सक्षम जिले में रहा टापर, तनवी दूसरे स्थान पर

सीबीएसई की ओर से घोषित दसवी के परिणाम में विद्यार्थियों ने उम्मीद से अधिक अंक हासिल किए हैं।

JagranTue, 03 Aug 2021 10:55 PM (IST)
सक्षम जिले में रहा टापर, तनवी दूसरे स्थान पर

संवाद सूत्र, फिरोजपुर : सीबीएसई की ओर से घोषित दसवी के परिणाम में विद्यार्थियों ने उम्मीद से अधिक अंक हासिल किए हैं। डीसी माडल स्कूल के छात्र सक्षम 99.60 फीसद अंक हासिल कर जिलेभर में टापर रहा है, जबकि इसी स्कूल की तनवी 99.20 फीसद अंक हासिल कर दूसरे स्थान पर रही है। इसके अलावा डीसीएम स्कूल के छात्र एकनूरबीर सिंह व अंश कटारिया ने 99.8 फीसद अंक हासिल कर जिले में तीसरा स्थान हासिल किया है। नाम: सक्षम पुरी

अंक : 99.60 फीसद

पिता का नाम: संजीव पुरी

माता का नाम: रानी

स्कूल: डीसी माडल स्कूल आइआइटी में भविष्य बनाना चाहता है सक्षम

10 में 99.60 फीसद अंक लेने वाले सक्षम पुरी के पिता संजीव पुरी व माता ममता रानी पेशे से सरकारी अध्यापक हैं। सक्षम तकनीक के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहता है। उसने कहा कि वह आइआइटी करने में दिलचस्पी रखता है। उसके परिवार में उसके चाचा भी आइआइटी कर चुके है। सक्षम स्कूल में पढ़ाई के दौरान भी अन्य प्रतियोगात्मक परीक्षाओ में हिस्सा लेता रहता है। उसके द्वारा विद्यार्थी विज्ञान मंथन, एनटीएसई में जिला स्तर पर टाप कर रखा है।

नाम: तनवी

अंक : 99.20 फीसद

पिता का नाम: राजीव गुप्ता

माता का नाम: डा. मीनाक्षी

स्कूल : डीसी माडल माता-पिता के सहयोग से हासिल किए मुकाम

तनवी के पिता राजीव गुप्ता पेशे से बिजनेसमैन और माता डा. मीनाक्षी स्थानीय कॉलेज में प्रोफेसर हैं। तनवी कंपयूटर इंजीनियर बनाना चाहती है। तनवी ने कहा कि उसकी सफलता के पीछे उसके माता-पिता का विशेष योगदान है।

नाम : एकनूरबीर सिंह

अंक: 99.8 फीसद

पिता का नाम: दलबीर सिंह

माता का नाम : संदीप कौर

स्कूल का नाम : डीसीएम

क्रिकेट में भी नाम चमका चुका है एकनूरबीर सिंह

-16 वर्षीय एकनूरबीर सिंह क्रिकेट का खिलाड़ी है और वह अंडर-14 में नेशनल स्तर पर 21वां रैंक हासिल कर चुका है। वह मन में डाक्टर बनने का सपना संजोए हुए है। एकनूरबीर सिंह के हौंसलो को उड़ान उसके पिता दलबीर सिंह ने दी है। पिता फिजिकल एजुकेशन के अध्यापक हैं। उसकी माता संदीप कौर लैक्चरार है। उसके पिता भी उसके एक बेस्ट क्रिकेटर क साथ-साथ डॉक्टर बनाना चाहते है। पिता दलबीर सिंह चाहते है कि उसका बेटा टीम इंडिया में खेले और जिले का नाम खेलो में रोशन करे। नाम : अंश कटारिया

अंक: 99.8 फीसद

पिता का नाम: विक्रम कटारिया

माता का नाम: ज्योति कटारिया

स्कूल : डीसीएम साफ्टवेयर इंजीनियर बनना है अंश का सपना

विद्यार्थी अंश कटारिया साफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहता है। इन दिनो वह आइआइटी जेई मैन्स की तैयारी कर रहा है। उसके पिता विक्रम कटारिया सरकारी कांट्रैक्टर व माता ज्योति कटारिया अध्यापिका है। स्कूल में होने वाले हर कंपीटिशन में भी वह सबसे आगे रहता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.