चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा- मैं मुख्यमंत्री पद का दावेदार नहीं, 60 दिनों का रिपोर्ट कार्ड किया पेश

पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने वीरवार को अपना रिपोर्ट कार्ड पेश किया। इस दौरान चन्नी ने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। साथ ही चन्नी ने कहा कि वह आने वाले चुनाव में सीएम पद के दावेदार नहीं हैं।

Kamlesh BhattThu, 02 Dec 2021 03:23 PM (IST)
पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी की फाइल फोटो।

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा है कि वह आने वाले विधानसभा चुनाव के लिए मुख्यमंत्री पद के दावेदार नहीं हैं। उन्होंने कहा कि वह पहले भी कभी इस पद के उम्मीदवार नहीं थे। पार्टी ने जो जिम्मेदारी सौंपी उसी को जिम्मेदारी से निभा रहे हैं और पहले भी निभाते रहे हैं। मुख्यमंत्री अपनी सरकार के साठ दिनों के कार्यकाल के साठ फैसलों को मीडिया के सामने रखते हुए अपना रिपोर्ट कार्ड रख रहे थे।

उनके पूरे भाषण में उनके ऐलानों का फोकस आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल के दावों और वादों पर था। चन्नी को जहां भी मौका मिला उन्होंने केजरीवाल के आरोपों और सवालों का नोटिफिकेशनों के जरिए जवाब दिया और कई सवाल भी उनके सामने रखे। मुख्यमंत्री ने एक सवाल के जवाब में कहा कि उन्होंने कभी भी यह नहीं सोचा था कि वह एक दिन मुख्यमंत्री बनेंगे, लेकिन जब से उन्होंने राजनीति शुरू की है, उसमें बेशक वह खरड़ म्युनिसिपल कमेटी के प्रधान रहे हों या फिर विधायक या फिर विपक्ष के नेता। उन्होंने अपने हर काम को तनदेही से निभाया है।

चन्नी ने कहा कि पार्टी ने मुख्यमंत्री के रूप में उन्हें पंजाब की सेवा करने की जिम्मेदारी सौंपी तो उन्होंने अपने अल्प से कार्यकाल में साठ के लगभग फैसले किए हैं और कई लोग दिल्ली से आकर कह रहे हैं कि मैं केवल ऐलान कर रहा हूं। चन्नी ने कहा, आज मैं अपने हर फैसले के साथ नोटिफिकेशन, बनाए गए कानून और जारी किए आदेशों की कापी साथ लाया हूं।

बता दें, आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने पिछले दिनों दिल्ली में तीन सौ यूनिट मुफ्त बिजली देने वाले बिल दिल्ली से लेकर आए थे और चरणजीत सिंह चन्नी को चुनौती दी थी कि वह एक भी बिल दिखाए जिसका बिल जीरो आया हो। इसका जवाब देते हुए आज चन्नी ने कई बिल दिखाए और कहा कि ऐसे बिलों की संख्या लाखों में है, लेकिन वह कागज बर्बाद करने के चलते सभी बिल नहीं लाए, पर अगर किसी को शक है तो सरकार के आदेशों को देख सकता है।

उन्होंने कहा कि तीन रुपये बिजली प्रति यूनिट कम करने से पंजाब में सबसे सस्ती बिजली मिल रही है। यह एक नवंबर से सस्ती होगी जो भी बिल जनवरी में आएगा वह सस्ती दर वाला आएगा। तीन कृषि कानूनों की वापसी के बाद मुख्यमंत्री ने अब एमएसपी की गारंटी लेने के लिए अड़े हुए संयुक्त मोर्चा के किसानों से कहा कि एमएसपी की गारंटी के साथ साथ सभी फसलों की खरीद को यकीनी बनवाने पर काम करें।

उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने एमएसपी की गारंटी दे दी, लेकिन खरीद की गारंटी नहीं दी तो भी किसानों का नुकसान होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने केंद्र सरकार से किसानों का कर्ज माफ करने संबंधी कोई योजना तैयार करने को कहा है। यह केंद्र और राज्य के भागीदारी वाली हो सकती है। मुख्यमंत्री ने बिजली, रेत और पेट्रोल आदि सस्ते करने के फैसलों के अलावा बेघरों को प्लाट देने जैसे अपने साठ फैसलों को मीडिया के सामने रखा।

केजरीवाल को काले अंग्रेज कहने संबंधी पूछे एक सवाल पर चन्नी ने कहा कि उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया, लेकिन अगर ये अपने ऊपर क्यों ले रहे हैं। नशे के मामलों को उन्होंने सार्वजनिक जगहों पर बोलने से परहेज करने को कहा। उन्होंने कहा कि इसका असर कोर्ट पर पड़ता है।

बाहरी राज्यों से पंजाब पुलिस में मर्ज किए कर्मचारियों की होगी छुट्टी

2013 से लेकर अब तक जितने भी पुलिस कर्मियों को पैरा मिलिट्री फोर्स से पंजाब पुलिस में मर्ज किया गया है, उनकी छुट्टी होगी। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि उन्होंने इस संबंधी फाइल मंगवा ली है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.