Mohali: खरड़ परिषद अध्यक्ष चुनाव में हंगामा, एसडीएम पर हमले की कोशिश, पार्षदों ने ली शपथ

खरड़ नगर परिषद कार्यालय के बाहर उमड़ी भीड़।

मोहाली के खरड़ नगर परिषद कार्यालय में सोमवार को खूब हंगामा हुआ। दरअसल यहां अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होना था। चुनाव प्रक्रिया करवा रहे एसडीएम हिमांशू जैन पर पार्षदों ने कुर्सी से हमला करने की कोशिश की। इसके बाद चुनाव स्थगित कर दिया गया।

Ankesh ThakurMon, 19 Apr 2021 02:15 PM (IST)

खरड़/मोहाली, [रोहित कुमार]। मोहाली के खरड़ नगर परिषद कार्यालय में सोमवार को खूब हंगामा हुआ। दरअसल यहां अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होना था। चुनाव प्रक्रिया करवा रहे एसडीएम हिमांशू जैन पर पार्षदों ने कुर्सी से हमला करने की कोशिश की। इसके बाद चुनाव स्थगित कर दिया गया। अब चुनाव आगामी तीन मई को होगा।

शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने अध्यक्ष पद के लिए अपना दावा पेश किया है। करीब 15 अकाली पार्षद एक ही ड्रेस में श्री आनंदपुर साहिब से पूर्व सांसद प्रेम सिंह चंदूमाजरा, अकाली दल के खरड़ से प्रत्याशी रहे रणजीत सिंह गिल के नेतृत्व में परिषद कार्यालय पहुंचे। चुनाव को लेकर चार प्रस्ताव थे। सबसे पहले पार्षदों को शपथ दिलवाई जानी थी। इसके बाद अध्यक्ष पद का चुनाव होना था। एसडीएम खरड़ हिमांशू जैन ने बताया कि जैसे ही पार्षदों का शपथ ग्रहण समारोह खत्म हुआ। एक ग्रुप ने उनपर हमला करने की कोशिश की। उन्हें मारने के लिए कुर्सी तक उठा ली, जिसके बाद चुनाव रद किया गया।

खरड़ नगर परिषद का चुनाव दो माह बाद हो रहा था। मोहाली नगर निगम सहित सात नगर परिषदों के चुनाव के नतीजे बीते 17 फरवरी को घोषित किए गए थे। सात में से दो नगर परिषदों में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला था। नयागांव व खरड़ नगर परिषद में सबसे ज्यादा सीटें अकाली दल ने जीती हैं। जीरकपुर, डेराबस्सी, कुराली, बनूड़ नगर परिषद में अध्यक्ष चुने जा चुके हैं। जबकि बाकी में प्रक्रिया चल रही है।

चंदूमाजरा ने कांग्रेस पर लगाया आरोप

उधर पूर्व सांसद सदस्य प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने कहा कि ये पूरी तरह से लोकतंत्र की हत्या है। कांग्रेस ये बर्दाश्त नहीं कर रही कि जनता ने जो फैसला लिया है वे उनके पक्ष में नहीं है। इसलिए इस तरह की धक्केशाही सत्ताधारी कांग्रेस की ओर से की जा रही है। चंदूमाजरा ने कहा कि कांग्रेस आजाद पार्षदों को अपनी ओर करना चाह रही जोकि शिअद को अपना समर्थन दे चुके हैं। लेकिन जो कांग्रेस चाह रही है वो नहीं होगा।

चुनाव के दौरान हो रही थी वीडियोग्राफी

वहीं चुनाव के दौरान कोरोना बचाव नियमों की जमकर धज्जियां उड़ी। न समर्थकों ने मास्क पहन रखे थे न कोई शारिरिक दूरी थी। अधिकारियों से लेकर सब परेशान थे कि हो क्या रहा है। समर्थकों को समझाया जा रहा था लेकिन कोई समझने को तैयार नहीं था। खरड़ नगर परिषद के बाहर समर्थकों की भारी भीड़ लगी हुई थी।

चुनाव के दौरान मीडिया को अंदर जाने की अनुमति नहीं थी। पार्षदों के अलावा कोई भी अंदर नहीं जा सकता था। ऐसे में हमला किस ने किया ये एसडीएम नहीं बता सके। एसडीएम हिमांशू जैन ने कहा कि अंदर वीडियोग्राफी हो रही थी। जोकि डीएसपी खरड़ को सौंपी जाएगी। जो भी हमले में शामिल थे उन पर मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.