चंडीगढ़ में एयर शो की रिहर्सल, आसमान में जलवा दिखाएंगे वायु सेना के जांबाज, मौसम बना रुकावट

चंडीगढ़ की सुखना लेक पर आयोजित होने वाले विशेष सूर्य किरण एयर शो की फुल ड्रेस रिहर्सल है। ऐसे में मौसम रिहर्सल और 22 सितंबर को आयोजित होने वाले एयर शो में खलल डाल सकता है। हालांकि इस शो को देखने के लिए शहरवासी फ्री में लुत्फ उठा सकते हैं।

Ankesh ThakurTue, 21 Sep 2021 09:55 AM (IST)
एयरफोर्स की तरफ से 1971 युद्ध के स्वर्णिम विजय दिवस पर इस शो का आयोजन किया जा रहा है।

विकास शर्मा, चंडीगढ़। मौसम ने करवट ली और सोमवार शाम को झमाझम बारिश हुई। मौसम विभाग की माने तो अगले शुक्रवार तक बादल छाए रहेंगे और हल्की बारिश होने का भी पूर्वानुमान है। मंगलवार को सुखना लेक पर आयोजित होने वाले विशेष सूर्य किरण एयर शो की फुल ड्रेस रिहर्सल है। ऐसे में मौसम रिहर्सल और 22 सितंबर को आयोजित होने वाले एयर शो में खलल डाल सकता है। ऐसा कयास इसलिए लगाया जा रहा है क्योंकि इससे पहले 18 सितंबर को पंजाब के जालंधर कैंट में आयोजन होने वाले एयरशो को भी मौसम खराब रहने की वजह से रद करना पड़ा था। एयरफोर्स ने इस एयरशो को रद करने के पीछे दलील दी थी कि बादल काफी नीचे आ गए थे, इसलिए यह शो संभव नहीं हो सका।

बता दें कि एयरफोर्स की तरफ से 1971 युद्ध के स्वर्णिम विजय दिवस पर इस सूर्य किरण एयर शो का आय़ोजन किया जा रहा है। इसके अलावा इसी साल एयरफोर्स स्टेशन चंडीगढ़ भी अपनी स्थापना की गोल्डन जुबली मना रहा है। एयर फोर्स चंडीगढ़ की स्थापना वर्ष 1961 में हुई थी। इसलिए यह एयर शो कई मायनों में खास है।

मौसम साफ रहा था मुफ्त में इस एयरशो का लुत्फ

 

मौसम साफ रहा तो लोग इस फुल ड्रेस रिहर्सल का लुत्फ उठा सकते हैं। इस मेगा इवेंट की एंट्री बिल्कुल मुफ्त है। प्रशासन ने शहरवासियों से अपील की है कि वह जब इस रिहर्सल या एयर शो को देखने के लिए एकत्रित हो तो कोविड-19 सुरक्षा उपायों का सख्ती से पालन करें। पुलिस का पूरा सहयोग करें। बिना मास्क के किसी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। सुखना झील में भीड़ से बचने के लिए, लोगों को सलाह दी जाती है कि वे जहां भी संभव हो, अपनी छतों से शो देखें। इसके अलावा दर्शकों को सलाह दी जाती है कि वे कोई भी खाने योग्य वस्तु आदि न लाएं जो पक्षियों को आकर्षित कर सकें जो भाग लेने वाले विमानों के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं।

वर्ष 1996 में बनी थी सूर्य किरण टीम

 

आसमान में हैरतअंगेज करतब दिखाने वाली यह सूर्यकिरण टीम 1996 में बनी थी। कर्नाटक के बिदर एयरफोर्स स्टेशन पर टीम को 6 किरन मल्टीस्किल ट्रेनर एयरक्राफ्ट के जरिए शुरू किया गया था। टीम ने अपना पहला शो 15 सितंबर 1996 को कोयंबटूर के एयरफोर्स एडमिनिस्ट्रेटिव कॉलेज में गोल्डन जुबली समारोह में किया था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.