ट्रांसपोर्टरों में किराये को लेकर विवाद, गाड़ियों के कागज छीने

माल ढुलाई को लेकर ट्रांसपोटर्स में चल रहे विवाद में शैलर से लोड होकर गुजरात जाने वाले ट्रालों को रोककर आरोपितों ने कागज छीन लिए।

JagranThu, 29 Jul 2021 11:20 PM (IST)
ट्रांसपोर्टरों में किराये को लेकर विवाद, गाड़ियों के कागज छीने

संवाद सहयोगी, फिरोजपुर : माल ढुलाई को लेकर ट्रांसपोटर्स में चल रहे विवाद में शैलर से लोड होकर गुजरात जाने वाले ट्रालों को रोककर आरोपितों ने कागज छीन लिए। दो दिनों के बीच एक शैलर की आठ लोड गाड़ियों को निशाना बनाया। थाना लक्खोके बहराम की पुलिस ने शैलर की गाड़िया रोक ड्राईवर और कंडक्टरों से बदसलूकी करने और उनसे बिल्टियां एवं अन्य कागज छीनने के आरोप में 34 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। आरोपितों ने पुलिस के हस्तक्षेप के बाद गाड़ियों के कागज लौटा दिए जिसके बाद गाड़ियां माल लेकर गुजरात के लिए रवाना हुई।

भगवती इलैक्टो वेजिटेरियन एक्सपोर्ट प्राईवेट लिम. गांव माना सिंह वाला में बतौर अकाउंटेंट काम कर रहे प्रवेश कुमार निवासी शांति नगर फिरोजपुर ने बताया कि 25 से 27 जुलाई तक कुल आठ ट्राले चावल से लोड किए गए थे। ट्राले शैलर से निकले ही थे कि यूनियन बना कर किराये में बढ़ोतरी की मांग पर अड़े आरोपित कुलदीप सिंह निवासी चक्क मुबाइन हरदोढंडी, बलकार सिंह निवासी गुदड़ ढंडी, जसविदर सिंह निवासी हामद, कुलबीर सिंह निवासी गांव लालचीयां, संतोख सिंह प्रधान ट्रक एकता यूनियन मल्लांवाला, सुरिदर कुमार निवासी मल्लांवाला, हरपाल सिंह उर्फ बाला निवासी तलवंडी भाई, तरसेम सिंह निवासी मल्लांवाला ने अपने 25 साथियों के साथ गुरु घर प्रगट साहिब के पास सभी गाड़ियों को घेरकर ड्राइवरों व कंडक्टरों के साथ बदसलूकी की और उनसे बिल्टियां और कागजात छीन कर ले गए। प्रवेश कुमार ने कहा कि बारिश के कारण उनका लाखों का माल खराब होने का डर था। चावल को एक्सपोर्ट करने के लिए गुजरात भेजा जा रहा था और आरोपित भाड़ा न बढ़ाने पर गाड़ियों को रोक कर उनका काम खराब किया है। जांच अधिकारी बलवीर सिंह ने बताया कि गाड़ियों के कागज वापस लौटा दिए गए है। पुलिस दोनों पक्षों से बात कर रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.