जिले भर में 10 बजते ही जाम हुए रेल के पहिए, यात्री हुए परेशान

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुए किसान हत्याकांड के विरोध में किया प्रदर्शन।

JagranMon, 18 Oct 2021 09:55 PM (IST)
जिले भर में 10 बजते ही जाम हुए रेल के पहिए, यात्री हुए परेशान

जागरण टीम, होशियारपुर :

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुए हिंसक मामलो के विरोध में और केंद्रीय राज्य मंत्री की पद से बर्खास्तगी और कृषि सुधार तीनों कानूनों को वापस लेने के लिए सोमवार को पंजाब की अलग-अलग किसान संगठन ने रेल रोक कर रोष प्रदर्शन किया। इसके तहत किसानों ने जिला होशियारपुर में रेलवे स्टेशन होशियारपुर, मुकेरियां, टांडा व दसूहा में अलग-अलग स्थानों पर धरना दिया।

सुबह 10 बजे से शाम चार बजे तक लगाए गए इन धरनों में किसानों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी और इंसाफ की मांग की। किसान नेताओं ने केंद्र सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि कानून जल्द रद नहीं किए गए और लखीमपुर खीरी हत्याकांड के आरोपितों को सजा न दी गई तो संघर्ष और तेज किया जाएगा।

होशियारपुर रेलवे स्टेशन पर दिया धरना की नारेबाजी

किसानों ने इसी के चलते संयुक्त किसान मोर्चा के आदेश पर जिला होशियारपुर की सभी किसान संगठन ने एक साथ भारी संख्या में इकट्ठे होकर होशियारपुर रेलवे स्टेशन पर दिल्ली-होशियारपुर रेल रोक कर रेलवे प्लेटफार्म पर धरना लगाकर सुबह दस बजे से शाम चार बजे तक रोष प्रदर्शन किया। धरने को मास्टर दविदर सिंह कक्कों ने संबोधित किया। इस अवसर पर भारतीय किसान संगठन की तरफ से लखवीर सिंह, बीकेयू दोआबा से सोहन सिंह साहरी, किसान यूनियन दोआबा से गुरदीप सिंह, आजाद कमेटी से रणजीत सिंह के साथ मास्टर दविदर सिंह, गुरमेश सिंह, जगतार सिंह, मास्टर शिगारा सिंह, जगदीप सिंह, कमलजीत सिंह, परमजीत सिंह, मदन लाल, लखवीर सिंह, गगनदीप सिंह, तरसेम लाल, हरप्रीत सिंह के साथ अन्य किसान मौजूद रहे।

दसूहा में गरना साहिब रेलवे पर दिया धरना

दसूहा में किसान गन्ना संघर्ष कमेटी दसूहा पंजाब और संयुक्त किसान मोर्चा ने गरना साहिब रेलवे गेट पर रेलवे ट्रैक पर धरना दिया। इस मौके पर किसान गन्ना संघर्ष समिति के अध्यक्ष सुखपाल सिंह डफर ने कहा कि लखीमपुर खीरी में चार किसानों और एक पत्रकार की हत्या करने वाले दोषियों को सजा मिलने तक संघर्ष जारी रहेगा। इस मौके अमरजीत सिंह, महासचिव किसान गन्ना संघर्ष समिति, दविदर सिंह चोहका, गुरप्रीत हीराहर, गुरचरण सिंह कालरा, हरजीत सिंह मिर्जापुर, जसवीर रामदासपुर, हरपाल सिंह डफ्फर, सुरजीत सिंह, रमन सिंह खुनखुन, मगर सिंह, जतिदर सागलान, तीर्थ सिंह, मनजीत सिंह खानपुर, राम सिंह भट्टियां, काला और बिक्का शेखन मौजूद रहे।

मुकेरियां चक्क कलां गांव के पास रेलवे ट्रैक पर लगाया धरना

मुकेरियां में भी किसानों ने गांव चक्क कलां के पास रेलवे ट्रैक पर धरना दिया। केंद्र के तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे व तीन अक्टूबर को हुई हिसा में चार किसानों सहित आठ लोगों की मौत हो जाने के विरोध में संयुक्त किसान संगठनों की काल पर संयुक्त किसान संघर्ष कमेटी टोल प्लाजा हरसा मानसर द्वारा राष्ट्रीय राज्य मार्ग पर पढ़ते गांव चक्क कलां में सुबह 10:00 बजे से शाम 4:00 बजे तक रेलवे लाइन पर बैठकर रोष प्रदर्शन किया। जत्थेबंदी के सदस्य मास्टर रोशन सिंह, मास्टर जोध सिंह, जगदेव सिंह भटीया, सरपंच सौरभ मन्हास बिल्ला, अवतार सिंह बॉबी, विजय कुमार, बलजीत सिंह छन्नी नंद, विक्रम सिंह, आशा सिंह, समुंदर सिंह, मिल्खा सिंह, शेर सिंह अरे संयुक्त रूप से बताया कि जब तक लखीमपुर खीरी मामले में न्याय नहीं मिल जाता व जब तक गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त कर गिरफ्तार नहीं किया तब तक संघर्ष चलता रहेगा। टांडा में टांडा, चौलांग स्टेशन व दारापुर फाटक पर गर्जे किसान

सोमवार को दिए धरने में किसानों ने टांडा में टांडा रेलवे स्टेशन, दारापुर रेलवे फाटक व चौलांग रेलवे स्टेशन पर धरना देकर केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान किसानों ने लखीमपुर खीरी में शहीद हुए किसानों को शहीद किसानों को न्याय दिलाने की मांग की। कृषि कानूनों के खिलाफ चौलांग टोल प्लाजा पर धरने के 377 वें दिन प्रधान जंगवीर सिंह रसूलपुर के नेतृत्व में दोआबा किसान कमेटी के किसानों ने शहीद किसानों तथा पत्रकार को न्याय दिलाने की मांग को लेकर चौलांग रेलवे स्टेशन पर रेल रोको आंदोलन कर के मोदी सरकार की तानाशाही के खिलाफ आवाज बुलंद की। इस मौके किसान नेता जंगवीर सिंह, पृथपाल सिंह गोराया, सतपाल सिंह, अमरजीत सिंह कुराला, गुरप्रीत सिंह, बलबीर सिंह, हरभजन सिंह रापुर, रतन सिंह खोखर, गुरदेव सिंह, कमल बीजा, आकाशदीप सिंह, जगमोहन सिंह, हरपाल सिंह, राणा रावां , हरभजन सिंह बलदेव सिंह, सतनाम सिंह ढिल्लों, प्रदीप सिंह मूनक, जस्सी, लाली खरलां इत्यादि ने मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान टांडा पुलिस के साथ रेलवे पुलिस की टीमें भी तैनात रहीं। एसपी मंदीप सिंह, डीएसपी टांडा राज कुमार, थानामुखी टांडा बिक्रम सिंह ने लगातार तीनों जगहों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए थे।

उधर, आजाद किसान कमेटी दोआबा के नेता अमरजीत सिंह रड़ा, दिलबाग सिंह सहबाजपुर, जय राम सिंह, दलजीत सिंह, हरप्रीत सिंह संधू, हरनेक सिंह, दविदर सिंह बाजवा, बलबीर सिंह, दीदार सिंह, गुरप्रताप सिंह, मिटन चीमा, दविदर काहलों, लक्की नारायणगढ़, सुखविदर सिंह, बलजीत सिंह में प्रधान हरपाल सिंह संघा के नेतृत्व में सुबह 10 बजे से शाम तक टांडा रेलवे स्टेशन पर रेल रोको आंदोलन करते हुए नारेबाजी की।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
You have used all of your free pageviews.
Please subscribe to access more content.
Dismiss
Please register to access this content.
To continue viewing the content you love, please sign in or create a new account
Dismiss
You must subscribe to access this content.
To continue viewing the content you love, please choose one of our subscriptions today.