बुल्लोवाल मर्डर केस : भाई ही निकला बहन का कातिल

बुल्लोवाल मर्डर केस : भाई ही निकला बहन का कातिल

बुल्लोवाल के पास गांव सिकरी के खेतों में हुए मनप्रीत के कत्ल की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। कत्ल किसी और ने नहीं बल्कि उसके भाई हरप्रीत सिंह उर्फ हैप्पी ने साथी सहित मिलकर किया था। इसका मुख्य कारण मनप्रीत का परिवार वालों के खिलाफ जाकर लव मैरिज करना था।

JagranSun, 09 May 2021 05:50 PM (IST)

जागरण संवाददाता, होशियारपुर : बुल्लोवाल के पास गांव सिकरी के खेतों में हुए मनप्रीत के कत्ल की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। कत्ल किसी और ने नहीं, बल्कि उसके भाई हरप्रीत सिंह उर्फ हैप्पी ने साथी सहित मिलकर किया था। इसका मुख्य कारण मनप्रीत का परिवार वालों के खिलाफ जाकर लव मैरिज करना था। परिवार जैसे-तैसे यह बात सहन कर गया, लेकिन जब हरप्रीत को पता चला कि मनप्रीत ने अन्य व्यक्ति के साथ लिव इन रिलेशन में रहना शुरू कर दिया है तो गांव में लोगों के ताने सुनकर उसने बहन को मार डाला। एक कारण मनप्रीत व हरप्रीत में खानदानी तीन एकड़ जमीन का विवाद भी था जोकि मनप्रीत के नाम पर थी। हालांकि कुछ साल पहले मनप्रीत ने हरप्रीत के नाम जमीन कर दी थी, पर हरप्रीत को शक था कि मनप्रीत कभी भी जमीन के लिए दावा कर सकती है। पुलिस लाइन में एसएसपी नवजोत सिंह माहल ने बताया कि हरप्रीत व उसके साथी इकबाल सिंह को काबू कर लिया है। हरप्रीत गांव शेरपुर तख्तूपुरा (फिरोजपुर) व उसका साथी इकबाल कोट इस्से खां (मोगा) का रहने वाला है। जिन रिवाल्वरों से मनप्रीत का कत्ल किया था उसमें से एक को बरामद कर लिया है जो लाइसेंसी थी और दूसरी रिवाल्वर अवैध थी जिसकी हरप्रीत ने निशानदेही कर दी है और पुलिस उसे भी जल्द बरामद कर लेगी। इसके साथ इनोवा, फा‌र्च्यूनर व स्कार्पियो गाड़ी भी कब्जे में ली है। इकबाल के खिलाफ माइनिग का पर्चा भी दर्ज है। माहल ने बताया कि कत्ल से पहले हरप्रीत ने दोस्त इकबाल के साथ इलाके में रेकी की थी। किसी को शक न हो वह गाड़ियां बदल कर लाते थे इसलिए पहले फा‌र्च्यूनर, इनोवा पर घूमते रहे, लेकिन जिस रात कत्ल किया वह स्कार्पियों लेकर आए थे। रास्ते में इकबाल सिंह व हरप्रीत ने किसी से मोबाइल छीना और उसी से मनप्रीत के फोन पर वाट्सएप काल कर मेन रोड पर बात करने के लिए बुलाया। जब मनप्रीत गाड़ी में आकर बैठी, तो हरप्रीत ने मनप्रीत का गला दबा दिया। दम घुटने से मनप्रीत बेहोश हो गई और सिकरी के पास उसे गोलियां मारकर शव खेतों में फेंक दिया।

इलाके में है हरप्रीत का दबदबा और मनप्रीत ने कर दिए थे सवाल खड़े

हरप्रीत का अपने गांव में काफी दबदबा है। सरपंच का पद रिजर्व कैटेगिरी का था और सरपंची हाथ से न जाए, इसके लिए हरप्रीत ने घर में काम करने वाली महिला को सरपंच सर्वसम्मति नियुक्त करवाया। कहने को सरपंच महिला थी लेकिन सरपंची हरप्रीत ही देखता था। मनप्रीत के कारण हरप्रीत के आत्म सम्मान को ठेस पहुंच रही थी। किसी ने पंचायत में हरप्रीत को यह व्यंग कर दिया था कि खुद की बहन संभलती नहीं, लोगों का राजीनामा करवाता है। बस वहीं हरप्रीत के सब्र का बांध टूट गया।

घर आना चाहती थी मनप्रीत, पर भाई की अनख आ गई आड़े

एसएसपी ने बताया कि घर की जायदाद में मनप्रीत के हिस्से तीन एकड़ आते थे। बाद में पता चला कि वह मनप्रीत ने भाई हरप्रीत के नाम करवा दिए थे। कुछ दिन से मनप्रीत दोबारा मायके जाने के लिए परिवार वालों से संपर्क कर रही थी और हरप्रीत को शक था कि यदि मनप्रीत गांव लौटती है तो कभी भी जमीन पर दावा ठोक सकती है। इसके साथ लोगों के ताने और अधिक सुनने पड़ेंगे। इस कारण हरप्रीत मनप्रीत को गांव नहीं आने देना चाहता था। इस बीच, हरप्रीत को कहीं से यह पता चल गया था मनप्रीत किसी के साथ लिव इन रिलेशन में रह रही है उसके खिलाफ भी मनप्रीत ने शिकायत दी है। यही सही मौका हरप्रीत गंवाना नहीं चाहता था क्योंकि वह जानता था कि मनप्रीत को यदि कुछ होता है तो शक उसके प्रेमी पर जाएगा।

इलाके की कम जानकारी बनी पकड़ने की वजह

रेकी के लिए हरप्रीत दोस्त इकबाल के साथ टांडा से होकर मनप्रीत के गांव पहुंचता था और उसी रास्ते से लौट जाता था। दोनों को इस इलाके की इतनी जानकारी नहीं थी और वह आसान रास्ते से ही आते-जाते थे जो शार्ट व सीधा था। जब पुलिस ने काल डिटेल खंगाली तो पता चला कि मोबाइल छीना गया था। कत्ल के दौरान जब स्कार्पियो पर यह आए तो वह इलाके में लगे एक सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। स्कार्पियो को ट्रेस करने पर जांच की परतें खुलती गई और हरप्रीत व उसका दोस्त काबू हो गए। इलाके की कम जानकारी व बार-बार खड़ियाला-सैनिया टांडा की तरफ से आने के कारण हरप्रीत की प्लानिग फेल हो गई।

आठ गोलियां मारी गई थीं

22 अप्रैल को सुबह टांडा रोड पर बूरे राजपूतां के पास खेतों में मनप्रीत कौर का शव मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई थी। मनप्रीत कौर की गोलियां मारकर हत्या की गई थी। मनप्रीत कौर को आठ गोलियां मारी गई थी। उसकी शादी दस साल पहले पवनदीप सिंह के साथ हुई थी, परंतु शादी के बाद घरेलू विवाद इस तरह बढ़ा कि दोनों ने तलाक लेने का फैसला किया और अभी तलाक का केस कोर्ट में लंबित है। इस बीच, मनप्रीत कौर एक व्यक्ति के साथ लिव इन रिलेशन में रह रही थी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.