Mayor Election: भाजपा के राजेश कालिया बने मेयर, हरदीप सिंह सीनियर डिप्टी मेयर

जेएनएन, चंडीगढ़। भाजपा के राजेश कालिया चंडीगढ़ नगर निगम के नए मेयर चुने गए हैं। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी सतीष कैंथ को पांच वोटों से हराया। कालिया को 16 और कैंथ के पक्ष में 11 वोट पड़े। मेयर चुनाव में सांसद किरन खेर के वोट को मिलाकर कुल 27 वोट पड़े। वहीं अकाली दल के हरदीप सिंह सीनियर डिप्टी मेयर बने। हरदीप सिंह को 20 वोट और उनके प्रतिद्वंदी कांग्रेस के गुरबख्श रावत सात वोट मिले।इससे पहले सदन की शुरुआत सांसद किरन खेर और पार्ष बबल के बीच हल्की नाेक-झोंक से हुई। बबला ने कहा कि पिछली बार चुनाव के दौरान मोबाइल और कैमरा पेन के कारण गड़बड़ी हुई थी। चुनाव प्रक्रिया के दौरान कांग्रेस की उम्मीदवार शीला फूल सिंह ने अपना नामांकन वापस ले लिया था।

पार्षदों के साथ नए चुने गए मेयर राजेश कालिया।

सांसद किरण खेर ने पहला वोट डालकर चुनाव प्रक्रिया की शुरुआत की थी। दूसरा वोट महेश इंद्र संधू और तीसरा वोट पार्ष राज बाला मलिक ने डाला।इसके बाद रविकांत शर्मा, सुनीता धवन, शीला फूल सिंह, राजेश कालिया, अरुण सूद, गुरबख्श रावत, हरदीप सिंह, सतीश कैंथ ने अपने-अपने वोट डाले।इससे पहले सदन में डीसी मनदीप सिंह बराड़ सांसद किरण खेर, भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन, संगठन मंत्री दिनेश कुमार सदन में पहुंचे थे। सभी पार्षदों को अपना मोबाइल स्विच ऑफ कर सदम में जमा करवाने के लिए कहा गया था।

चंडीगढ़ नगर निगम के मेयर का पदभार संभालते राजेश कालिया।

मेयर का पदभार संभालते ही राजेश कालिया ने बाबा भीमराव अंबेडकर को याद किया। उन्होंने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद व्यक्त किया और प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन और सांसद किरण खेर और भाजपा के तमाम पार्षदों का भी आभार जताया।मेयर राजेश कालिया ने कहा 1972 में हरियाणा से चंडीगढ़ आकर बसे थे। उनके पिताजी पंजाब में कर्मचारी थे और वह सात भाई-बहन थे।

मेयर राजेश कालिया ने कहा कि पूरे शहर का विकास करूंगा। अपने पुराने क्रिमिनल रिकॉर्ड के बारे में चर्चा करते हुए बताया कि अब उनके ऊपर कोई भी क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं है। वर्ष 2000 में राजेश कालिया ने अपना राजनीतिक सफर शुरू किया था।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन ने कहा कि मेयर कैंडिडेट के चुनाव में भाजपा की ओर से जो क्रॉस वोटिंग हुई है उसके लिए संगठन मंत्री और वह खुद एक इस मामले में कमेटी बनाकर जांच करेंगे और जिन लोगों ने क्रॉस वोटिंग की यह उन पर पार्टी कार्रवाई करेगी।

नगर निगम कार्यालय में बधाई देने पहुंचे अकाली दल के संगठन मंत्री डॉ. दलजीत सिंह चीमा। 

अकाली दल के संगठन मंत्री डॉ. दलजीत सिंह चीमा ने चंडीगढ़ नगर निगम के कार्यालय में पहुंचकर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय टंडन को भी मेयर और सीनियर डिप्टी मेयर उम्मीदवार की कुर्सी जीतने के लिए बधाई दी।

मेयर पद के चुनाव की प्रक्रिया के दौरान सदन में उपस्थित पार्षद।

भाजपा पार्षद कंवरजीत राणा के कारण पहली बार मेयर पद के लिए चुनाव प्रक्रिया दोपहर तीन बजे के बाद शुरू हुई। कंवरजीत राणा भाजपा के डिप्टी मेयर पद के उम्मीदवार हैं। राणा पीयू के लॉ स्टूडेंट हैं और उनकी शुक्रवार सुबह परीक्षा थी। उनकी अपील पर डीसी ने चुनाव का समय जो 11 बजे तय था उसे दोपहर तीन बजे कर दिया था। जबकि 1996 से लेकर पिछले साल तक हमेशा चुनाव 11 बजे ही होता था।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.