पंजाब में धान की खरीद आज से, कृषि विधेयकों के खिलाफ धरना दे रहे किसान रेलट्रैक से हटे

पंजाब के बरनाला में रेलवे ट्रैक से टेंट हटाते किसान।
Publish Date:Sun, 27 Sep 2020 06:00 AM (IST) Author: Sunil Kumar Jha

चंडीगढ़/जालंधर, जेएनएन। कृषि विधेयकों के खिलाफ पंजाब में चल रहे किसान आंदोलन के बीच केंद्र सरकार ने धान की खरीद पांच दिन पहले यानी 26 सितंबर से ही शुरू करने को मंजूरी दे दी है। केंद्र की मंजूरी के बाद पंजाब सरकार ने 27 सितंबर से धान खरीद शुरू करने के आदेश जारी कर दिए हैं। आज से मंडियों में खरीद शुरू हो जाएगी। दिलचस्प बात यह रही कि पंजाब सरकार ने ऐसी कोई मांग नहीं की थी।  वहीं, शनिवार शाम को पंजाब के ज्यादातर जिलों में रेल ट्रैक पर बैठे किसानों ने अपना धरना खत्म कर दिया। अब सिर्फ फिरोजपुर और अमृतसर में ही पक्का मोर्चा जारी रहेगा।

अमृतसर व फिरोजपुर में पक्का मोर्चा जारी, 28 को संगरूर में रणनीति बनाएंगे किसान

भारतीय किसान यूनियन उगराहां के प्रदेश अध्यक्ष जोगिंदर सिंह उगराहां ने कहा, 'हमने 24 से 26 सितंबर तक रेल रोको आंदोलन का एलान किया था, जिसे शनिवार को खत्म कर दिया। 1 अक्टूबर से दोबारा अनिश्चितकालीन रेल रोको आंदोलन करेंगे। गांव-गांव जाकर पक्के मोर्चे के लिए राशन इकट्ठा करेंगे।' आगे की रणनीति के लिए 28 सितंबर को शहीद भगत सिंह के जन्मदिवस पर संगरूर के लोंगोवाल में 31 किसान संगठनों की बैठक होगी।

अमृतसर में प्रदर्शन करते किसान।

अमृतसर में किसानों का अर्द्धनग्न होकर प्रदर्शन

किसान मजदूर संघर्ष कमेटी पंजाब का कृषि विधेयकों के विरोध में जारी रेल रोको आंदोलन शनिवार को तीसरे दिन में प्रवेश कर गया। अमृतसर के गांव देवीदासपुरा में रेल ट्रैक पर किसानों ने अर्द्धनग्न होकर प्रदर्शन किया। यहां धरना 29 सितंबर तक जारी रहेगा। तरनतारन में खेमकरण हलके के विधायक सुखपाल सिंह भुल्लर ने 500 ट्रैक्टरों के साथ रोष मार्च निकाला।

वहीं, फाजिल्का के अबोहर में भाजपा के एससी मोर्चा के जिला अध्यक्ष धर्मवीर मलकट ने कृषि विधेयक के विरोध में अपने पद से इस्तीफा दे दिया। बठिंडा में भारतीय किसान यूनियन उगाराहां के प्रदेश महासचिव सुखदेव सिंह कोकरी कलां ने कहा, अगर भाजपा नेता गांव में घुसे तो, उनका विरोध किया जाएगा।

पंजाब में आज भी बंद रहेंगी ट्रेनें

दूसरी ओर रेलवे ने 27 सितंबर को भी ट्रेनें न चलाने का निर्णय लिया है। रविवार की स्थिति के आकलन के बाद ही ट्रेनें चलाने पर विचार किया जाएगा। फिरोजपुर मंडल ने 24 सितंबर से ही 14 ट्रेनों की आवाजाही रोक दी थी। फिरोजपुर मंडल के सीनियर डिवीजनल ऑपरेटिंग मैनेजर (डीओएस) सुधीर कुमार ने बताया कि हेडक्वार्टर से ट्रेनें न चलाने के आदेश हैं।

करोड़ों का नुकसान, अमृतसर में 20 लाख रिफंड

ट्रेनें न चलने से तीन दिन में रेलवे को करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ है। सिर्फ मोगा स्टेशन को ही 1.30 करोड़ और अमृतसर को डेढ़ करोड़ का नुकसान हुआ है। यहां 20 लाख रुपये यात्रियों को रिफंड किए गए हैं।

कांग्रेसी सरपंच व आढ़ती से दुखी किसान ने की खुदकुशी

अमृतसर के गांव हर्षा छीना में किसान रंजीत सिंह ने शनिवार को खुदकुशी कर ली। पुलिस ने वरनाली गांव के कांग्रेस सरपंच व आढ़ती यूनियन के उपाध्यक्ष सतिंदरपाल सिंह और आढ़ती  जगरूप सिंह के खिलाफ केस दर्ज किया है। 40 वर्षीय रंजीत सिंह ने चार लाख का कर्ज चुका दिया था, फिर भी आढ़ती उसे परेशान करते थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.