तीन सालों में 1648 लोग हो चुके डेंगू का शिकार, छह गवां चुके अपनी जान

भले ही अब कोरोना महामारी का खतरा टल गया है लेकिन कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे

JagranMon, 20 Sep 2021 09:47 PM (IST)
तीन सालों में 1648 लोग हो चुके डेंगू का शिकार, छह गवां चुके अपनी जान

मोहित गिल्होत्रा, फाजिल्का

भले ही अब कोरोना महामारी का खतरा टल गया है, लेकिन कोरोना के कम होते ही डेंगू व मलेरिया बीमारी ने पांव पसारने शुरू कर दिए हैं। बीते दिनी हुई बारिश के बाद से ही सेहत विभाग की टीमों लगातार घरों व दुकानों की चेकिग कर रही हैं, जहां उन्हें डेंगू का लारवा भी मिल रहा है। वहीं अब नगर कौंसिल की टीम ने भी सख्त रूख अपना लिया है। कौंसिल अधिकारियों का कहना कि अब जहां भी डेंगू का लारवा मिलेगा, वहां लोगों के चालान काटे जाएंगे। सेहत विभाग डेंगू व मलेरिया को लेकर इस लिए भी सख्त है। क्योंकि पिछले तीन सालों में अब तक 1648 मामले डेंगू और 44 मामले मलेरिया के सामने आ चुके हैं। सबसे ज्यादा डेंगू के मामले पिछले साल 875 सामने आए। जबकि पिछले साल पहली बार डेंगू के चलते फाजिल्का जिले में छह लोगों की मौत हुई। जिसके चलते इस साल सेहत विभाग डेंगू को लेकर कोई ढील नहीं अपनाना चाहता। वहीं बात मौजूदा साल की करें तो अब तक 6 लोग डेंगू से संक्रमित पाए जा चुके हैं, जिनका सफलता पूर्वक ईलाज किया जा चुका है।

हर शुक्रवार ड्राई डे मनाने का आह्वान

सेहत विभाग द्वारा डेंगू व मलेरिया के खिलाफ ड्राई डे के रूप में एक मुहिम छेड़ी गई है। जिसके तहत हर शुक्रवार को ड्राई डे मनाने का आह्वान किया जा रहा है। जिसको लेकर विभिन्न गांवों में डेंगू व मलेरिया संबंधी कैंप भी लगाए जा रहे हैं। ड्राई डे के तहत हर घर, दुकान, कार्यालय आदि में रहने वाले लोगों को यह आह्वान किया जा रहा है कि वह हर शुक्रवार को वहां पड़ी फ्रिज, गमलों के अलावा पानी वाले सभी स्त्रोतों की सफाई करें। क्योंकि डेंगू का मच्छर खड़े पानी में ही पनपता है। साथ ही लक्षण नजर आने पर सेहत विभाग से संपर्क करने का आह्वान भी किया जा रहा है, ताकि समय पर इसका पता चलते ही ईलाज दिया जा सके। लंबे समय से बंद प्लेटलेट्स मशीन

पिछले साल डेंगू के मामले काफी बढ़ने और कई लोगों की मौत होने के कारण सरकारी अस्पताल में लगभग 50 लाख की लागत से एक अति आधुनिक ब्लड कंपोनेंट लैब स्थापित की गई थी। यह लैब नंवबर 2020 में स्थापित की गई थी। इस आधुनिक लैब की स्थापना से लोगों ने राहत की सांस ली थी कि अब उन्हें फाजिल्का शहर में ही प्लेटलेट्स उपलब्ध हो जाएगा व मरीजों को दूसरे शहरों में नहीं जाना पड़ेगा। लेकिन सरकार की अनदेखी के कारण लगभग एक वर्ष बीत जाने के बाद भी यह लैब अब तक चल नही पाई है और एक बार फिर डेंगू के मरीजों को परेशान होना पड़ सकता है।

घर-घर सर्वे कर रही सेहत विभाग की टीमें

सरकारी अस्पताल के एसएमओ डा. सुधीर पाठक का कहना है कि कोरोना महामारी के साथ-साथ डेंगू व मलेरिया से बचाने के लिए विभाग लगातार प्रयासरत है। सिविल सर्जन फाजिल्का की अगुवाई में लगातार टीमें डेंगू को लेकर जहां सर्वे कर रही हैं। वहीं जगह-जगह कैंप लगाकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसके अलावा अगर कोई डेंगू व मलेरिया का मरीज सामने आता है, तो उसके लिए भी स्पेशल वार्ड सरकारी अस्पताल में बनाया गया है, जहां उसका ईलाज किया जाएगा। वहीं लैब संबंधी उन्होंने कहा कि इसके लिए एक पैथोलोजिस्ट तथा एक बीटीओ की आवश्यकता होती है जो सरकारी अस्पताल में उपलब्ध नहीं है। इनकी नियुक्ति के लिए सरकार को लिखित भेजा गया है। उनकी तैनाती के बाद लैब शुरू की जाएगी। डेंगू के लक्षण

- सिर दर्द

--मांसपेशियों, हड्डियों और जोड़ों में दर्द

- जी मिचलाना

- उल्टी लगना

- आंखों के पीछे दर्द

- ग्रंथियों में सूजन

- त्वचा पर लाल चकत्ते होना डेंगू से बचाव

- त्वचा को खुला न छोड़ें

- मच्छर रोधी क्रीम

- व्यक्तिगत स्वच्छता

- ठहरे हुए पानी को कीटाणु रहित करें।

मलेरिया के लक्ष्ण

- उलटी आना

- बुखार आना

- जी मिचलाना

- सांस फुलना

- भूख में कमी होना

- सिरदर्द होना

- सर्दी-जुखाम होना

- ठंडी लगना

- दस्त होना

- थकान होना

- चक्कर आना मलेरिया से बचाव

- बुखार तेजी से बढ़े तो डाक्टर से जांच करवाना

- घर के आस पास गंदे पानी को जमा ना होने दें

- शरीर का तापमान बढ़ने पर टावल लपेट लें

--सेहत बिगडने पर अपने मर्जी से कोई भी दवाई ना लें

2020 में डेंगू के मामले

ब्लाक 2018 2019 2020

जंडवाला भीमेशाह 12 23 10

डबवाला कलां 13 71 31

खुई खेड़ा 09 36 25

सीतो गुणो 09 15 13

फाजिल्का 37 469 433

अबोहर 20 32 315

जलालाबाद 12 15 48 2020 में मलेरिया के मामले

ब्लाक 2018 2019 2020

जंडवाला भीमेशाह 02 02 02

डबवाला कलां 05 11 02

खुई खेड़ा 01 02 00

सीतो गुणो 01 09 01

फाजिल्का 00 00 00

अबोहर 00 02 01

जलालाबाद 00 02 01 डेंगू से 2020 में मौत

फाजिल्का: दो की मौत

अबोहर: 4 की मौत

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.