18 साल के बाद गढ़दीवाला नगर कौंसिल को मिला नया प्रधान

18 साल के बाद गढ़दीवाला नगर कौंसिल को मिला नया प्रधान

नगर कौंसिल के प्रधान का चुनाव दो महीने के इंतजार के बाद आखिरकार मंगलवार को संपन्न हो गया। मंगलवार को बैठक में प्रधान व वाइस प्रधान का चुनाव मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार एवं विधायक संगत सिंह गिलजियां के नेतृत्व में कांग्रेस पार्षदों ने सर्वसम्मति से किया।

JagranTue, 20 Apr 2021 06:30 PM (IST)

संवाद सहयोगी, गढ़दीवाला : नगर कौंसिल के प्रधान का चुनाव दो महीने के इंतजार के बाद आखिरकार मंगलवार को संपन्न हो गया। मंगलवार को बैठक में प्रधान व वाइस प्रधान का चुनाव मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार एवं विधायक संगत सिंह गिलजियां के नेतृत्व में कांग्रेस पार्षदों ने सर्वसम्मति से किया। इसके चलते वार्ड छह के पार्षद जसविदर सिंह जस्सा के सिर पर प्रधानगी का ताज सजा कर कांग्रेस ने लगभग 18 साल वनवास के बाद कौंसिल पर कब्जा जमाया। इसी तरह वार्ड आठ के पार्षद संदीप जैन को वाइस प्रधान चुना गया। इससे पहले 2003 में कांग्रेस की कमेटी का गठन हुआ था। एसडीएम दसूहा रणदीप सिंह हीर की अगुवाई में चुनावी प्रक्रिया में वार्ड दो के पार्षद सुदेश कुमार टोनी ने जसविदर सिंह का नाम पेश किया और वार्ड 11 के पार्षद रेशम सिंह ने सहमति प्रकट की। इसके बाद वाइस प्रधान के लिए वार्ड एक की पार्षद सरोज मिन्हास ने वार्ड आठ के पार्षद संदीप जैन का नाम पेश किया और वार्ड चार के पार्षद हरविदर सिंह ने फिर सहमति जताई। इस पद के लिए भी दूसरा नाम पेश नहीं किए जाने पर संदीप जैन को वाइस प्रधान घोषित किया।

ढोल नगाड़ों के साथ नवाया शीश

विधायक संगत सिंह गिलजियां, पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मेंबर जोगिद्र सिंह गिलजियां व कांग्रेस युवा नेता दलजीत सिंह ने कहा कि नवनियुक्त पदाधिकारी कस्बे के चहुंमुखी विकास के लिए तत्पर रहेंगे। उन्होंने लोगों से भी अपील करते हुए कहा कि विकास कार्यों में पूर्ण सहयोग दें ताकि शहर की नुहार को बदला जा सके। वहीं नवनियुक्त प्रधान जसविदर सिंह जस्सा ने समर्थकों समेत ढोल नगाड़ों के साथ प्राचीन व ऐतिहासिक मंदिर महिषासुर मद्धनी देवी मंदिर व गुरुद्वारा सिंह सभा में माथा टेक कर आशीर्वाद प्राप्त किया।

संगत सिंह ने अंत तक नहीं खोले थे पत्ते

नगर कौंसिल चुनाव में 11 वार्डो में से कांग्रेस ने 10 पर जीत का परचम लहराया था। सभी पार्षद प्रधानगी पद का सपना देख रहे थे। किसी न किसी का नाम प्रधानगी पद के लिए लोगों के सामने आ रहा था। ऐसे में यह आम चर्चा थी कि प्रधानगी के लिए किसी एक के नाम पर मोहर लगाना गिलजियां के लिए मुश्किल हो जाएगा और इस चुनाव को करवाने के लिए हो रही देरी की लोग यही वजह मान रहे थे। लेकिन मुख्यमंत्री के सियासी सलाहकार संगत सिंह गिलजियां ने अंत तक अपने पत्ते नहीं खोले और ऐन वक्त पर प्रधान व वाइस प्रधान का चुनाव सर्वसम्मति से करवा कर सभी को हैरत में डाल दिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.