धान व बासमती की आमद में 31 प्रतिशत की वृद्धि

धान व बासमती की आमद में 31 प्रतिशत की वृद्धि

डीसी अपनीत रियात ने मंगलवार को जिला कृषि उत्पादन कमेटी की बैठक कर संबंधित विभागों के कार्यों की समीक्षा की। मासिक बैठक के दौरान उन्होंने संबंधित विभागों को अपने लक्ष्यों को प्राप्त करते हुए हर लाभार्थी तक सरकारी योजनाएं पहुंचाने के निर्देश दिए। जिला मंडी अधिकारी ने बताया कि इस बार धान व बासमती की आमद में 31 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

Publish Date:Tue, 24 Nov 2020 06:27 PM (IST) Author: Jagran

जेएनएन, होशियारपुर : डीसी अपनीत रियात ने मंगलवार को जिला कृषि उत्पादन कमेटी की बैठक कर संबंधित विभागों के कार्यों की समीक्षा की। मासिक बैठक के दौरान उन्होंने संबंधित विभागों को अपने लक्ष्यों को प्राप्त करते हुए हर लाभार्थी तक सरकारी योजनाएं पहुंचाने के निर्देश दिए। जिला मंडी अधिकारी ने बताया कि इस बार धान व बासमती की आमद में 31 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। मक्की की 27 प्रतिशत अधिक आमद हुई है। इस दौरान डीसी ने सहकारी विभाग, भूमि व जल सरंक्षण विभाग, डिप्टी डायरेक्टर पशु पालन, मछली पालन, वन विभाग के अलावा अन्य विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।

बैठक के दौरान मुख्य कृषि अधिकारी डा. विनय कुमार ने बताया कि रबी 2020 के दौरान गेहूं के अंतर्गत 1,42,000 हेक्टेयर, तेल बीज के अंतर्गत 5500 हेक्टेयर, चना 200 हेक्टेयर व मसूर के अंतर्गत 300 हेक्टेयर रकबा बिजाई का लक्ष्य रखा गया है। क्वालिटी कंट्रोल 2020-21 के दौरान खादों, कीटनाशकों की सप्लाई तसल्लीबख्श है व किसानों को अच्छे किस्म के बीज मुहैया करवाने के लिए कृषि इनपुट्स के सैंपल लिए जा रहे हैं। राष्ट्रीय अन्न सुरक्षा मिशन(गेहूं)के अंतर्गत जिला होशियारपुर में 7700 क्विंटल बीज के लक्ष्य के अंतर्गत 3700 क्विंटल बीज अलग-अलग ब्लाकों में बांटे जा चुके हैं। इस पर 1000 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से सब्सिडी किसानों के बैंक खातों में डीबीटी के माध्यम से डाली जाएगी।

मशीनरी के लिए आए 412 प्रार्थना पत्र

मुख्य कृषि अधिकारी ने बताया कि सीटू स्कीम के अंतर्गत किसान, किसान समूहों, सहकारी सभाओं, एफपीओ आदि से 24 अगस्त 2020 तक धान की पराली की संभाल के लिए मशीने(सुपर एसएमएस, हैप्पी सीडर, मल्चर, एमबी. प्लाओ, जीरो ट्रिल ड्रिल, सुपर सीडर) लेने के लिए 412 प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए थे। इनमें से 348 प्रार्थना पत्र मंजूर किए गए व 349 मशीनों का वितरण कर दिया गया। जिले में नाबार्ड की सहायता से वेजिटेबल ग्रोअर एसोसिएशन के लक्ष्य के मुताबिक छह एफपीओज की रजिस्ट्रेशन करवाई है। बागवानी विभाग के प्रतिनिधि ने कहा कि इस वर्ष नए बाग लगाने के लिए 600 हेक्टेयर लक्ष्य के अंतर्गत 168.45 हेक्टेयर की प्राप्ति है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.