top menutop menutop menu

डटकर करेंगे टिड्डियों का मुकाबला

जागरण संवाददाता, फरीदकोट

टिड्डी दल के संभावित हमले को देखते हुए डिप्टी कमिश्नर कुमार सौरभ राज की देखरेख में मॉकड्रिल की गई। यह मॉकड्रिल कोटकपूरा के संधवा गांव में की गई। इस अवसर पर विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे। इसमें फायर बिग्रेड द्वारा आधुनिक यंत्रो की मदद से टिड्डियों को भगाने के तरीके दिखाए गए।

डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि टिड्डी दल का हमला हमारे लिए एक चुनौती है, जिसका हम सभी को डटकर मुकाबला करना चाहिए। उन्होंने किसानों का सहयोग मांगते हुए कहा कि, टिड्डी दल के हमले के दौरान गांव की पंचायतों व किसानों का सहयोग बेहद अहम है। उन्होंने सभी पंचायतों केा टिड्डी दल के हमले के समय मोटर वाले स्प्रे व ट्रैक्टर वाले स्प्रे तैयार रखने को कहा, रात्रि के समय कीटनाशक के स्प्रे के लिए रोशनी हेतु बड़ी टार्च की जरूरत होगी। क्योंकि टिड्डी दल की रोकथाम हेतु स्प्रे रात्रि में की जानी है, रात्रि के समय सर्चलाइट व पानी आदि की जरूरत होगी।

जिला खेतीबाड़ी अधिकारी हरनेक सिंह रोड़े ने कहा कि विभाग द्वारा कीटनाशक दवाओं का पूरा प्रबंध कर लिया गया है। टिड्डी दल विशाल समूह में होते है जो कि दिन के समय उड़ते हैं जबकि रात्रि के समय पेड़ों आदि पर आराम करते हैं। उन्होंने बताया कि टिड्डियों के एक-एक झुंड में लाखों की संख्या में टिड्डियां होती है, यह एक दिन में डेढ़ सौ किलोमीटर तक तय करती है। यह फसल व हरे पौधों को नुकसान पहुंचाती है। उन्होंने कहा कि इससे घबराने की जरूरत नहीं है बल्कि समझदारी के साथ इसे नष्ट करने की जरूरत है। उन्होंने बताया कि दिन के समय ढोल, पीपे या फिर ट्रैक्टरों पर डेक के द्वारा ऊंची आवजों से इसे अपने खेत से उड़ाया जा सकता है। उन्होंने किसान भाएयों से अपील की कि यदि टिड्डी दल का हमला होता है तो तुरंत इसकी सूचना कृषि विभाग के अधिकारियों तक पहुंचाई जाए, ताकि फौरी तौर पर कार्रवाई शुरु की जाए। इस अवसर पर कोटकपूरा के एसडीएम मेजर अमित सरीन, प्रोजेक्टर डायरेक्टर आत्मा डॉ अमनदीप केशव आदि उपस्थित रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.