चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव को बचे छह महीने, वार्ड पार्षदों ने चुनाव जीतने के लिए बनाई रणनीति

चंडीगढ़ नगर निगम कार्यालय की फाइल फोटो।

चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव के लिए सिर्फ छह महीने का समय बचा है। दिसंबर माह में चुनाव होने हैं। ऐसे में हर वार्ड पार्षद फिर से चुनाव जीतने के लिए प्रयास कर रहा हैं। इसके लिए हर वार्ड पार्षद ने रणनीति बना ली है।

Ankesh KumarSat, 10 Apr 2021 10:56 AM (IST)

चंडीगढ़, जेएनएन। चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव को सिर्फ छह महीने का समय बचा है। ऐसे में हर वार्ड पार्षद फिर से चुनाव जीतने के लिए प्रयास कर रहा हैं। इसके लिए हर वार्ड पार्षद ने रणनीति बना ली है। वार्ड पार्षद इन छह महीनों में अधिक से अधिक काम करवाना चाहते हैं। इसलिए दो दिन पहले जो सलाहकार मनोज परीदा के साथ भी मीटिंग हुई उसमें पार्षदों ने दिल खोलकर काम बताए और सलाहकार ने भी आश्वासन दिया कि बिना किसी देरी से विकास के काम किए जाएंगे।

वार्ड नंबर 20 के पार्षद शक्ति प्रकाश देवशाली ने प्रशासक के सलाहकार, महापौर, निगम आयुक्त और प्रशासनिक एवं नगर निगम अधिकारियों की संयुक्त बैठक में अपने वार्ड के विभिन्न विषयों को उठाते हुए कम्युनिटी सेंटर के साथ खाली जगह कम्युनिटी सेंटर के विस्तार के लिए मांगी, जिसके लिए सलाहकार ने तुरंत सहमति दे दी।

उन्होंने औद्योगिक क्षेत्र और सेक्टर-29 में प्रशासन की खाली जमीन को व्यवस्थित करने की मांग की। इसके अतिरिक्त एमडब्ल्यू और इंडस्ट्रियल एरिया में खाली प्लाटों पर किए गए अवैध कब्जे हटाने की मांग की। उन्होंने सेक्टर-29सी में खाली पड़े शोरूम के प्लाटों के स्थान को विकसित और नीलामी की प्रक्रिया शुरू करने की मांग की। सेक्टर-29 स्थित ईएसआइ डिस्पेंसरी को सिविल हॉस्पिटल बनाने की मांग की लेकिन इस पर अधिकारियों ने असमर्थता व्यक्त की। सलाहकार मनोज परिदा ने सेक्टर 29 में अन्य उपयुक्त स्थान का सर्वे करने के लिए प्रशासन के चीफ आर्किटेक्ट और चीफ इंजीनियर को वैकल्पिक स्थान ढूंढने के लिए कहा।

देवशाली ने सेक्टर-29 में स्थित टेनामेंट मकानों के बीच बने कॉमन पैसेज और सीढ़ियों की भी मरम्मत करने की मांग की, जिसके लिए संबंधित अधिकारियों को मौके का निरीक्षण कर रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया। उन्होंने सेक्टर 29 स्थित साईं धाम के बाहर गाड़ियों के अव्यवस्थित तरीके से खड़े किए जाने के कारण विशेषकर बुजुर्गों को हो रही समस्या से भी अवगत कराया, जिसके लिए चंडीगढ़ पुलिस के अधिकारियों को भी मौके का निरीक्षण कर समाधान करने के आदेश दिए गए।

देवशाली ने प्रशासक के सलाहकार मनोज परिदा से पूरे शहर की इंटरसेक्शन रोड पर लगने वाले जाम को मुद्दा भी उठाया और कहा कि इसके लिए कोई व्यवस्था की जाए चाहे ओवरब्रिज या अंडरब्रिज बनाकर इस समस्या का समाधान हो सके। सलाहकार ने तुरंत चीफ इंजीनियर को पूरे शहर को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए अत्याधुनिक तकनीक से कोई ठोस योजना बनाने को कहा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.