प्रेमिका के चक्कर में पत्नी को उतारा मौत के घाट

प्रेमिका के चक्कर में पत्नी को उतारा मौत के घाट

प्यार अवैध संबंध और हत्या। होशियारपुर के माहिलपुर के गांव बाघोरा में यह तीन शब्द रविवार सुबह हकीकत में बदल गए। फिल्मी सीन की तरह पति ने पत्नी को मौत के घाट उतार दिया।

JagranSun, 28 Feb 2021 05:54 PM (IST)

संवाद सहयोगी, माहिलपुर : प्यार, अवैध संबंध और हत्या। होशियारपुर के माहिलपुर के गांव बाघोरा में यह तीन शब्द रविवार सुबह हकीकत में बदल गए। फिल्मी सीन की तरह पति ने पत्नी को मौत के घाट उतार दिया। थाना सदर फगवाड़ा के अंतर्गत आती सिटी हार्ट के पीछे रहने वाले हरदीप कुमार (52) के काफी समय से दूसरी महिला से प्रेम संबंध थे। इन संबंधों में उसकी पत्नी आशा रानी (50) आड़े रही थी। इसके चलते हरदीप कुमार ससुराल घर में रविवार सुबह 10:15 बजे घुस गया और आते ही उसने घर के मेन गेट को अंदर से बंद कर दिया। इसके बाद पत्नी आशा रानी पर कृपाण से ताबड़तोड़ हमला करना शुरू कर दिया। बेटी को बचाने के लिए आए ससुर सास पर को भी जख्मी कर दिया। करीब 25 मिनट में आशा रानी (50) की हत्या कर जब भागने लगा तो लोगों ने उसे कड़ी मशक्कत से काबू कर माहिलपुर पुलिस के हवाले कर दिया। एएसपी गढ़शंकर तुषार गुप्ता व एसएचओ माहिलपुर सतविदर सिंह धालीवाल ने घटनास्थल का मुआयना करने के बाद तफ्तीश शुरू कर दी है। फिलहाल पुलिस मृतका के पारिवारिक सदस्यों के बयान दर्ज करने की कार्रवाई कर रही है।

फगवाड़ा थाने के एसएचओ की लापरवाही के कारण बहन को खो दिया

सिविल अस्पताल माहिलपुर में मृतका के भाई विजय कुमार पुत्र बिशन लाल वासी बाघोरा ने बताया कि आशा रानी की शादी रेलवे में कार्यरत हरदीप कुमार वासी बैक साइड सिटी हार्ट थाना सदर फगवाड़ा से हुई थी। उनके तीन बेटे हैं जो विदेश में रहते हैं। शादी के बाद हरदीप कुमार से आशा रानी का झगड़ा रहता था। इस वजह से हरदीप कुमार का किसी दूसरी महिला से रिश्ता होना था। नौ फरवरी को हरदीप कुमार ने आशा के साथ मारपीट की थी। इसके चलते उस पर थाना सदर फगवाड़ा में मामला दर्ज करवाया था, लेकिन फगवाड़ा पुलिस उसे पकड़ने की जगह मामले को लटकाती रही। उन्होंने आरोप लगाया कि सदर थाना फगवाड़ा के एसएचओ रमन कुमार की लापरवाही के कारण ही बहन को जान गंवानी पड़ी।

घर का दरवाजा बंद कर दिया वारदात को अंजाम

एएसपी तुषार गुप्ता व एसएचओ सतविदर सिंह धालीवाल ने कहा कि परिजनों के बयान पर हरदीप कुमार के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया जाएगा। कुलदीप कुमार व पड़ोसन निर्मला ने बताया कि हरदीप कुमार सुबह सवा दस बजे अपने बुलेट मोटरसाइकिल पर सवार होकर आया था और आते ही उसने घर में बैठी आशा रानी पर कृपाण से हमला कर अंदर से दरवाजा बंद कर लिया था।

पति की मारपीट से दुखी आशा हो गई थी लापता

मृतका के भाई विजय कुमार ने बताया कि पति हरदीप कुमार की मारपीट से आशा मानसिक रूप से परेशान रहने लगी थी। इसी बीच, वह लापता हो गई थी। गांव उदासियां में उसके होने की जानकारी इंटरनेट मीडिया पर मिली थी। वीडियो देखने के बाद उसे वहां से साथ लेकर घर लाए थे। घर में भी आशा काफी चुप्प रहती थी। कुछ ही दिन में वह इस सदमे से उभरी थी।

लोग पकड़ने लगे तो कृपाण से करने लगा वार

घटनास्थल पर उपस्थित दीपक कुमार व कुलदीप कुमार ने बताया कि खून से लथपथ व्यक्ति हाथ में कृपाण पकड़े भाग रहा था व पीछे से पकड़ो पकड़ो की आवाज आ रही थी। इसके बाद उन्होंने लोगों की सहायता से उसे पकड़ने की कोशिश की तो वह कृपाण से हमला करने लगा, लेकिन उन्होंने उसे पकड़ लिया। इसके बाद पुलिस के हवाले उसे कर दिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.