सड़कों की हालत सुधारने के लिए एसडीएम कार्यालय घेरा

भारतीय किसान यूनियन एकता सिद्धूपुर ब्लाक जैतो के नेताओं की तरफ से प्रदर्शन किया गया।

JagranWed, 22 Sep 2021 09:59 PM (IST)
सड़कों की हालत सुधारने के लिए एसडीएम कार्यालय घेरा

संवाद सूत्र, जैतो

भारतीय किसान यूनियन एकता सिद्धूपुर ब्लाक जैतो के नेताओं की तरफ से जैतो गांव की गलियों और सड़कों की बुरी हालत को सुधारने संबंधी बुधवार को किसान नेताओं द्वारा एसडीएम कार्यालय के समक्ष अनिश्चित कालीन धरना लगा दिया है। जतिन्दरजीत सिंह भिडर कनवीनर ब्लाक जैतो और किसान नेता रागी बेअंत सिंह सिद्धू रामेआना ने कहा कि टूटीं सड़कें, गलियों तथा नालियों के कारण लम्बे समय से जैतो गांव के लोग परेशानियों का सामना कर रहे हैं। इससे पहले भी कई बार संबंधित विभाग के अधिकारियों को लिखित शिकायतें करने के बावजूद कोई हल नहीं निकाला गया। जब कभी भी अधिक बारिश हो जाती है तो लोगों को कीचड़ और गंदे पानी में से गुजरना मुश्किल हो जाता है। उन्होंने कहा कि आगे धान का सीजन आ रहा है मंडियों में भरीं हुई ट्रालियां गलियों में पलट भी सकतीं हैं। यदि कोई हादसा घटता है तो इस की जिम्मेदारी संबंधित विभागों की होगी। उन्होंने कहा कि यदि इस समस्या का जल्द समाधान न किया गया तो किसान यूनियन सिद्धूपुर की तरफ से संघर्ष तेज किया जाएगा।

इस मौके पर इकाई जैतो केवल सिंह ब्लाक प्रधान जैतो, प्रधान जगसीर सिंह काला, बलविन्दर सिंह नेहरू, सतनाम काला रामेआना, जगसीर सराय, गुरप्रीत बराड,़ जग्गा सिंह खालसा सेवेवाला तथा कश्मीर मान रोड़ीकपूरा, गुरविन्दर सिंह आदि उपस्थित थे। ------------------ रात को नौ बजे मिट्टी पर ही बिछाई प्रीमिक्स

संवाद सूत्र, दोदा (श्री मुक्तसर साहिब)

पीडब्ल्यूडी के ठेकेदार किस तरह से नियमों को छींके पर टांगकर काम करते हैं, इसकी मिसाल मंगलवार को गांव गुरूसर में देखने को मिली। विभाग की ओर से रात को करीब नौ बजे सड़क पर पड़ी मिट्टी पर ही प्रीमिक्स बिछा दी गई। जब इस पर गांव के कुछ लोगों ने सवाल उठाए तो कर्मचारी काम बीच में छोड़कर खिसक लिए।

पीडब्ल्यूडी की ओर से गिद्दड़बाहा से श्री मुक्तसर साहिब जाने वाली सड़क पर प्रीमिक्स डालने का काम किया जा रहा है। ठेकेदार की ओर से मंगलवार की रात को करीब नौ बजे गांव गुरूसर और लुंडेवाला के बीच लगभग एक किलोमीटर हिस्से पर मिट्टी पर ही लुक डालकर प्रीमिक्स बिछा दी गई जबकि दिन में इस क्षेत्र में बारिश भी हुई थी। बारिश के साथ सड़क पर मिट्टी जमा हो चुकी थी लेकिन ठेकेदार की लेबर ने मिट्टी उठाने की जहमत ही नहीं उठाई। अब इस तक की सड़क कितने तक चल पाएगी, इसका अनुमान आसानी से ही लगाया जा सकता है। गांव के लोगों ने जब इसका विरोध किया तो ठेकेदार अपनी मशीनरी लेकर वहां से चलता बना।

जब पीडब्ल्यूडी के एसडीओ सतवंत ने कहा कि शाम को मशीनरी खराब हो गई थी जिसके चलते एक ट्रक माल बच गया था, जिसे ठेकेदार ने रात को ही बिछा दिया। हालांकि उसे ऐसा नहीं करना चाहिए था। ठेकेदार की पेमेंट रोक ली गई है, उसे दोबारा से सड़क का निर्माण करने को कह दिया गया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.