पंजाब कांग्रेस व सरकार में ड्रग मामले पर गरमाई सियासत, नवजोत सिद्धू ने अब डिप्टी सीएम रंधावा को लिया आड़े हाथ

पंजाब में नशे की रिपोर्ट के मामले को लेकर सरकार व कांग्रेस संगठन के बीच सियासत गरमा गई है। भूखहड़ताल की धमकी दे चुके नवजोत सिंह सिद्धू ने अब डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा को आड़े हाथ लिया है।

Kamlesh BhattSun, 28 Nov 2021 07:22 PM (IST)
नवजोत सिंह सिद्धू व सुखजिंदर सिंह रंधावा की फाइल फोटो।

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। एसटीएफ की रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं करने पर भूखहड़ताल पर बैठने की धमकी दे चुके पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने अब उप मुख्यमंत्री व गृह विभाग देख रहे सुखजिंदर सिंह रंधावा को आड़े हाथों लिया है। रंधावा द्वारा एसटीएफ की रिपोर्ट को लेकर मुख्यमंत्री सचिव के नेतृत्व में बनाई गई तीन सदस्यीय कमेटी को लेकर सिद्धू ने ट्वीट किया। सिद्धू ने लिखा, हाई कोर्ट से गुहार क्यों, जब कोर्ट ने निर्देश दिया था कि आप लीड लें और रिपोर्ट खोलें... रिपोर्ट में कुछ नहीं है तो कैप्टन को जवाबदेह होने दें, अगर कुछ है तो तुरंत कार्रवाई करें।

पंजाब में ड्रग्स तस्करों पर कार्रवाई करने का मामला लगातार राजनीतिक रूप लेता जा रहा है। नवजोत सिंह सिद्धू लगातार ड्रग्स मामले को लेकर एसटीएफ द्वारा हाई कोर्ट को दी गई सीलबंद रिपोर्ट को खोलने को लेकर पंजाब सरकार पर दबाव बना रहे हैं। सिद्धू का कहना है कि कोर्ट ने पंजाब सरकार को इस रिपोर्ट की कापी सौंपी है। हाई कोर्ट ने कहीं पर भी इस रिपोर्ट को सार्वजनिक करने से नहीं रोका है। इसी क्रम में पिछले दिनों सिद्धू ने घोषणा कर दी कि अगर सरकार इस रिपोर्ट को सार्वजनिक नहीं करती है तो वह भूखहड़ताल पर बैठेंगे।

सिद्धू की इस घोषणा से पंजाब सरकार के हाथ-पांव फूल गए। गृह मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने मुख्य सचिव अनिरुद्ध तिवारी की अगुवाई में तीन सदस्यीय कमेटी का गठन कर दिया। जिसमें प्रिंसिपल सेक्रेटरी (गृह) और डीजीपी भी शामिल हैं।

कमेटी इन चार बिंदुओं की करेगी जांच

हाई कोर्ट को सीलबंद रिपोर्ट सौंपने के बाद एसटीएफ ने ड्रग्स मामले में काम करना बंद कर दिया, उसे किसने रोका था? पटियाला और फतेहगढ़ साहिब के ड्रग्स मामलों को एसटीएफ ने टेकओवर क्यों नहीं किया? गृह विभाग द्वारा एसटीएफ को बार-बार पत्र जारी करने के बावजूद ड्रग्स मामले में उन्होंने कोई जवाब क्यों नहीं दिया? एजी दफ्तर ने एसटीएफ की रिपोर्ट हाईकोर्ट में जाने के बाद उसे खुलवाने के लिए क्यों नहीं प्रयास किए?

सिद्धू ने पूछा हाई कोर्ट से गुहार क्यों?

गृह मंत्री द्वारा कमेटी बनाने पर सिद्धू ने सवाल खड़े कर दिए हैं। कहा कि रिपोर्ट खोलने के लिए हाई कोर्ट से गुहार क्यों। सिद्धू ने सीधे-सीधे गृह मंत्री को भी लपेटा है। वहीं, सुखजिंदर सिंह रंधावा का कहना है कि एसआइटी की रिपोर्ट को सार्वजनिक करने पर हाई कोर्ट ने कोई रोक नहीं लगाई है, इसका जवाब तो सिद्धू ही दे सकते हैं। मैंने कमेटी बनाई है। एक सप्ताह में इसकी रिपोर्ट आ जाएगी। इस रिपोर्ट के आने के बाद काफी हद तक तस्वीर स्पष्ट हो जाएगी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.