top menutop menutop menu

बीएसएफ की निगरानी में कंटीली तार से पार धान की रोपाई जोरों पर

महिदर सिंह अर्लीभन्न, कलानौर

बीएसएफ के सेक्टर गुरदासपुर की राष्ट्रीय सीमा पर लगी कंटीली तार से पार पड़ती जमीनों में बीएसएफ जवानों की निगरानी में धान की रोपाई का काम जोरों पर है। धान की रोपाई के लिए बीएसएफ द्वारा पूर्ण सहयोग देने पर किसान व मजदूर प्रसन्न हैं।

गौरतलब है कि इस बार कोरोना महामारी के चलते पंजाब सरकार की ओर से धान की रोपाई दस जून से शुरू करवाई थी। इसके चलते सीमावर्ती क्षेत्र से संबंधित किसानों द्वारा कंटीली तार से पार धान की फसल परमल की रोपाई समय पर कर दी थी। अब बीएसएफ के सहयोग से बासमती की रोपाई अंतिम चरण पर पहुंच चुकी है। काबिलेजिक्र है कि बीएसएफ के सेक्टर गुरदासपुर पर तैनात बीएसएफ जवानों द्वारा देश की सुरक्षा के मद्देनजर कंटीली तार से पार धान की काश्त करने वाले किसानों व मजदूरों के साथ दोस्ताना रवैया अपनाया जा रहा है। कंटीली तार से पार जाने वाले बीएसएफ के गेटों पर किसानों व मजदूरों को कोरोना की महामारी से बचाव के लिए सैनिटाइज करने के अलावा उनकी चेकिग व जारी किए गए शिनाख्ती कार्ड देखे जा रहे हैं। इसके बाद ही उन्हें फसल की रोपाई के लिए भेजा जा रहा है। धान की रोपाई कर रहे किसानों व मजदूरों के लिए रोटी ले जाने वाली महिलाओं की चेकिग व सेनिटाइज बीएसएफ की महिला कांस्टेबलों द्वारा किया जा रहा है।

कंटीली तार से पार पड़ते खेतों के मालिक किसान केवल सिंह, सतविदर सिंह, जोगिदर सिंह, प्रभशरण सिंह, पलविदर सिंह, मनजीत सिंह, सुखविदर सिंह, हरजिदर सिंह, जगीर सिंह, गुरदेव सिंह आदि ने बताया कि पहले गेहूं की कटाई और अब धान की रोपाई के दौरान बीएसएफ पूरा सहयोग कर रही है। उन्होंने बताया कि सीमा पर तैनात बीएसएफ की महिला कांस्टेबलों की बदौलत ही उनकी महिलाएं सीमा पर मेहनत मजदूरी करने वाले किसानों व मजदूरों के लिए बेखौफ रोटी लेकर आ रही है। उधर, धान की रोपाई कर रहे मजदूरों ने बताया कि बीएसएफ द्वारा उन्हें जारी किए गए शिनाख्ती कार्ड दिखाकर वह बिना किसी परेशानी के फसल की रोपाई कर रहे हैं।

सीमावर्ती क्षेत्र के किसानों का जीवनस्तर ऊंचा उठाने को बीएसएफ वचनबद्ध : डीआइजी

बीएसएफ के सेक्टर गुरदासपुर के डीआइजी राजेश शर्मा का कहना है कि बीएसएफ सीमावर्ती क्षेत्र के लोगों व किसानों का जीवन स्तर ऊंचा उठाने के लिए वचनबद्ध है। किसानों व बीएसएफ के नाखून-मास का रिश्ता है। कोरोना से बचाव के लिए किसानों का बुखार, खांसी चेक करने के अलावा सेनिटाइज किया जा रहा है। इसके साथ ही उन्हें शारीरिक दूरी बनाने व मास्क पहनने संबंधी भी जागरूक किया जा रहा है। धान की रोपाई के लिए बीएसएफ किसानों को पूर्ण सहयोग कर रही है। लेबर की कमी को पूरा करने के लिए शिनाख्ती कार्ड भी जारी किए गए हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.