सीएम के दौरे में प्रदर्शन कर रहे 178 मुलाजिमों पर एफआइआर

गुरुहरसहाय में मुख्यमंत्री के दौरे में मुलाजिम नेताओं को प्रदर्शन करना महंगा पड़ा। वीरवार को किए प्रदर्शन के बाद गुरुहरसहाय थाने में मुलाजिम नेताओं पर सरकारी ड्यूटी में बाधा और पुलिस मुलाजिम की वर्दी फाड़ने के आरोप में एफआइआर दर्ज की गई है।

JagranFri, 26 Nov 2021 10:15 PM (IST)
सीएम के दौरे में प्रदर्शन कर रहे 178 मुलाजिमों पर एफआइआर

जागरण संवाददाता, गुरुहरसहाय (फिरोजपुर): गुरुहरसहाय में मुख्यमंत्री के दौरे में मुलाजिम नेताओं को प्रदर्शन करना महंगा पड़ा। वीरवार को किए प्रदर्शन के बाद गुरुहरसहाय थाने में मुलाजिम नेताओं पर सरकारी ड्यूटी में बाधा और पुलिस मुलाजिम की वर्दी फाड़ने के आरोप में एफआइआर दर्ज की गई है। पुलिस ने 28 प्रदर्शनकारियों और उनके अज्ञात 150 साथियों पर पर्चा दर्ज किया है। पुलिस कार्रवाई से नाराज मुलाजिम नेताओं और बेरोजगार यूनियन ने संघर्ष करने की चेतावनी दी है।

वीरवार को मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी गुरुहरसहाय में उद्घाटन कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे। पूर्व खेल मंत्री और गुरुहरसहाय के विधायक राणा गुरमीत सिंह सोढी के घर पहुंचते ही उनको प्रदर्शनकारियों के विरोध का सामना करना पड़ा। पंडाल से लेकर विधायक सोढी के निवास के बाहर कई संगठन मांगों को लेकर विरोध प्रदर्शन करते रहे। विरोध तीखा होता देख मुख्यमंत्री चन्नी कार्यक्रम बीच में ही छोड़कर वापस चले गए। लेकिन प्रदर्शनकारी देर शाम तक रोड जाम कर विरोध जताते रहे। विरोध के बीच ही पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच धक्का मुक्की भी हुई, जिसके बाद प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री के स्वागत में लगे फ्लेक्स फाड़ दिए। प्रदर्शन की पुलिस ने वीडियोग्राफी भी की।

(बॉक्स)

ये है शिकायत

थाना गुरुहरसहाय में तैनात कांस्टेबल गुरप्रीत सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में कहा वो वीरवार को मुख्यमंत्री के आगमन पर ड्यूटी पर तैनात था, तभी उच्चाधिकारी ने सूचना दी कि गोलूका मोड़ जीटी रोड पर मुख्यमंत्री ने गेट का उद्घाटन करना है लेकिन प्रदर्शनकारियों की वहां भीड़ जमा है। प्रदर्शनकारियों ने फाजिल्का फिरोजपुर हाईवे जाम कर दिया है, जब उसने साथी मुलाजिमों सहित प्रदर्शनकारियों को जाम लगाने से रोका तो आरोपितों ने उसके साथ धक्का मुक्की की और वर्दी फाड़ दी।

(बॉक्स)

इन पर हुआ है पर्चा दर्ज

पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे अशोक कुमार, दीपक कुमार निवासी गांव मोतीवाल, जंगीर चंद निवासी गांव पिडी, बगीचा सिंह निवासी गांव बोघीवाल, हरीश सामा निवासी गांव हाजी बेटू, बलवान सिंह, संदीप सामा, भगवंत सिंह, सोनू, कुलवंत सिंह निवासी गांव साहनके, प्रवेश बावा निवासी जलालाबाद, रमेश कुमार निवासी गांव अजाबा, राजिदर सिंह मोमी, राजीव शर्मा, संदीप अटवाल, शेर सिंह, सत्या स्वरूप निवासी फाजिल्का, जसबीर सिंह, सुखजिदर सिंह, लक्ष्मी कौर, बलवान सिंह, रेनू बाला, अशोक कुमार, जसविदर सिंह, गुरमीत सिंह निवासी जलालाबाद, गगनदीप सिंह, गुरसेवक सिंह निवासी प्लाट लहरा मोहब्बत, शमशेर सिंह शेर के अलावा 150 अज्ञात लोगों पर मामला दर्ज हुआ है। आरपार की लड़ाई के मूड में संगठन

रोष प्रदर्शन में ईटीटी टैट पास बेरोजगार अध्यापक यूनियन, पंजाब बेरोजगार डीपीई यूनियन, बेरोजगार मल्टीपर्पज हेल्थ वर्कर (मेल) यूनियन, आगनवाड़ी और आशा वर्कर यूनियन, वाटर सप्लाई कांट्रैक्ट यूनियन के साथ बेरोजगार यूनियन के सदस्य शामिल थे। पुलिस की ओर से मामला दर्ज करने के बाद संगठनों ने सरकार के खिलाफ संघर्ष की रूपरेखा बनानी शुरू कर दी है। यूनियन नेताओं से जल्द ही इसका जवाब देने की बात कही है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.