बरेली से 2600 मीट्रिक टन खाद लेकर रेलवे स्टेशन पहुंची मालगाड़ी

बरेली से 2600 मीट्रिक टन खाद लेकर रेलवे स्टेशन पहुंची मालगाड़ी

पंजाब में पिछले दो महीने से भी ज्यादा समय से चल रहे किसान आंदोलन के चलते किसानों ने पैसेंजर व मालगाड़ियों के आवागमन पर भी रोक लगा रखी थी।

Publish Date:Tue, 01 Dec 2020 06:38 PM (IST) Author: Jagran

सतीश कुमार, होशियारपुर : पंजाब में पिछले दो महीने से भी ज्यादा समय से चल रहे किसान आंदोलन के चलते किसानों ने पैसेंजर व मालगाड़ियों के आवागमन पर भी रोक लगा रखी थी। इसके चलते उत्तर रेलवे फिरोजपुर डिवीजन को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा था। अब किसानों ने पंजाब के हालात को देखते हुए गाड़ियों की आवाजाही के लिए रेल ट्रैक दस दिसंबर तक खाली कर दिए हैं ताकि जरूरी वस्तुओं का पंजाब में और पंजाब से बाहर आवागमन हो सके। किसानों ने गेहूं की फसल की बिजाई करनी है जिसके लिए खाद की हर किसान को बहुत ज्यादा जरूरत है। यही नहीं कुछ अन्य फसलें भी हैं जिसके लिए खाद बहुत ही जरूरी है। खाद की पिछले काफी समय से उम्मीद लगाए किसान रेलवे विभाग की तरफ प्यासी आंखों से देख रहे थे कि कब खाद मिले और वह अपनी फसल की बिजाई समय पर कर सकें। जैसे ही किसानों को पता चला कि होशियारपुर में सोमवार देर रात या फिर मंगलवार को खाद का रैग आ रहा है तो किसानों के चेहरे खिल उठे। सोमवार देर रात पहुंचा खाद का रैग

इफको आमला प्लांट बरेली (उत्तर प्रदेश) से 29 नवंबर रात दो बजे होशियारपुर के लिए रवाना हुई 26 मीट्रिक टन खाद से भरी मालगाड़ी होशियारपुर रेलवे स्टेशन पर सोमवार रात करीब 11 बजे पहुंची। इफको फील्ड मैनेजर अमनदीप सयोराण ने बताया कि 26 सौ मीट्रिक टन खाद में से 1850 मीट्रिक टन खाद होशियारपुर की सारी सोसायटियों में पहुंचा दी जाएगी। होशियारपुर जिले की सोसायटियों में टांडा, माहिलपुर, दसूहा, होशियारपुर लोकल और गढ़शंकर की सोसायटियां आ रही हैं। इसके अतरिक्त 650 मीट्रिक टन खाद जालंधर के लिए और 100 मीट्रिक टन खाद नवांशहर जिले के लिए पहुंची है। कल गुरदासपुर रेलवे स्टेशन पहुंचेगी खाद से भरी मालगाड़ी

अमनदीप ने बताया कि वीरवार को इफको आमला प्लांट से पंजाब के जिला गुरदासपुर के लिए भी मालगाड़ी खाद लेकर पहुंच रही है जिसमें छह सौ मीट्रिक टन खाद जिला होशियारपुर के मुकेरियां के लिए पहुंच रही है। उन्होंने बताया कि पंजाब में किसी भी किसान को खाद की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। खाद की कमी को पूरा करने के लिए इफको की तरफ से रात दिन वर्करों की ड्यूटियां लगा दी है। किसान ही नहीं मजदूरों के चेहरे पर भी लौटी रौनक

होशियारपुर रेलवे स्टेशन पर खाद की मालगाड़ी पहुंचते ही यहां किसान के चेहरे पर तो रौैनक आ ही गई थी, साथ ही पिछले काफी समय से बेरोजगारी का शिकार हो रहा मजदूर वर्ग जिसको कोरोना वायरस के चलते काम नहीं मिल रहा था उसके चेहरे पर भी रौनक दिखाई दी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.