चोरियों व लूटपाट के खिलाफ एकजुट हुए ग्रामीण

गांवों में लगातार बढ़ रही चोरी व लूटपाट की वारदातों को लेकर ग्रामीणों ने शुक्रवार रात गांव लालोवाली के रेलवे फाटक के निकट कुछ संदिग्ध लोगों को पकड़ पुलिस के हवाले किया है।

JagranSat, 24 Jul 2021 10:24 PM (IST)
चोरियों व लूटपाट के खिलाफ एकजुट हुए ग्रामीण

संवाद सूत्र, फाजिल्का : गांवों में लगातार बढ़ रही चोरी व लूटपाट की वारदातों को लेकर ग्रामीणों ने शुक्रवार रात गांव लालोवाली के रेलवे फाटक के निकट कुछ संदिग्ध लोगों को पकड़ पुलिस के हवाले किया है।

इस दौरान सदर थाना में मौजूद गांव लालोवाली निवासी जय चंद व अमनदीप सिंह आदि ने कहा कि रात के समय मुख्य मार्गो से जाना मुश्किल हो गया है। रात के समय खेतों मे कार्य करने के लिए जाने और आने वाले लोगों को लूटपाट का डर ही बना रहता है। उन्होंने कहा कि तीन दिन पहले एक मेडिकल प्रैक्टीशनर को घेरकर मोटरसाइकिल पर सवार छह लोगों ने मोबाइल व नकदी छीन ली। साथ ही तेजधार हथियारों से उन्हें जख्मी भी कर दिया। शुक्रवार रात भी कुछ लोग लालोवाली के रेलवे फाटक के निकट बैठे थे, जिसकी भनक ग्रामीणों को लगते ही उन्होंने उनका पीछा किया और काबू कर लिया। ग्रामीणों का आरोप है कि उक्त लोगों के पास तेजधार हथियार थे, जिसके बाद मामले की सूचना थाना प्रभारी को दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर सभी को अपनी हिरासत में लिया। लोगों ने मांग की कि ग्रामीण क्षेत्रों में पुलिस गश्त बढ़ाई जाए और जो लोग पकड़े गए हैं उन पर कार्रवाई की जाए। उधर थाना प्रभारी सुनील कुमार ने कहा कि एक दिन पहले लालोवाली के एक व्यक्ति का मोबाइल छीना गया था, जिस संबंध में ग्रामीणों ने कुछ लोगों को पकड़ा है, जो उनकी हिरासत में हैं। उन्होंने कहा कि पकड़े गए लोगों से पूछताछ की जा रही है। अगर उनमें से कोई आरोपित पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल पुलिस पूछताछ और सबूत ढूंढने में जुटी है।

बेरोजगार अध्यापकों ने दी संघर्ष की चेतावनी संस, अबोहर : बेरोजगार ईटीटी टैट पास अध्यापकों की बैठक शुक्रवार को नेहरू पार्क में हई, जिसमें वक्ताओं ने कहा कि अगर 27 जुलाई को होने वाली मीटिग में भी उनकी मांगें पूरी न हुई तो आने वाले समय में राज्य स्तर पर कड़ा संघर्ष किया जाएगा। यूनियन के प्रांतीय नेता रविद्र कंबोज ने कहा कि मुख्यमंत्री ने सभी बेरोजगारों को रोजगार देने का वादा किया था जो आज तक पूरा नहीं हुआ। अगर पंजाब सरकार ने उनकी मांगें नहीं मानी तो इसका खामियाजा पजाब सरकार को 2022 के विधानसभा चुनावों में भुगतना होगा। इस मौके पर गगन कुमार, अनिल कुमार, सुरेंद्र, शीतल रानी, दीन दयाल, विजय कुमार, पंकज, जगदीश कुमार जगदेव मौजूद थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.