निगम कमिश्नर और मेयर के समक्ष खुला समस्याओं का पिटारा

शहर की समस्याओं पर सेक्टर-16 के गांधी स्मारक भवन में रविवार को क्राफ्ड की मीटिग हुई। इस मीटिग में मुख्य अतिथि के तौर पर मेयर रविकांत शर्मा और कमिश्नर अनिन्दिता मित्रा ने भाग लिया।

JagranMon, 27 Sep 2021 06:47 AM (IST)
निगम कमिश्नर और मेयर के समक्ष खुला समस्याओं का पिटारा

जासं, चंडीगढ़ : शहर की समस्याओं पर सेक्टर-16 के गांधी स्मारक भवन में रविवार को क्राफ्ड की मीटिग हुई। इस मीटिग में मुख्य अतिथि के तौर पर मेयर रविकांत शर्मा और कमिश्नर अनिन्दिता मित्रा ने भाग लिया। बैठक में अलग-अलग रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशनों के प्रतिनिधियों ने अपने अपने एरिया की समस्याओं से अवगत करवाया। इस मौके पर क्राफ्ड के चेयरमैन हितेश पुरीके नेतृत्व में कमिश्नर और मेयर को ज्ञापन भी सौंपा गया। इसमें डोर टू डोर गारबेज कलेक्शन में आ रही दिक्कत को प्रमुखता से अवगत कराया गया। इसके अलावा डड्डूमाजरा के डंपिग ग्राउंड में बढ़ रहे कचरे के पहाड़ के अलावा रेजिडेंट वेलफेयर द्वारा पार्को के रखरखाव के लिए दी जाने वाली राशि में बढ़ोतरी की मांग की गई। कई लोगों ने यह भी कहा कि समय पर इस राशि का भुगतान एसोसिएशनों को नहीं होता है।

मुख्य प्रवक्ता डा. अनीश गर्ग ने कहा कि नगर निगम अगर चाहे तो शहर में रेहड़ी फड़ियों का अतिक्रमण जड़ से खत्म कर सकता है। इसके लिए अतिक्रमण हटाओ दस्ते के कर्मचारियों की जवाबदेही तय करनी होगी। पानी- बिजली की समस्याओं के लिए सिगल विडो की व्यवस्था हो

महासचिव रजत मल्होत्रा ने कहा कि शहर में साप्ताहिक लगने वाली सब्जी मंडियों की जगह को पक्का करना चाहिए ताकि बरसात में उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना ना करना पड़े। और शहर की पानी बिजली की समस्याओं को लेकर सिगल विडो की व्यवस्था होनी चाहिए, ताकि लोगों को इधर-उधर ना भटकना पड़े। वाइस चेयरमैन सुरेंद्र शर्मा ने मेयर के समक्ष यह प्रस्ताव रखा कि पार्षदों को अपने स्थानीय लोगों की समस्याओं को सुनने और सुलझाने के लिए समय निकालना चाहिए। लोगों की सहभागिता से होगा समस्याओं का निदान : कमिश्नर

सारी समस्याओं को सुनने के बाद कमिश्नर अनिन्दिता मित्रा ने कहा कि आप सब की समस्याएं अपने स्तर पर उचित हैं और हम भी इस दिशा में लगातार प्रयासरत हैं और आने वाले दिनों में आपको इसके परिणाम देखने को मिलेंगे, लेकिन मानना है की जनता की सहभागिता से यह सारी समस्याएं बहुत जल्दी खत्म हो सकती हैं। गारबेज कलेक्शन सिस्टम की पूरे देश में हो रही प्रंशसा : मेयर

मेयर रविकांत ने कहा कि हो सकता है कि कहीं-कहीं पर गारबेज कलेक्शन को लेकर कोई समस्या आ रही हो, लेकिन नगर निगम के इस सिस्टम की पूरे भारत में प्रशंसा हो रही है। शुरुआत में कुछ समस्याएं आती हैं। लेकिन समय के साथ-साथ उनका निदान होता चला जाता है। उन्होंने यह भी कहा कि नगर निगम की ग्रांट केंद्र सरकार ने बढ़ाकर 700 करोड़ कर दी है, जिससे शहर की बहुत सारी समस्याओं का समाधान हो जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि हाउस की आने वाली मीटिग में आरडब्ल्यूए के द्वारा रखरखाव किए जा रहे पार्कों का शुल्क भी बढ़ाया जाएगा और एनजीटी से लंबी लड़ाई के बाद गारबेज प्रोसेसिग प्लांट नगर निगम के अधीन आ चुका है और अब इस दिशा में आपको बड़ा परिवर्तन देखने को जल्द मिलेगा। उन्होंने कहा कि सूखे कूड़े से बिजली उत्पादन के लिए आइआइटी रोपड़ से प्रोजेक्ट तैयार करवाया जा रहा है और नवंबर महीने से इस प्रोजेक्ट पर काम होना शुरू हो जाएगा। उन्होंने बताया कि दिसंबर में एक कॉल सेंटर स्थापित भी किया जा रहा है। जिसमें सभी समस्याओं का समाधान एक ही जगह पर होगा। उन्होंने कहा कि क्राफ्ड शहर के हित और विकास के लिए बहुत सक्रियता से काम कर रही है और नगर निगम का उनके साथ पूरा सहयोग रहेगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.