पुसा और सी क्लास एसो. के चुनाव स्थगित

पंजाब यूनिवर्सिटी नॉन टीचिग स्टाफ एसोसिएशन(पुसा) और पंजाब यूनिवर्सिटी सी क्लास एसोसिएशन(पीयूसीसीएसए) की नई कार्यकारिणी के लिए 22 अप्रैल को प्रस्तावित चुनावों को स्थागित करने का फैसला लिया है ।

JagranPublish:Wed, 21 Apr 2021 07:43 AM (IST) Updated:Wed, 21 Apr 2021 07:43 AM (IST)
पुसा और सी क्लास एसो. के चुनाव स्थगित
पुसा और सी क्लास एसो. के चुनाव स्थगित

जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ :

पंजाब यूनिवर्सिटी नॉन टीचिग स्टाफ एसोसिएशन(पुसा) और पंजाब यूनिवर्सिटी सी क्लास एसोसिएशन(पीयूसीसीएसए) की नई कार्यकारिणी के लिए 22 अप्रैल को प्रस्तावित चुनावों को स्थागित करने का फैसला लिया है । पीयू रजिस्ट्रार की ओर से इस संबंध में शाम को नोटिस भी जारी कर दिया। चुनाव को ेलेकर बीते कई दिनों से पीयू प्रशासन और चुनाव मैदान में खड़े उम्मीदवारों के बीच चुनाव कराने या नहीं कराने को लेकर काफी विवाद चल रहा था । आखिर मंगलवार को पीयू प्रशासन ने चंडीगढ़ प्रशासन की ओर से कोविड-19 को लेकर जारी नई गाइडलाइन का हवाला देते हुए मतदान को अगले आदेशों के लिए स्थगित कर दिया है। चुनाव मैदान में खड़े कुछ उम्मीदवारों ने पीयू प्रशासन के फैसले का समर्थन किया तो कुछ ने विरोध जताया है। पुसा और पीयूसीसीए की 2021-22 सत्र की नई कार्यकारिणी के लिए पहले सात अप्रैल को मतदान प्रस्तावित था, जिसे रद्द कर दिया गया । यूटी प्रशासन से अनुमति के बाद पीयू ने दूसरी बार 22 अप्रैल चुनाव की नई तिथि घोषित कर दी गई। पुसा चुनाव में 1024 और सी क्लास एसोसिएशन चुनाव में 538 वोटर ने मतदान में हिस्सा लेना था। बाक्स .

रजिस्ट्रार ने सभी उम्मीदवारों की बुलाई मीटिग

पुसा चुनाव स्थगित करने से पहले पीयू प्रशासन की ओर से सभी कैंडिडेट्स की दोपहर बाद बैठक बुलाई गई। पीयू रजिस्ट्रार के सामने प्रधान और दूसरे पद पर चुनाव लड़ने वाले सभी कैंडिडेट्स से उनसे चुनाव स्थगित करने को लेकर लिखित में प्रस्ताव मांगा। पुसा की और से प्रेसिडेंट पद के उम्मीदवार हनी ठाकुर ने चुनाव कराने का समर्थन किया। लेकिन प्रधान पद के अन्य उम्मीदवार डॉ.एसएस मान, डॉ. सुशील शर्मा ने चुनाव स्थगित करने का समर्थन किया। इस मामले को लेकर बैठक में काफी देर कहासुनी भी हुई। अंत में रजिस्ट्रार की ओर से सभी के सुझावों के बाद पुसा और सी क्लास एसोसिएशन के चुनाव स्थागित करने का फैसला लिया गया। सीनेट चुनाव पर भी संकट, फैसला कोर्ट से ही

पुसा और पीयू सी क्लास एसोसिएशन चुनाव स्थगित होने के बाद अब पीयू सीनेट चुनाव पर भी संकट गहरा गया है। पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट के निर्देशों के बाद पीयू प्रशासन ने 26 अप्रैल से 16 मार्च तक सीनेट की विभिन्न फैकल्टी के लिए मतदान का शेड्यूल पहले ही जारी कर दिया है। लेकिन कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों के बाद अब सीनेट चुनाव का शेड्यूल भी बदल सकता है। उधर पीयू सूत्रों के कहना है कि पंजाब यूनिवर्सिटी सीनेट चुनाव टालने पर आसानी से फैसला नहीं ले सकती। हाईकोर्ट ने दो महीने के भीतर सीनेट चुनाव संपन्न करने के निर्देश जारी किए हैं। ऐसे में सीनेट फैकल्टी चुनाव स्थगित करने के लिए पीयू प्रशासन को अब कोर्ट से अनुमति लेनी पड़ेगी। उधर पीयू अधिकारियों का कहना है कि पुसा और सी क्लास एसोसिएशन चुनाव में 1500 से अधिक वोटर होने के कारण चुनाव को स्थगित करना पड़ा है। जबकि सीनेट के 26 अप्रैल को प्रस्तावित फैकल्टी चुनाव में 150 से 200 मतदाता होंगे। पीयू प्रशासन ने मतदान के लिए पहली बार छह मतदान केंद्र बनाए हैं, जबकि बीते सालों में सिर्फ सीनेट हाल में एक ही मतदान केंद्र बनता था। उधर मामले में एक दो दिन में पीयू उच्च अधिकारियों की सीनेट चुनाव को लेकर आपात बैठक बुलाने की तैयारी है। जिसमें मतदान को लेकर आगे की राणनीति तैयार होगी। पुसा और पीयू सी क्लास एसोसिएशन का चुनाव यूटी प्रशासन की कोविड-19 को लेकर जारी नई गाइडलाइन जारी होने के कारण स्थगित किया गया है। फैसला लेने से पहले सभी पक्षों से उनका पक्ष सुना गया है। अधिकतर कैंडिडेट्स ने चुनाव स्थगित करने की लिखित में मांग की है। चुनाव की नई तिथि बाद में हालात देखकर घोषित की जाएगी। सीनेट चुनाव को स्थगित करने को लेकर किसी तरह का कोई फैसला नहीं लिया गया है।

- विक्रम नैयर, एफडीओ कम रजिस्ट्रार पंजाब यूनिवर्सिटी