पंचकूला में युवक की निर्मम हत्या की गुत्थी 24 घंटे में सुलझी, पुलिस के हत्थे चढ़े दो हमलावर

पंचकूला पुलिस ने एक दिन पहले रिंकू उर्फ हरविंदर की हत्या के मामले में दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। उनके नाम रवींद्र बीन पुत्र सुभाष वासी फतेहगढ थाना जुलाना जिला जींद और मनीष उर्फ छोटा बहादुर हैं।

Pankaj DwivediTue, 28 Sep 2021 04:36 PM (IST)
पंचकूला के रिंकू हत्याकांड के बारे में जानकारी देते हुए पुलिस अधिकारी। वीडियो ग्रैब

जागरण संवाददाता, पंचकूला। माजरी चौक के पास युवक की हत्या के मामले में पंचकूला पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। 24 घंटे बाद पुलिस ने दो आरोपित गिरफ्तार कर लिए हैं। पंचकूला के एसीपी सतीश कुमार ने बताया कि पुलिस ने गहन जांच करते हुए दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌ आरोपित रवींद्र बीन पुत्र सुभाष वासी फतेहगढ थाना जुलाना जिला जींद हाल निवासी खडक मगोंली जिला पंचकूला एवं मनीष उर्फ छोटा बहादुर पुत्र जगबीर सिह वासी खडक मंगोली जिला पंचकूला को रिंकू उर्फ हरविंदर की हत्या के मामले में गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपितों को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। मामले में मृतक रिंकू पुत्र अमरजीत के शव का पोस्टमार्टम करने के बाद उसे स्वजानों को सौप दिया गया है। 

डीसीपी पंचकूला मोहित हांडा ने घटन के बाद अलग-अलग टीमों का गठन किया था।  डिटैक्टिव स्टाफ पंचकूला इंचार्ज निरीक्षक मोहिंदर सिंह ढांडा ने मौके पर पूछताछ के बाद व तकनीकी संसाधनों की मदद सें कुछ अहम सुराग जुटाए थे। उन्होंने वारदात सें जुडें संदिग्ध लोगों को काबू करके पुछताछ की ओर फिर दो नामजद मुख्य आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में पता चला कि दोनों पक्षों पर कई मामले पहलें से दर्ज है। कुछ आरोपित सजायाफ्ता हैं।

यह था मामला

रिंकू पुत्र सूरजभान निवासी पावर कॉलोनी फेस 2 पंचकूला ने बताया कि वह सेकंड हैंड गाड़ियों की सेल परचेज का काम करते हैं। 26 सितंबर की रात को रिंकू उर्फ हरविंद्र पुत्र अमरजीत निवासी रोपड़ और आनंद निवासी हिमशिखा कॉलोनी के साथ ममता एंक्लेव स्थित सिमरन होटल जीरकपुर से खाना खाकर अपनी कार में सवार होकर माजरी चौक की तरफ आ रहे थे। जब वे माजरी चौक के बस स्टाप के पास रुके तो 11.30 बजे उनकी कार के पास आकर दो और गाड़ियां और मोटरसाइकिल रुकी। उनमें 10 से 15 लोग सवार थे। वह गाड़ियों से उतरते ही हाथ में तलवार और गंडासी लेकर उनकी कार की तरफ आए। उन्होंने कार पर हमला कर दिया। रिंकू और उसके दोनों साथी कार से निकलकर अपनी जान बचाने के लिए भागने लगे तो उनमें से एक लड़का शेखर निवासी महेशपुर ने उन्हें ललकारते हुए कहा कि यह सभी बचने नहीं चाहिए।

शेखर के साथ आए जॉनी उर्फ प्रदीप निवासी खड़क मंगोली, पप्पी निवासी आशियाना सेक्टर 20, वीकली निवासी खड़क मंगोली, मनीष उर्फ बहादुर निवासी खड़क मंगोली, बब्बी निवासी फतेहपुर, बड़ा बहादुर और 7-8 अन्य आरोपितों ने रिंकू पुत्र अमरजीत को घेर लिया। उन्होंने उस पर बुरी तरह हमला करते हुए उसके मुंह और सिर पर गहरी चोटें मारी। रिंकू पुत्र सूरजभान एवं आनंद वहां से भागकर अपनी जान बचाने में सफल रहे। रिंकू मौके पर ही काफी देर गिरा रहा और आरोपित उस पर हथियारों से वार करते रहे। बाद में रिंकू की मौत हो गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.