चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट से इस बार भी सर्दियों में बिगड़ेगा फ्लाइट्स का शेड्यूल, जानें क्या है वजह

चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Chandigarh Airport Chandigarh) पर लगातार यात्रियों की संख्या बढ़ती जा रही है। हजारों लोग चंडीगढ़ अंतराष्ट्रीय एयरपोर्ट से यात्रा के लिए रोजाना पहुंच रहे हैं। लेकिन हर बार की तरह इस बार भी सर्दियों में फ्लाइट्स का शेड्यूल बिगड़ने वाला है।

Ankesh ThakurMon, 27 Sep 2021 11:19 AM (IST)
चंडीगढ़ स्थित इंटरनेशनल एयरपोर्ट की फाइल फोटो।

विकास शर्मा, चंडीगढ़। चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Chandigarh Airport Chandigarh) पर लगातार यात्रियों की संख्या बढ़ती जा रही है। हजारों लोग चंडीगढ़ अंतराष्ट्रीय एयरपोर्ट से यात्रा के लिए रोजाना पहुंच रहे हैं। ऐसे में यात्री की बढ़ती संख्या को देखते हुए सिविल एविएशन मिनिस्ट्री, इंडियन एयरफोर्स और एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने वर्ष 2019 में रनवे पर आइएलएस कैट -3 इंस्टॉलेशन की बात कही थी। बावजूद इसके अभी तक इंस्ट्रूमेंट लैंडिंग सिस्टम कैट थ्री इंस्टॉल नहीं हो पाया है। कैट थ्री इंस्टॉलेशन की फाइल अभी भी दफ्तरों में घूम रही है। ऐसे में इस बार भी विंटर सीजन में चंडीगढ़ अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट में फ्लाइट्स का शेड्यूल बिगड़ना तय है। बता दें इंस्ट्रूमेंट लैंडिंग सिस्टम कैट थ्री का उपयोग फ्लाइट्स की लैंडिंग के समय में होता है और इसकी मदद से जीरो विजिबिलिटी पर फ्लाइट्स लैंड हो सकती है। 

चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर मौजूदा इंस्ट्रूमेंट लैंडिंग सिस्टम कैट- 2 के सहारे फ्लाइट्स का संचालन हो रहा है। कैट -टू की मदद से न्यूनतम 350 मीटर की विजिबिलिटी पर लैंडिंग हो सकती है। सामान्य दिनों में कैट – टू के सहारे फ्लाइट्स का संचालन में कोई दिक्कत नहीं होती है, लेकिन दिक्कत विंटर सीजन धुंध ज्यादा पड़ने की वजह से फ्लाइट का शेड्यूल बिगड़ जाता है। इस वजह से विमानन कंपनियों को खासा नुकसान होता है। विंटर सीजन में बार-बार होने वाली इस दिक्कत से परेशान विमानन कंपनियां हर साल सुबह -शाम के समय उड़ान भरने वाली अपनी फ्लाइट्स को रद्द कर देती हैं, ताकि यात्रियों को दिक्कत न हो।

तीन बार टली कैट थ्री इंस्टॉलेशन की डेडलाइन


कैट थ्री इंस्टॉलेशन के लिए एयरपोर्ट प्रबंधन ने बकायदा इसकी डेडलाइन भी तय कर दी गई थी। रनवे विस्तार का काम पूरा होने के साथ ही एयरपोर्ट प्रबंधन ने बताया था कि अक्टूबर 2019 तक कैट-3 इंस्टॉल कर दिया जाएगा। यह पहली डेडलाइन थी। दूसरी डेडलाइन दिसंबर 2019 दी गई। तीसरी डेडलाइन अक्टूबर 2020 दी गई। बावजूद इसके जमीनी हकीकत यह है कि अभी कैट -3 इंस्टालेशन का काम शुरू नहीं हो पाया है।

यह एयरपोर्ट प्रबंधन की दलील

 

चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट के जनसंपर्क अधिकारी प्रिंस ने बताया कि कैट थ्री इंस्टॉलेशन का अभी तक काम शुरू नहीं हो पाया है। दरअसल इसके इंस्टॉलेशन के एयरपोर्ट को छह महीने के लिए बंद करना पड़ेगा। जो काफी लंबा समय है, इसी वजह से इसके इंस्टॉलेशन में का काम शुरू नहीं हो पाया है। उन्होंने बताया कि अभी रनवे के पैरलल टैक्सी ट्रैक पर एप्रोच लाइट्स लगाई गई हैं। इनके लगने से एयरपोर्ट पर फ्लाइट्स लैंडिंग कैपेसिटी बढ़ेगी और फ्लाइट लैंड होते हैं सीधे स्टैंड पर चली जाएंगी। इससे तुरंत दूसरी फ्लाइट लैंड हो सकेगी। उन्होंने कहा कि एयरपोर्ट को विकसित करने का काम निरंतर चल रहा है। हमारी कोशिश है कि जल्द एयरपोर्ट पर कैट थ्री इंस्टॉल हो।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.