभी प्रमुख स्टेशनों पर क्वारंटाइन के लिए कुल 214 बिस्तरों की व्यवस्था की गई है। स्मार्ट सिटी का पैसा मिला नहीं, जालंधर सिटी स्टेशन का नहीं हुआ जीर्णोद्धार

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत जालंधर सिटी रेलवे स्टेशन के 2.77 करोड़ के जीर्णोद्धार का काम शुरू न हो पाने के जवाब में डीआरएम राजेश अग्रवाल ने कहा कि रेलवे की तरफ से तो टेंडर भी कर दिया गया था। इसके अलावा काम भी अलॉट कर दिया गया था, लेकिन स्मार्ट सिटी की तरफ से ही पैसा ट्रांसफर नहीं हो पाया। इसी वजह से काम नहीं शुरू हो पाया। उन्होंने कहा कि अब जैसे ही फंड ट्रांसफर होंगे। तत्काल प्रक्रिया पूरी करते हुए जीर्णोद्धार का काम शुरू करवा दिया जाएगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.