लाखों लीटर लाहन व शराब बरामद कर पुलिस ने तस्करों की कमर तोड़ी

विभिन्न तरह के अपराध को कम करने के लिए पुलिस टीमों का गठन किया गया है।

JagranWed, 28 Jul 2021 09:00 AM (IST)
लाखों लीटर लाहन व शराब बरामद कर पुलिस ने तस्करों की कमर तोड़ी

संजय तिवारी, बटाला

विभिन्न तरह के अपराध को कम करने के लिए पुलिस टीमों का गठन किया गया है। हत्याओं, नशा तस्करी, चोरी-लूट आदि मामलों के काफी आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल में बंद किया है। यह कहना है डीएसपी परविंदर कौर का। उनका कहना है कि डेढ़ साल पहले जब उन्होंने बटाला सिटी का चार्ज संभाला तो शहर में झपटमारों (स्नैचर) व चोरों ने नाक में दम कर रखा था। बदमाशों के हौसले इतने बुलंद थे कि वे घर के सामने भी महिलाओं को निशाना बना देते थे। वहीं दूसरी ओर चोर भी लोगों की नींद उड़ाए हुए थे। पलक झपकते ही वाहन से लेकर घर की सफाई कर चल देते हैं।

बटाला शहर में आए दिन अपराध, चोरी व लूटपाट की वारदात हो रही थी। उनके चार्ज संभालने के बाद पहले तो उन्होंने बटाला शहर को समझा और फिर टीमों का गठन कर ऐसी वारदातें रोकने के लिए मुहिम शुरू की। अब उनकी ओर से बहुत से आपराधिक तत्वों को पकड़ कर जेलों में बंद किया गया है। उनसे शहर की कानून-व्यवस्था को लेकर विशेष बातचीत की गई। पेश है बात के कुछ अंश।

सवाल-बटाला में अवैध शराब से लेकर कई तरह के नशे का धंधा खूब चलता है। यहां कुछ माह पहले जहरीली शराब से कई जानें गई थीं। इन पर कैसे शिकंजा कसा जाएगा?

पिछले कुछ माह से नशा तस्करों पर पुलिस ने काफी शिकंजा कसा है। लाखों लीटर लाहन और अवैध शराब बरामद कर तस्करों की पुलिस ने कमर तोड़ दी है। इसके लिए विशेष टीमें रात को भी तैनात रहती हैं।

सवाल-शहर में चोरी की घटनाएं लगातार हो रही हैं। अधिकतर मामलों का पुलिस खुलासा क्यों नहीं कर पा रही है?

ऐसा नहीं है। लाकडाउन के दौरान और उसके बाद चोरी-लूटपाट करने के कई गिरोह का पर्दाफाश कर आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। बाइक चोरी के कई आरोपित भी पुलिस के हत्थे चढ़े हैं। बाकी मामलों में जांच जारी है।

सवाल-महिलाओं पर हो रहे अपराध को लेकर आपका क्या कहना है?

अक्सर महिलाएं दवाब में आकर बातें छुपा लेती हैं और पुलिस तक पहुंच नहीं करतीं। इस कारण उनपर अत्याचार की घटनाएं दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं। इसीलिए महिलाएं घबराएं नहीं, इंसाफ के लिए पुलिस से जरूर संर्पक करें।

सवाल- बटाला में आपको क्या नया अनुभव मिला?

बटाला सिटी में पदभार संभालने के बाद बहुत कुछ नया देखा और सीखा भी। शहर के काफी लोगों से उनका वार्तालाप हुआ। बटाला में कई ऐसे चेहरे हैं, जो जरूरतमंद लोगों की सेवा करते हैं। लाकडाउन के दौरान जरूरतमंद लोगों की सेवा देखकर उन्हें एक अच्छा अनुभव प्राप्त हुआ है।

सवाल- डेढ़ साल में अपकी क्या कारगुजारी रही?

पूरे डिटेल में जानकारी नहीं दे सकती, लेकिन डेढ़ साल में मैंने कई हत्याओं के मामले सुलझाए हैं। आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल में भी भेजा है। हत्याएं, लूट, चोरी, नशा तस्करी व झगड़ो के बहुत सारे वारदात शहर व ग्रामीण क्षेत्रों से आते हैं, जिनका समाधान किया जाता है। नशा तस्करी को खत्म करने के लिए विभिन्न क्षेत्रों में टीमों का गठन किया गया और नशा तस्करों पर नकेल भी डाली जा रही है। कई पुराने चोरों को पकड़कर उसका प्रर्दाफाश किया गया है। आगे भी उनकी कार्रवाई चल रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.