डाक्टरों के साथ लैब टेक्नीशियनों की हड़ताल भी शुरू, बिना इलाज के लौट रहे मरीज

मांगों को लेकर सरकारी डाक्टरों के हड़ताल पर चले जाने से सिविल अस्पताल में आने वाले मरीजों को इलाज नहीं मिल रहा।

JagranTue, 03 Aug 2021 06:40 PM (IST)
डाक्टरों के साथ लैब टेक्नीशियनों की हड़ताल भी शुरू, बिना इलाज के लौट रहे मरीज

राजिदर कुमार, गुरदासपुर

मांगों को लेकर सरकारी डाक्टरों के हड़ताल पर चले जाने से सिविल अस्पताल में आने वाले मरीजों को इलाज नहीं मिल रहा। वे घंटों डाक्टरों के इंतजार में इधर-उधर भटक कर बैरंग लौट रहे हैं। मंगलवार को भी बहुत से मरीज इलाज करवाने अस्पताल में तो पहुंचे, लेकिन उन्हें यहां सेहत सुविधाएं नहीं मिली। इस कारण उन्हें बिना इलाज के ही लौटना पड़ा। सिविल सर्जन दफ्तर में भी बच्चों को टीका लगवाने वाले व अन्य कार्यो के लिए आए लोग बैरंग खाली हाथ ही लौट गए। उधर, डाक्टरों के साथ लैब टेक्नीशियनों ने भी कामकाज ठप कर हड़ताल शुरू कर दी है। पीसीएमएस एसोसिएशन के जिला प्रधान डा. लव कुमार हंस ने कहा कि सरकार द्वारा उनकी मांगों को अनदेखा किया जा रहा है। इस कारण डाक्टरों में सरकार के प्रति भारी रोष पाया जा रहा है। जब तक उनकी मांगों को स्वीकार नहीं किया जाता, तब तक उनका संघर्ष इसी तरह जारी रहेगा। पर्ची काट दो, डाक्टर से चेकअप करवाना है

गुरदासपुर शहर के रहने वाले बुजुर्ग जसविदर सिंह सिविल अस्पताल में पेट से संबंधित बीमारी के चेकअप के लिए आए। डाक्टरों की हड़ताल के कारण सरकारी ओपीडी बंद की गई है। सुबह करीब साढ़े 12 बजे उक्त बुजुर्ग ओपीडी में पर्ची कटवाने के लिए स्टाफ के तरले मारता रहा। हालांकि स्टाफ ने कई बार कहा कि हड़ताल के कारण पर्ची नहीं काटी जाएगी। करीब दस से 15 मिनट तक स्टाफ से पर्ची काट डाक्टर से उसका चेकअप करवाने के लिए अपील की, लेकिन कोई हल नहीं निकला। इसके बाद उसे बैरंग ही लौटना पड़ा। 37

आंखों का चेकअप करवाने आया था : जुगल किशोर

गांव सोहल निवासी जुगल किशोर ने बताया कि उसकी आंखें खराब हैं। पानी निकलता है। वह आंखों के चेकअप के लिए सिविल अस्पताल में आया था। लेकिन यहां डाक्टरों की हड़ताल के कारण उसे इलाज नहीं मिला। अब वह बैरंग लौट रहा है। 38

लेबर कार्ड रिन्यू करवाना था : बलविदर

धारीवाल निवासी बलविदर सिंह ने बताया कि लेबर कार्ड रिन्यू करवाने के लिए मेडिकल रिपोर्ट अस्पताल बनवाने के लिए आया था। लेकिन यहां डाक्टरों की हड़ताल के कारण उसका काम नहीं हुआ। अब उसे बिना काम करवाए ही लौटना पड़ेगा। आज भी जारी रहेगी हड़ताल

मांगों को लेकर डाक्टरों की हड़ताल आज भी जारी रहेगी। वहीं दूसरी तरफ मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा है। सबसे अधिक गरीब तबके के लोगों को परेशानी हो रही है। मौसम में बदलाव होने के कारण खांसी, जुकाम सहित कई बीमारियों से लोग इन दिनों ग्रस्त हैं। इस कारण वे इलाज के लिए सिविल अस्पताल का रुख कर रहे हैं, मगर डाक्टरों की हड़ताल के कारण उन्हें इलाज नहीं मिल रहा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.