कोरोना के मद्देनजर शहीदी सभा की तैयारियों में जुटा प्रशासन

कोरोना के मद्देनजर शहीदी सभा की तैयारियों में जुटा प्रशासन

एडीसी अनुप्रिता जौहल ने जिला प्रबंधकीय कांप्लेक्स में शहीदी सभा के दौरान कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए जरूरी सावधानियां अपनाने को यकीनी बनाने के लिए अधिकारियों से बैठक की।

Publish Date:Mon, 23 Nov 2020 05:17 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सहयोगी, फतेहगढ़ साहिब :

एडीसी अनुप्रिता जौहल ने जिला प्रबंधकीय कांप्लेक्स में शहीदी सभा के दौरान कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए जरूरी सावधानियां अपनाने को यकीनी बनाने के लिए अधिकारियों से बैठक की। उन्होंने संगत को अपील की कि तीन दिन विशेष कर गुरुद्वारा साहिब में आने की जगह वह दिसंबर माह के किसी भी दिन गुरुद्वारा श्री फतेहगढ़ साहिब और गुरुद्वारा श्री ज्योति स्वरूप साहिब में नतमस्तक हो सकते हैं। उन्होंने जिले और नजदीक गांवों के लोगों के लोगों को अपील की वह घरों में रहकर अरदास करें और बाहर से आने वाले रिश्तेदारों को भी अपील करें कि वह विभिन्न दिनों में आकर छोटे साहिबजादों और माता गुजरी जी को श्रद्धांजलि भेंट करें। दिसंबर में पूरा माह शहीदों को समर्पित है। संगत 25, 26 और 27 दिसंबर तक गुरुद्वारा श्री फतेहगढ़ साहिब में पहुंच कर पूरा माह ही शहीदों को श्रद्धांजलि भेंट कर सकती है। दशमपिता श्री गुरु गोबिद सिंह के छोटे साहिबजादे बाबा जोरावर सिंह, बाबा फतेह सिंह और माता गुजरी जी की महान शहादत को समर्पित वार्षिक शहीदी सभा के दौरान कोरोना की दूसरी लहर को फैलने से रोकने के लिए प्रशासन की संगत से अपील है।

एडीसी जौहल ने बताया कि जल सप्लाई और सेनिटेशन विभाग द्वारा संगत की सुविधा के लिए 300 अस्थायी शौचालय, 300 अस्थायी शौचालय लगाने के अलावा सात बड़े शौचालय, जिनमें स्नान करने की सुविधा भी है, इसके अलावा 25 मोबाइल शौचालय भी बनाए गए हैं, जोकि शहीदी सभा के दौरान विभिन्न जगहों पर मौजूद रहेंगे। इसके अलावा महिलाओं, बुजुर्गो और बच्चों के लिए बसें भी चलाई जाएंगी। उन्होंने एसडीएम फतेहगढ़ साहिब को कहा कि नगर कौंसिल से संपर्क कर शहीदी सभा वाले स्थान की मुकम्मल सफाई करवाई जाए, ताकि माहौल की पवित्रता कायम रहे। इस अवसर पर एसपीएच हरपाल सिंह, एसडीएम फतेहगढ़ साहिब डा. संजीव कुमार, सहायक कमिश्नर जनरल जसप्रीत सिंह, डीएसपी हरदीप सिंह बडूंगर, डीएसपी फतेहगढ़ साहिब मनजीत सिंह, सिविल सर्जन डा. सुरिदर सिंह आदि उपस्थित थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.