पंजाब कांग्रेस प्रभारी ने कहा- कैप्टन अमरिंदर पर हमला नहीं करेगी पार्टी, विधायक व मंत्री नहीं देंगे खिलाफ बयान

पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश चौधरी ने कहा है कि पूर्व मुख्‍यमंत्री अमरिंंदर सिंह के हमले के बावजूद पार्टी उन पर हमला नहीं करेगी। उन्‍होंने पंजाब के मंत्रियाेंं और कांग्रेस विधायकों से कहा है कि वे कैप्‍टन अमरिंदर के खिलाफ बयान न दें।

Sunil Kumar JhaWed, 03 Nov 2021 09:06 AM (IST)
पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश चौधरी और पूर्व सीएम कैप्‍टन अमरिंदर सिंह। (फाइल फोटो)

चंडीगढ़, [कैलाश नाथ]। पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की ओर से अपनी पार्टी बनाने की घोषणा के बाद कांग्रेस ने 2022 के चुनाव को लेकर के हुंकार भरी है। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू के साथ केदारनाथ के दर्शन कर चंडीगढ़ लौटे कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी हरीश चौधरी ने पंजाब भवन में कांग्रेस विधायकों के साथ बैठक की। बैठक में चौधरी ने स्पष्ट कर दिया कि कांग्रेस के मंत्री और विधायक कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ कुछ नहीं बोलेंगे। वहीं प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि वह अब 2022 के चुनाव को लेकर के तैयार हैं और पार्टी एकजुट होकर के चुनाव लड़ेगी।

सीएम चरणजीत सिंह  चन्नी ने कहा, पेट्रोल और डीजल के दाम भी कम करेगी सरकार

इसी दौरान मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने भी इस बात के भी संकेत दिए कि आने वाले समय में सरकार पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी कम कर सकती है। उन्होंने विधायकों को भरोसा दिया कि बिजली दरों में कटौती और लाल डोरा जैसे मुद्दों पर फैसला लेने के अलावा पार्टी आने वाले समय में कई और महत्वपूर्ण फैसले लेने जा रही है। जिसमें पेट्रोल और डीजल की कीमत को कम करना भी शामिल है।

हरीश चौधरी ने पार्टी विधायकों को स्पष्ट रुप से कहा कि वह कैप्टन के खिलाफ बयानबाजी न करें। इसके साथ ही अब वह चंडीगढ़ की दौड़ लगाने के बजाय अपने-अपने हलके में समय दें। चौधरी ने कहा कि हलके की रिपोर्ट के आधार पर ही विधायकों को टिकटों का वितरण किया जाएगा। इसलिए बेहतर है कि वह अपने हलके में रहकर लोगों की समस्याएं सुनें और उन्हें हल करें। चौधरी ने यह भी कहा कि विधायक सप्ताह में एक दिन चंडीगढ़ आएं, इस दौरान उन्हें मुख्यमंत्री, प्रदेश अध्यक्ष और वह खुद मिल लेंगे।

सिद्धू बोले, 2022 के चुनाव के लिए तैयार, पार्टी एकजुट होकर लड़ेगी

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि वह चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार हैं और पार्टी विधायकों की तरफ से उन्हें जब भी बुलाया जाएगा वह उनके क्षेत्र में पहुंच जाएंगे। अहम बात यह रही कि सिद्धू ने चन्नी के खिलाफ न तो कुछ बोला और ना ही कोई बात उठाई। करीब दो घंटे तक चली बैठक में विधायकों को इस कारण बोलने का मौका नहीं दिया गया कि अगर वह कुछ बोलते हैं तो मीडिया में बातें उठ जाती हैं। बैठक में कैबिनेट मंत्री अमरिंदर सिंह राजा वडिंग, गुरकीरत कोटली, रजिया सुल्ताना, काका रणदीप सिंह नाभा सहित 35 से ज्यादा विधायक मौजूद थे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.