टेंशन खत्म... मोहाली में घर पर किरायेदार रखने को अब वेरिफिकेशन के लिए मोबाइल एप करेगी काम

मोहाली जिले में घर पर किरायेदार रखने वाले मकान मालिकों को किरायेदार की वेरिफिकेशन का झंझट खत्म हो गया है। यानि वेरिफिकेशन तो करवानी होगी लेकिन पुलिस स्टेशन और सांझ केंद्र जाने की जरूरत नहीं होगी। यह काम अब मोबाइल पर घर बैठे हो जाएगा।

Ankesh ThakurWed, 21 Jul 2021 12:18 PM (IST)
किरायेदार की वेरिफिकेशन अब घर बैठे मोबाइल एप से ही हो जाएगी। (सांकेतिक चित्र)

जागरण संवाददाता, मोहाली। जिला मोहाली में अब घर पर किरायेदार की वेरीफिकेशन करवाने की टेंशन खत्म हो गई है। मकान मालिक को किरायेदार की वेरिफिकेशन के लिए सांझ केंद्र जाने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। अब घर बैठे बैठे अपने किरायेदार की वेरिफिकेशन करवा सकेंगे। वहीं, अब वेरिफिकेशन के लिए पुलिस स्टेशन जाने से भी छुटकारा मिलेगा। 

लोगों की सुविधा के लिए पुलिस विभाग ने एक मोबाइल एप तैयार की है। इससे लोगों के समय और पैसे दोनों की बचत होगी। एसएसपी मोहाली सतिंदर सिंह ने बताया कि जल्द ही इससे लोगों को समर्पित कर दिया जाएगा। एप का ट्रायल भी सफल रहा है। जिले की जनसंख्या करीब दस लाख है और इनमें बाहरी राज्यों के लोग नौकरी या पढ़ाई के लिए आने वाले स्टूडेंट्स जो यहां पर किराये के कमरों में या पीजी (पेइंग गेस्ट) रह रहे हैं। वेरिफिकेशन प्रक्रिया आसान होने से यह काम काफी फायदेमंद साबित होगा। साथ ही अपराधी किस्म के लोगों पर आसानी से शिकंजा कसा जा सकेगा। क्योंकि पिछले समय में कई गैंगस्टर आदि भी जीरकपुर और खरड़ में बनी रिहायशी सोसायटीज से मिले हैं।

मौजूदा में किरायेदारों और नौकरों के वेरिफिकेशन की फिजिकल प्रक्रिया कुछ लंबी है। इसलिए लोगों को सांझ केंद्र जाना पड़ता है। जो भी मकान मालिक होता है उसे फॉर्म के तीन सेट बनाने पड़ते हैं। जिसके आधार, पैन के अलावा फोटो आइडी फ्रूप लगाना होता है। मकान मालिक को किरायेदार का लोकल पते से लेकर उसके मूल पत्ते (जहां का वो रहने वाला) लोकल ग्रांटर का भी खुद ही पता लगाना होता है। अगर किरायेदार के पास कोई लोकल ग्रांटर नहीं तो वेरिफिकेशन नहीं हो सकती। वेरिफिकेशन के लिए सांझ केंद्र पर दो सौ रुपये देने पड़ते हैं, लेकिन मकान मालिक को ही सारे कॉलम भर कर देने होते हैं। इसी चीज को ध्यान में रखकर पुलिस ने उक्त स्पेशल एप तैयार की है।

एप को लोग अपने मोबाइल पर अपलोड करेंगे। इसके बाद अपने किरायेदारों और नौकरों संबंधी पूरी जानकारी इसमें भरेंगे। इसमें नौकर या कर्मचारी का पहचान पत्र और आधार कार्ड का विवरण भरना बहुत जरूरी होगा। जैसे ही इसमें पूरी जानकारी भर दी जाएगी, उसके बाद सबमिट ऑप्शन पर जाकर क्लिक करके पुलिस को भेजनी होगी। इसके बाद पुलिस निर्धारित समय में इसकी वेरिफिकेशन करेगी और इसके बारे में आपको फोन पर ही सूचित कर दिया जाएगा। मोहाली पुलिस द्वारा बनाई इस स्पेशल एप का लोगों को काफी फायदा होगा। क्योंकि मोहाली जिले में तीन सब डिवीजन मोहाली, खरड़ और डेराबस्सी शामिल हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.