पंचायती जमीन के पैसों में किया हेरफेर, सरपंच व पंचायत सचिव नामजद

पंचायती जमीन के पैसों में किया हेरफेर, सरपंच व पंचायत सचिव नामजद

जिले के गांव सहीवला के पंचायत सदस्य ने गांव के सरपंच व पंचायत सचिव पर पंचायती जमीन के पैसों में सात लाख रुपये के हेरफेर के आरोप लगाए हैं। इस संबंधी लंबी जांच पड़ताल के बाद थाना अरनीवाला पुलिस ने सरपंच व पंचायत सचिव के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

JagranWed, 14 Apr 2021 10:51 PM (IST)

संवाद सूत्र, जलालाबाद (फाजिल्का) : जिले के गांव सहीवला के पंचायत सदस्य ने गांव के सरपंच व पंचायत सचिव पर पंचायती जमीन के पैसों में सात लाख रुपये के हेरफेर के आरोप लगाए हैं। इस संबंधी लंबी जांच पड़ताल के बाद थाना अरनीवाला पुलिस ने सरपंच व पंचायत सचिव के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

थाना अरनीवाला के एएसआई सुभाष चंद्र ने बताया कि गांव सहीवाल में रहने वाले कश्मीर सिंह ने शिकायत दर्ज करवाई कि वह गांव सहीवला का पंचायत सदस्य रहा है। गांव निवासी जगदीश कुमार (अकाली दल) साल 2013 से लेकर साल 2018 तक गांव का सरपंच रहा। उसने आरोप लगाया कि पंचायत की जमीन की बोली साल 2014 से 2019 तक होती रही। इस दौरान अलग-अलग समय जमीन के पैसे एकत्रित होते रहे, जिसे सरपंच ने बैंक में जमा करवाने थे। लेकिन साल 2014-15 में 1,07000 रुपये, साल 2016-17 में 1,47,000 रुपये, साल 2018-19 में 1,99,500 रुपये व साल 2019-20 में 2,68,000 यानि कुल 7,21,500 रुपये कम जमा करवाए थे। इस संबंधी उसने सरपंच से बातचीत की। लेकिन सरकार द्वारा उसे जानकारी ना देने पर उसने आरटीआइ के जरिए जानकारी हासिल करनी चाही, तो पता चला कि पंचायती जमीन को लेकर बनाया गया रजिस्टर गायब है। उसने आरोप लगाया कि गांव के सरपंच ने पंचायत सचिव मनजीत सिंह के साथ मिलकर पंचायती कार्रवाई का रजिस्टर खुर्दबुर्द कर दिया। उक्त मामले की जांच डीएसपी जलालाबाद कर रहे हैं।

60 हजार प्रतिबंधित गोलियों के साथ सेल्समैन गिरफ्तार संवाद सूत्र, फिरोजपुर : नारकोटिक्स सैल पुलिस ने प्रतिबंधित गोलियों की सप्लाई करने वाले एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है, जिसकी निशानदेही पर शहर के गुरु नानक एवेन्यू में बने स्टोर से 60 हजार प्रतिबंधित गोलियां बरामद की हैं। एसएसपी फिरोजपुर भगीरथ मीना ने प्रेस कांफ्रेस के दौरान बताया कि आरोपित खुद को दवा कंपनी का सेल्समैन बता रहा है। पुलिस दवा कंपनी से पूछताछ करेगी।

एसएसपी ने कहा कि आरोपित घरविदर सिंह को मुखबरी के आधार पर पकड़ा गया था। घरविदर खुद को एक कंपनी का सेल्समैन बता रहा है। कंपनी से पता लगाया जाएगा कि आरोपित उनका सेल्समैन है या नहीं। अगर है भी तो उसके पास से इतनी मात्रा में कहां से नशीली गोलियां पहुंची। आरोपित को तीन दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। रिमांड के दौरान ही सभी पहलूओं से पूछताछ होगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.