top menutop menutop menu

एक साल से शगुन के इंतजार में 2074 दुल्हनें, कोरोना संकट ने और बढ़ाया इंतजार

जालंधर, जेएनएन। जिले की 2074 दुल्हनों को पंजाब सरकार के शगुन का इंतजार है। जरूरतमंद लड़कियों को पंजाब सरकार शगुन स्कीम के तहत शादी के लिए 21 हजार रुपये देती है लेकिन पिछले एक साल से सरकार ने कोई पैसा नहीं भेजा। दुल्हनें विदा होकर अपने ससुराल चली गईं लेकिन सरकार ने पैसा नहीं दिया।

हर दुल्हन को मिलने वाली 21 हजार की राशि के हिसाब से देखें तो करीब 4.35 करोड़ रुपये शगुन स्कीम के लिए चाहिए। चूंकि सरकार ने सामान्य हालातों में ही पिछले साल यह पैसा नहीं दिया और अब कोरोना की वजह से सरकार की खुद की हालत खस्ता है, ऐसे में इन दुल्हनों का इंतजार और बढ़ना तय है।

जिला समाज भलाई दफ्तर के आंकड़े देखें तो पिछले साल जून में सरकार ने 774 आवेदकों को शगुन स्कीम की राशि भेजी थी। इसके बाद जून से नवंबर तक समाज भलाई दफ्तर से सरकार को 552 आवेदकों की सूची भेजी गई लेकिन उन्हें पैसा नहीं मिला। पिछले वित्त वर्ष के 1925 आवेदन पेंडिंग पिछले वित्त वर्ष के हिसाब से देखें तो एक अप्रैल 2019 से लेकर 31 मार्च 2020 तक के 1925 आवेदन पें¨डग पड़े हुए हैं। अब नया वित्त वर्ष शुरू हो चुका है और साल 2020 में एक अप्रैल से अब तक 149 आवेदन आ चुके हैं।

पैसा कब आएगा, अधिकारियों के पास नहीं जवाब

अधिकारी खुलकर इस मुद्दे पर कुछ नहीं कह रहे हैं। उनका कहना है कि वो आवेदन लेकर सूची तैयार कर सरकार को तय वक्त पर भेज देते हैं, फंड के बारे में तो सरकार ही कुछ कह सकती है। जब भी कोई आवेदक इसका पता करने दफ्तर आता है तो उन्हें भी बुरा लगता है लेकिन मजबूरी में हम कोई ठोस जवाब भी नहीं दे पाते।

 

यह भी पढ़ें: बड़ा खुलासा, गुरमीत राम रहीम था पंजाब में बेअदबी मामलों का मास्टरमाइंड, SIT करेगी पूछताछ

 

यह भी पढ़ें: बेहद खास हैं पानीपत की 3D चादरें, दाम में कम व काम में दम, चीन को उसी के वाटरजेट से मात


यह भी पढ़ें: बॉलीवुड स्‍टार आयुष्मान खुराना ने खरीदी पंचकूला में आलीशान कोठी, नौ करोड़ में सौदा

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.