किसानों ने महंगाई के विरोध में निकाला रोष मार्च

पेट्रोल व डीजल के निरंतर बढ़ रहे दाम के विरोध में सोमवार को किसानों ने रिटायर्ड खेतीबाड़ी अफसर गुरमीत सिंह की अगुवाई में टांडा मोड़ के नजदीक काली झंडियां लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।

JagranMon, 14 Jun 2021 06:07 PM (IST)
किसानों ने महंगाई के विरोध में निकाला रोष मार्च

संवाद सहयोगी, गढ़दीवाला : पेट्रोल व डीजल के निरंतर बढ़ रहे दाम के विरोध में सोमवार को किसानों ने रिटायर्ड खेतीबाड़ी अफसर गुरमीत सिंह की अगुवाई में टांडा मोड़ के नजदीक काली झंडियां लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। गुरमीत सिंह व अन्य वक्ताओं ने कहा कि जब मनमोहन सिंह सरकार में पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ते थे, तो भाजपा पूरे देश में हल्ला करती थी, लेकिन आज केंद्र में भाजपा सरकार के दौरान पेट्रो पदार्थो के दाम आसमान को छू रहे हैं। इसके बावजूद भाजपा नेता चुप हैं। केंद्र सरकार की गलत नीतियों के कारण देश खोखला हो रहा है। पेट्रोल डीजल के बढ़ रहे दाम का असर खेतीबाड़ी पर भी पड़ रहा है। किसान महंगे दाम में पेट्रोल व डीजल खरीद कर फसलें बीजने के लिए मजबूर हो रहे हैं और फसलों को बेच कर भी खर्चा पूरी नहीं हो रहा। इससे किसानी अब घाटे का सौदा साबित हो रही है। उन्होंने कहा कि पेट्रोल एवं डीजल के निरंतर बढ़ रहे दाम का असर प्रत्येक चीज पर पड़ रहा है जिससे देश में महंगाई चरमसीमा पर पहुंच चुकी है। इसके कारण आज प्रत्येक व्यक्ति निराशा और हताशा के आलम में है, पर केंद्र सरकार को देश की जनता की कोई परवाह नहीं है। केंद्र सरकार कुछ कारपोरेट घरानों को लाभ पहुंचाने के लिए पूरे देश को दांव पर लगा रही है। उन्होंने केंद्र सरकार से मांग करते हुए कहा कि जल्द ही पेट्रोल डीजल के बढ़ रहे दाम पर अंकुश लगाए ताकि महंगाई की मार से जनता को राहत मिल सके। इस अवसर पर गुरमीत सिंह, अमरजीत सिंह, मोहन सिंह मल्ली, सुखबीर सिंह, सतनाम सिंह, लखबीर सिंह, सरबजीत सिंह, संजीव कुमार, सतपाल सिंह, बलकार सिंह, हरमन व बलविदर सिंह मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.