सिद्धू का फास्‍टवे पर हमला, कहा- केबल आपरेटरों को इस कंपनी के एकाधिकार से मुुक्‍त कराओ

Navjot Singh Sidhu vs Fastway पंजाब कांंग्रेस के अध्‍यक्ष नवजाेत सिंह सिद्धू ने केबल नेटवर्क कंपनी फास्‍टवे पर कार्रवाई का समर्थन किया है। सिद्धू ने ट्वीट कर कहा है कि पंजाब में केबल नेटवर्क पर एकाधिकार समाप्‍त हो और केबल आपरेटरों को इससे मुक्‍त कराया जाए।

Sunil Kumar JhaThu, 25 Nov 2021 12:58 PM (IST)
पंजाब कांग्रेस के अध्‍यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू। (फाइल फोटो)

चंडीगढ़, जेएनएन। पंजाब कांग्रेस के अध्‍यक्ष नवजाेत सिंह सिद्धू ने केबल टीवी कंपनी फास्‍टवे पर कार्रवाई की तरफदारी की है। उन्‍होंने फास्‍टवे पर टैक्‍स चाेरी का आरोप लगाते हुए इस पर पंंजाब सरकार द्वारा ठोस कार्रवाई किए जाने का आरोप लगाया है। उन्‍होंने कहा कि पंजाब में केबल टीवी नेटवर्क पर फास्‍टवे का एकाधिकार समाप्‍त किया जाए और केबल आपरेटरों को इसके चंगुल से मुक्‍त कराया जाना चाहिए। 

नवजोत सिद्धू ने वीरवार को लुधियाना में फास्‍टवे सहित कई कंपनियों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की छापे की कार्रवाई के बाद ट्वीट किए। सिद्धू ने ट्वीट में लिखा, 'कारण को दूर करो और प्रभाव समाप्‍त हो जाएगा। 2017 में मैंने फास्‍टवे द्वारा की गई टैक्‍सों की चोरी की गई राशि की वसूली के लिए नए कानून का प्रस्‍ताव किया। फास्टवे द्वारा एकाधिकार के कारण कंप्यूटर और डेटा पर नियंत्रण करके टैक्‍सों की चोरी की गई। यह कदम केबल ऑपरेटरों को इसके (फास्‍टवे के) एकाधिकार के चंगुल से मुक्त कर देता और राज्य के खजाने को भर देता।'  

सिद्धू ने इसके साथ ही एक अन्‍य ट्वीट में  मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह पर भी हमला किया। उन्‍होंंने कहा कि फास्‍टवे द्वारा पंजाब सरकार को कनेक्‍शनों को लेकर जो डेटा दिए जा रहे हैं उसकी तुलना में तीन-चार गुना ज्‍यादाद टीवी कनेक्‍शन हैं। बादलों ने अपने एकाधिकार की रक्षा के लिए कानून बनाए। 2017 में मेरे प्रस्‍तावित कानून को तत्‍कालीन मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने रोक दिया। इस कानून से फास्‍टवे का ए‍काधिकार समाप्‍त हो जाता। इससे राज्‍य सरकार को प्रति टीवी कनेक्‍शन के हिसाब से राजस्‍व प्राप्‍त होता और केबल टीवी कनेक्‍शन की कीमतें भी आधी हो जातीं।     

  

अपने अन्‍य ट्वीट में नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, यह (एका‍धिकार तोड़ना) पंजाब माडल की झलक है। मेरी  बादलोंं के राजन‍ीतिक संरक्षण में पंजाब के केबल नेटवर्क पर एक‍ाधिकार करने वालों के खिलाफ पांच साल से लड़ाई है। यहां तक की इन लोगों का 'गुरु दी सांंझी बानी' के प्रसारण व मुद्रीकरण पर भी  इन लोगों का एकाधिकार रहा है।

यह भी पढ़ें: ED Raid In Punjab: पंजाब में फास्टवे केबल आपरेटर सहित कई नामी कंपनियों पर ईडी की रेड

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें    

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.