एडवांस शहर चंडीगढ़ के लोगों का ये हाल, 1.80 लाख ने नहीं लगवाई वैक्सीन की सेकंड डोज, नए वेरिंएट का खतरा सिर पर

एडवांस शहर कहे जाने वाले चंडीगढ़ के पढ़े लिखे लोगों से यह उम्मीद नहीं है। शहर में रहने वाला हर शख्स पढ़ा लिखा होने के बावजूद कोरोना संक्रमण को नजरअंदाज कर रहा है। शहर में 1.80 लाख लोग ऐसे हैं जिन्होंने तय समय पर वैक्सीन की दूसरी डोज नहीं लगवाई।

Ankesh ThakurSat, 27 Nov 2021 04:30 PM (IST)
वीरवार को शहर में नौ संक्रमित मामले मरीज मिले हैं।

जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। एडवांस शहर कहे जाने वाले चंडीगढ़ के पढ़े लिखे लोगों से यह उम्मीद नहीं है। शहर में रहने वाला हर शख्स पढ़ा लिखा होने के बावजूद कोरोना संक्रमण को नजरअंदाज कर रहा है। हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि शहर की पूरी आबादी को अभी तक कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज नहीं लगे हैं। वहीं, कोरोना के नए वेरिएंट का खतरा सिर पर मंडरा रहा है।

चंडीगढ़ को कोरोना संक्रमण का खतरा एक बार फिर मंडराने लगा है। स्वास्थ्य सचिव यशपाल गर्ग ने कहा कि अभी तक शहर में आए दिन तीन से चार ही संक्रमित मामले आ रहे थे, इतने ही संक्रमण से रिकवर भी कर रहे थे। बीते एक महीने में संक्रमण से एक भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई। लेकिन बीते रोज वीरवार को शहर में नौ संक्रमित मामले सामने आए।

स्वास्थ्य सचिव यशपाल गर्ग ने कहा एकदम से संक्रमित मामले बढ़ना एक चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि लोगों को एक बार सर्तक रहने की जरूरत है। लोगों को समय रहते हुए अपना कोरोना टीकाकरण जरूर करा लेना चाहिए। ताकि संक्रमण की चपेट में आने से बच सके। इसके अलावा कोविड नियमों का नियमित रूप से पालन होना चाहिए। लोगों को मुंह पर मास्क, शारीरिक दूरी और सैनिटाइजर का समय पर प्रयोग करते रहना चाहिए।

स्वास्थ्य विभाग को सचिव ने जारी किया अलर्ट

स्वास्थ्य सचिव यशपाल गर्ग ने बताया कि उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के सभी वरिष्ठ अधिकारियों और सरकारी अस्पतालों को अलर्ट जारी किया है। आने वाले दिनों में संक्रमित मामले बढ़ सकते हैं, ऐसे में सभी अस्पताल प्रशासन को कोविड वार्ड में पर्याप्त मात्रा में बेड, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध रखने के आदेश दिए गए हैं। यहां तक की मरीजों को कोविड के दौरान दी जाने वाली दवाईयों और खान-पान के विशेष इंतजाम करने के लिए निर्देश दिए गए हैं।

1.80 लाख लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज लगनी बाकी

शहर में एक लाख 80 हजार लोग ऐसे हैं, जिन्हें कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज लगाई जानी है। इनमें से एक लाख 20 हजार लोग ऐसे हैं, जिन्हें वैक्सीन की पहली डोज लगे हुए 16 हफ्ते का समय बीत चुका है। जबकि 60 हजार लोग ऐसे हैं, जिन्हें वैक्सीन की पहली डोज लगे 12 हफ्ते हो चुके हैं। इन एक लाख 80 हजार लोगों ने वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाने का कम से कम समय 12 हफ्ते पूरे कर लिए हैं।

अब तक वैक्सीन की 15.45 लाख डोज का हुआ इस्तेमाल

कोरोना टीकाकरण अभियान के तहत अब तक 15,45,532 वैक्सीन की डोज लग चुकी है। इस समय शहर में 44 कोविड वैक्सीनेशन सेंटर चल रहे हैं। इनमें जीएमएसएच-16, सिविल अस्पताल मनीमाजरा, सिविल अस्पताल सेक्टर-45 और सिविल अस्पताल सेक्टर-22 में सुबह नौ से रात नौ बजे तक,  पीजीआइ लेक्चर थिएटर काम्पलेक्स, जीएमसीएच-32 के बी ब्लॉक, सेक्टर-26 पुलिस हॉस्पिटल, सेक्टर-49 के हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर (एचडब्ल्यूसी), सेक्टर-50 की सिविल डिस्पेंसरी सहित सहित सिविल डिस्पेंसरी और सभी हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में टीकाकरण किया जा रहा है।

इतने फीसद लोगों को लग चुकी हैं वैक्सीन की दोनों डोज

वर्ग                                पहली डोज (फीसद में)              दूसरी डोज (फीसद में)

हेल्थ केयर वर्कर                       103.91                               94.80

फ्रंटलाइन वर्कर                        215.64                               349.01

18 से 44 साल                         96.01                                  47.13

45 से 60 साल                         107.93                                79.76

60 साल से उपर                       134.46                               110.57

स्वास्थ्य मंत्रालय से चंडीगढ़ को मिला है ये टीकाकरण का लक्ष्य

आयु वर्ग                           जनसंख्या

18 से 44 साल                     5,84,000

45 से 59 साल                     1,81,000

60 साल से उपर                   78,000

कुल                                   8,43,000

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.