यात्रियों को बड़ी राहतः डेढ़ साल बाद Punjab-J&K इंटर स्टेट बस सेवा हुई बहाल, पठानकोट-जम्मू रूट पर दौड़ी बसें

कोरोना के चलते डेढ़ वर्ष से बंद पड़ी जेएंडके के लिए इंटर स्टेट बस सेवा बहाल हो गई है।पहले दिन जेएंडके ट्रांसपोर्टर की चार बसें पठानकोट पहुंची और वापस जम्मू के लिए रवाना हुई जबकि पठानकोट डिपो ने भी दों बसों को जम्मू भेजा।

Pankaj DwivediTue, 28 Sep 2021 04:58 PM (IST)
कोरोना के चलते डेढ़ वर्ष से बंद पड़ी जेएंडके के लिए इंटर स्टेट बस सेवा बहाल हो गई है।

विनोद कुमार/ रणधीर बिट्टा, पठानकोट। यात्रीगण कृप्या ध्यान दें...... पठानकोट से चलकर जम्मू को जाने वाली बस काउंटर नंबर दो पर खड़ी पर है। जिन यात्रियों ने पठानकोट से लखनपुर, सांबा व जम्मू जाना हो, वे काउंटर पर पहुंचे। पठानकोट के मुख्य बस स्टैंड पर होने वाली ये अनाउंसमेंट इंटर स्टेट बस सर्विस शुरु होने की बात बयां कर रही हैं। कोरोना के चलते डेढ़ वर्ष से बंद पड़ी जेएंडके के लिए इंटर स्टेट बस सेवा बहाल हो गई है। पहले दिन जेएंडके ट्रांसपोर्टर की चार बसें पठानकोट पहुंची और वापस जम्मू के लिए रवाना हुई जबकि, पठानकोट डिपो ने भी दों बसों को जम्मू भेजा।

आने वाले दिनों में जैसे-जैसे सवारियों का रिस्पांस बढ़ेगा, वैसे-वैसे जेएंडके और पंजाब के बाकी डिपो भी अपनी रुटीन सर्विस को बहाल करेंगे। बस सेवा शुरु होने के बाद यहां कारोबारियों को राहत मिली है, वहीं देश के विभिन्न राज्यों से जेएंडके जाने वाले साधारण यात्रियों को राहत मिली है। हालांकि यात्रा के दौरान 2 डोज और 72 घंटे पुरानी नेगेटिव रिपोर्ट वालों को ही टेस्ट से छूट मिलेगी। बाकी को लखनपुर में टेस्ट करवाना अनिवार्य रहेगा।

यात्रियों के चेहरों पर आई मुस्कान

कुपवाड़ा के रहने वाले जफर अली, बिहार के सहरसा निवासी रमा कांत, राकेश कुमार, मोतिहारी के मंगल महतो, संजीव महतो, मध्य प्रदेश के आनंद लाल, पठानकोट के निखिल कुमार, मुट्टी के हरविंद्र कुमार ने बताया कि उन्हें कल जम्मू से फोन आया था कि जेएंडके की सरकारी बस सेवा पंजाब के लिए शुरु होने जा रही है। वह रुटीन में बस स्टैंड पहुंचे तो जम्मू के लिए लगी बस देखकर खुश हो गए। यात्रियों ने बताया कि उनके पास दोनों डोज लगवाने का प्रमाण पत्र तो हैं परंतु इंटर स्टेट बस सेवा बहाल न होने के कारण उनके लिए जम्मू जाना मुश्किल हो रहा था। कारण, जम्मू के लिए उन्हें अपना वाहन किराए पर करना पड़ता लेकिन, अब इंटर स्टेट बस सेवा शुरु होने के बाद उनके आम जन को राहत मिलेगी। 

30 अगस्त को दो डोज लगाने वालों को टेस्ट से मिली थी निजात

दो डोज लेने वालों को जेंएडके सरकार ने 30 अगस्त को ही बिना टेस्ट करवाए प्रवेश करने की इजाजत दे दी थी।जिसके बाद पठानकोट व आस-पास के क्षेत्र से जेएंडके में कारोबार करने वालों सहित देश के विभिन्न् राज्यों से माता वैष्णो देवी व अन्य धार्मिक व पयर्टन स्थल जाने वालों को भी इससे काफी राहत मिली थी। अब सरकार ने इंटर स्टेट बस सर्विस शुरु करके आम जन को राहत पहुंचाने का कार्य किया है।

लखनपुर में प्रतिदिन 20 हजार से ज्यादा की एंट्री

लखनपुर से प्रतिदिन जम्मू कश्मीर में 20 हजार से ज्यादा लोग प्रवेश करते हैं, जो वहां पर कोरोना टेस्ट की अनिवार्यता के चलते घंटों लाइन में लग कर परेशान होते हैं। इसके चलते अब तक जरूरी कार्य वाले लोग ही प्रवेश करते थे। त्योहारों के दिनों जैसे भैया दूज, रक्षाबंधन पर लोगों को विशेष परेशानी होती थी। कुछ ऐसे भी लोग हैं,जो टेस्ट के कारण कई-कई महीनों तक घरों में नहीं आते थे। जो जहां से जाते थे, वापस आने के लिए लखनपुर को बैरियर मान कर वहीं रुक जाते थे।

ये शर्तें अभी रहेंगी लागू

-बिना टेस्ट के लिए दोनों डोज लगवाने का प्रमाण पत्र दिखाना होगा।

-कंडक्टर और ड्राइवर को भी अपने साथ दोनों डोज लगवाने का प्रमाण पत्र रखना होगा।

-आरटीपीसी की 72 घंटा पुरानी नेगिटिव रिपोर्ट वालों को भी टेस्ट करवाने से मिलेगी छूट

जेएंडके सरकार ने इंटर स्टेट बस सेवा बहाल कर दी है। पहले फेज में अमृतसर और पठानकोट के लिए अभी 12 बसें चलाई हैं। छह पठानकोट व छह अमृतसर भेजी जाएंगी। जैसे-जैसे सवारियां बढ़ेगी, वैसे-वैसे पुरानी सर्विस के अनुसार बसों को भेजा जाएगा। जेएंडके में केवल उन्हें प्रवेश मिलेगा, जिन्होंने दोनों डोज लगवाई हुई है। बाकियों के पास यदि 72 घंटे पुरानी आरटीपीसी की रिपोर्ट है तो ठीक वरना लखनपुर में टेस्ट करवाना पड़ेगा। रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद आगे जाना दिया जाएगा।

तजिंद्र सिंह, ट्रैफिक मैनेजर जेएंडके स्टेट ट्रांसपोर्ट।

पठानकोट डिपो ने भी मंगलवार को दो बसें जम्मू के लिए भेजी हैं। जिन यात्रियों के पास दोनो डोज लगवाने का सर्टिफिकेट होगा, उनकी टिकट सीधे जम्मू या जहां वह जाना चाहेगा, की काटी जाएगी। दूसरे यात्रियों, जिनके पास आरटीपीसी की 72 घंटा पुरानी रिपोर्ट है उनकी भी सीधी टिकट काटी जाएगी। जिनके पास नहीं है उनकी टिकट लखनपुर की काटी जाएगी। वहां टेस्ट नेगेटिव आने के बाद ही यदि रोडवेज की बस वहां रुकी हुई होगी तो बिठाया जाएगा, वरना वह दूसरी किसी बस में आगे सफर कर सकता है।

दर्शन सिंह गिल, जनरल मैनेजर पंजाब रोडवेज पठानकोट डिपो।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.