गढ़शंकर का संपर्क मार्ग बदहाल, टूट रहे लोगों के संपर्क

2017 के विधानसभा चुनाव में यहां कांग्रेस पार्टी ने सरकार बनने से पहले किया वादा नहीं किया पूरा

JagranSat, 24 Jul 2021 10:14 PM (IST)
गढ़शंकर का संपर्क मार्ग बदहाल, टूट रहे लोगों के संपर्क

रामपाल भारद्वाज, गढ़शंकर : 2017 के विधानसभा चुनाव में यहां कांग्रेस पार्टी ने सरकार बनने पर किए वादे अभी तक नहीं हो पाए पूरे। जिसकी ताजा मिसाल गढ़शंकर इलाके की सड़कों को देखकर मिलती है। साढे़ चार साल बीतने के बाद भी दर्जनों गांवों को जाने वाली सड़कों की रिपेयर न होने के कारण सभी सड़के गड्ढों में तबदील हो गई है। इन सड़कों पर सफर करने वाले लोग अकसर गिरने पर सरकार को कोसते नजर आते हैं उनका कहना है कि कांग्रेस के वादे चुनावी वादे थे जो समय के साथ कांग्रेस पार्टी के मंत्री व मुख्यमंत्री भूल गए हैं। दोहलरों से मुग्गोवाल सड़क पर गहरे गड्ढे होने के कारण वह बारिश होने पर तालाब का रूप धारण कर लेती है। यदि माहिलपुर से कोटफातूही सड़क की बात की जाए तो यह12 किलोमीटर लंबी है और जगह-जगह से टूट गई है जिसमें लोग मिट्टी डलवाकर काम चला रहे हैं। इस सड़क को बनाने के लिए लंबे समय से लोगों की मांग उठती रही है।

लगभग सभी सड़कें तोड़ चुकी हैं दम

यदि बात सैलाखुर्द से जस्सोवल, सेलाखुर्द से पेंसरा, डांसीवाल-पद्दी सूरा सिंह-पोसी, डाडा से नूरपुर जट्टा, सकरूली, मेघोवाल, कोटफातूही से गढ़शंकर, गढ़शंकर से बीनेवाल सड़क जोकि हिमाचल प्रदेश के बाद जोड़ती है, झुगियां अड्डे से खुरालगढ़ को जाने वाली सड़क, गड़ी मनसोवाल, मेहंदवाणी को जाने वाली सड़क की हो तो तकरीबन हर गांव को जाने वाली सड़क टूटी हुई है। जो सड़के दो साल पहले पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा बनवाई गई थी वह भी बीते जमाने की बात हो गई है उनकी हालत देखकर कह नहीं सकते कि ये दो साल पहले बनी होगी। हिमाचल को जोड़ने वाली सड़क भी तोड़ चुकी है दम

गढ़शंकर से नंगल के रास्ते हिमाचल प्रदेश से जोड़ने वाली सड़क की हालत भी दयनीय हो गई है कुछ महीने पहले इस सड़क का आधा अधूरा पैचवर्क किया गया था वहां फिर गड्ढे बनने लगे हैं। सड़क की हालत इतनी अधिक खस्ताहाल हो चुकी है कि इस रास्ते पर पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। भंमिया, पालेवाल, गड़ी मट्टू, शाहपुर, कोट, पंडोरी बीत, झुंगिया व बीनेवाल गांव तक सड़क में सैकड़ों की संख्या में बने गड्ढे इन गांवों के लोगों के लिए भी खतरनाक बन चुके हैं।

15 किलोमीटर जाने को लगता है एक घंटा

गढ़शंकर से बीनेवाल की दूरी 15 किलोमीटर है पर इस दूरी को तय करने में एक घंटा लग जाता है। टूटी फूटी सड़क के कारण धूल के गुबार उड़ते रहते हैं जिसके कारण इन गांवों के लोगों के लिए गंभीर बीमारियों का कारण बन रहे हैं इस इलाके के लोगों को सांस की समस्या, दमा व एलर्जिक बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं।

क्या कहते हैं विधायक रोड़ी

इस संबंध में विधायक जयकिशन रोड़ी ने कहा कि इस सड़क का इस्तेमाल कांग्रेस पार्टी के हलका इंचार्ज रोजाना करते हैं और गढ़शंकर में आकर मुख्यमंत्री द्वारा करोड़ों रुपये खर्च कर विकास के झूठे दावे करते रहते हैं पर उनके दावों की पोल उनके ही गांव को जाती सड़क खोल रही है। अकाली दल बादल के जिलाध्यक्ष व पूर्व विधायक ठेकेदार सुरिदर सिंह राठा ने कहा कि कांग्रेस ने लोगों को झूठ बोल कर सत्ता हासिल कर ली थी लेकिन जो वायदे किये थे उसे भूल गए। उन्होंने कहा कि अकाली दल सरकार ने इलाके में जो विकास के कार्य शुरू किए कांग्रेस सरकार ने उसे भी पूरा नही होने दिया। उन्होंने कहा कि दोआबा की सड़कों की हालत खराब हो चुकी है और सड़कें गड्ढों में तब्दील हो गई जो तालाब का रूप धारण कर लेती है और कांग्रेस पार्टी के मुख्यमंत्री इसे ही विकास समझ रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.