नेशनल कैंप में मिनर्वा फुटबाल अकादमी के तीन ट्रेनी खिलाड़ी चयनित, नरेंद्र, अनिरुद्ध और मनवीर को मिली जगह

चंडीगढ़ में मिनर्वा फुटबाल अकादमी के तीन खिलाड़ियों का चयन नेशनल कैंप में हुआ है। टीम इंडिया एशियन चैंपियनशिप में तीन जून को कतर के साथ सात जून को बांग्लादेश के साथ और 15 जून को अफगानिस्तान के साथ खेलेंगे। यह सभी मैच दोहा में आयोजित होंगे।

Vinay KumarTue, 25 May 2021 01:58 PM (IST)
चंडीगढ़ में मिनर्वा फुटबाल अकादमी के तीन ट्रेनी खिलाड़ी नेशनल कैंप में चयनित हुए हैं।

चंडीगढ़, जेएनएन। नेशनल कैंप में मिनर्वा फुटबाल अकादमी के तीन खिलाड़ियों का चयन हुआ है। फीफा वर्ल्ड कप कतर -2022 और एएफसी एशियन कप चीन -2023 में मिनर्वा फुटबाल अकादमी के यह तीनों खिलाड़ी खेल सकते हैं। मिनर्वा फुटबाल अकादमी के मालिक रंजीत बजाज ने बताया कि आल इंडिया फुटबाल फेडरेशन आफ इंडिया ने तीन बड़े टूर्नामेंट्स के लिए संभावित 28 खिलाड़ियों चयन करके इन्हें अभ्यास के लिए दोहा भेज दिया है। इन संभावित खिलाड़ियों में तीन मिनर्वा फुटबाल अकादमी के ट्रेनी है, जोकि हमारे लिए गर्व की बात है। उन्होंने बताया कि नरेंद्र गहलोत, अनिरुद्ध थापा और मनवीर सिंह को नेशनल कैंप में जगह मिली है। टीम इंडिया एशियन चैंपियनशिप में तीन जून को कतर के साथ, सात जून को बांग्लादेश के साथ और 15 जून को अफगानिस्तान के साथ खेलेंगे। यह सभी मैच दोहा में आयोजित होंगे।

यह हैं तीन संभावित खिलाड़ियों में शामिल

रंजीत बजाज ने बताया कि नरेंद्र गहलोत ने मिनर्वा की तरफ से अंडर-15 में खेलना शुरू किया था। वह मिनर्वा की उस टीम का हिस्सा थे, जिसने वर्ष 2016 में नाइकी प्रीमियर कप जीता था। इसके बाद वह साल 2017-18 में मिनर्वा की तरफ से अंडर -18 टीम में खेले। उन्होंने बताया कि मनवीर सिंह ने टीम की तरफ से तरफ से आईलीग में वर्ष 2015-16 में चार मैच खेल थे। मनवीर ने 25 मार्च को 2021 को ओमन के खिलाफ मैच में जो शानदार गोल दागा था, उसी गोल ने उन्हें एक बार फिर नेशनल टीम में जगह दिलाई है। इसके अलावा अनिरूद्ध थापा भी टीम में शामिल हैं। बजाज बताया कि मार्च में आयोजित नेशनल कैंप में अकादमी के एक अन्य फुटबॉलर जैक्सन सिंह भी कैंप में शामिल थे, लेकिन उन्हें इस बार संभावित 28 खिलाड़ियों में शामिल नहीं किया गया है।

86 नेशनल खिलाड़ी तैयार कर चुकी है मिनर्वा

रणजीत बजाज ने बताया कि मिनर्वा एकेडमी से 86 नेशनल खिलाड़ी निकल चुके हैं, जोकि अलग-अलग आयुवर्ग में देश के लिए खेलते हैं। फीफा वर्ल्ड अंडर -17 में कोलंबिया के खिलाफ एकेडमी के ट्रेनी खिलाड़ी जैक्सन सिंह ने देश के लिए पहला गोल किया था। नेपाल में आयोजित सेफ अंडर -15 चैंपियनशिप में एकेडमी के ट्रेनी हिमांशु जागड़ा ने सबसे ज्यादा गोल इस टूर्नामेंट में किए थे। गौरतलब है कि रणजीत बजाज खुद इंडियन अंडर -19 फुटबाल टीम के सदस्य रह चुके हैं, इसके अलावा उन्होंने एशियन स्कूल गेम्स में भी देश का प्रतिनिधित्व किया है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.