Punjab New CM : चरणजीत सिंह चन्‍नी कल सुबह 11 बजे लेंगे पंजाब के सीएम पद की शपथ, राज्‍यपाल को पेश किया दावा

Punjab New CM पंजाब कांग्रेस का दलित चेहरा चरणजीत सिंह चन्नी राज्य के नए सीएम होंगे। उन्होंने राज्यपाल के समक्ष अपना दावा पेश किया और विधायकाें का समर्थनपत्र पेश किया। वह कल 11 बजे सीएम पद की शपथ लेंगे। पंजाब के सीएम बनने वाले वह पहले दलित नेता होंगे।

Sunil Kumar JhaSun, 19 Sep 2021 08:03 AM (IST)
Punjab New CM Name: राजभवन से बाहर आने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते चरणजीत सिंह चन्नी। जागरण

चंडीगढ़/नई दिल्‍ली, जेएनएन/एएनआइ। चरणजीत सिंह चन्‍नी पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री होंगे। चन्‍नी ने राज्यपाल के समक्ष नई सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है। राज्यपाल से मिलने के बाद बाहर आकर चन्नी ने मीडियाकर्मियों से बातचीत की। चन्नी ने कहा कि पार्टी के सभी विधायकों ने सर्वसम्मति जो फैसला लिया है उसके बारे में राज्यपाल को बता दिया गया है। राज्यपाल ने कल 11 बजे शपथ ग्रहण का समय तय किया है। वहीं, राहुल गांधी ने चरणजीत सिंह चन्नी को सीएम बनने के लिए बधाई दी।

राज्‍यपाल के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश किया, सिद्धू सहित कई नेता थे साथ

इससे पहले सीएम पद को लेकर कल से बनी असमंजस की स्थिति काे समाप्‍त करते हुए पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने घोषणा की कि चरणजीत सिंह चन्‍नी को कांग्रेस विधायक दल का नेता चुना गया है। पहले सुखजिंदर सिंह रंधावा का नाम लगभग तय माना जा रहा था, लेकिन हाईकमान ने अंतिम क्षणों में उनका पत्‍ता काट दिया। दूसरी ओर, चन्‍नी के समर्थकों ने राजभवन के बाहर जमकर जश्‍न मनाया।

इससे पहले करीब शाम 6.15 बजे चन्‍नी नई सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए जेडब्‍ल्‍यू मेरियेट से राजभवन के लिए रवाना हुए। वह राज्‍यपाल से मिलकर नई सरकार बनाने का दावा पेश किया। वह पंजाब का मुख्‍यमंत्री बनने वाले पहले दलित नेता होंगे। उन्‍हें पंजाब के दोआबा क्षेत्र का कद्दावर कांग्रेस नेता माना जाता है।

कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने चन्‍नी को ट्वीट कर शुभकामनाएं दीं

दूसरी ओर, पंजाब के निवर्तमान मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने चरणजीत सिंह चन्‍नी को अगला मुख्‍यमंत्री चुने जाने पर बधाई और शुभकामनाएं दीं। उन्‍होंने ट्वीट कर कहा कि उम्‍मीद है चन्‍नी पंजाब को सीमा पार से चुनौतियों से सुरक्षित रखेंगे।

चरणजीत सिंह चन्‍नी राज्‍यपाल बनवारी लाल  से मिलने राजभवन पहुंचे। (एएनआइ)

चन्‍नी पंजाब का मुख्‍यमंत्री बनने वाले पहले दलित नेता होंगे, 2007 से विधायक हैं

चरणजीत सिंह चन्‍नी 2007 से विधायक हैं और श्री चमकाैर साहिब से विधायक हैं। कैप्‍टन अमरिंदर सिंह की कैबिनेट में भी मंत्री थे। चन्‍नी काफी समय से कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ बागी सुर अपनाए हुए थे। सुखजिंदर सिंह रंधावा ने चन्‍नी को पंजाब का सीएम बनाने पर खुशी जताई और कहा कि वह मेरे छोटे भाई हैं। मैं इस निर्णय से निराश नहीं हूं।

कांग्रेस हाईकमान ने खेला बड़ा दांव, अंतिम क्षणों में कटा सुखजिंदर सिंह रंधावा का पत्‍ता

नवजोत सिंह सिद्धू के पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष बनने के बाद चन्‍नी ने तीन अन्‍य मंत्रियों तृप्‍त राजिंदर सिंह बाजवा, सुखजिंदर सिंह रंधावा और सुखबिंदर सिंह सरकारिया के साथ मिलकर कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ बगावत का झंडा बुलंद कर दिया।

बताया जाता है कि पहले कांग्रेस विधायकों की बैठक में सुखजिंदर सिंह रंधावा के नाम पर सहमति हो गई थी और उनका नाम आलाकमान को भेज दिया गया था । दूसरी ओर, सिद्धू समर्थक कई विधायक उस होटल में पहुंच गए हजहां पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश राव व पार्टी के केंद्रीय पर्यवेक्षक रुक हुए हैं। एक और मंत्री चरणजीत सिंह चन्‍नी से पार्टी प्रभारी व पर्यवेक्षकों से मिलने पहुंचे।

राजभवन के बाहर जश्‍न मनाते हुए चरणजीत सिंह चन्‍नी के समर्थक। (एएनआइ)

वीडियो कांन्‍फ्रेंसिंग से भी सोनिया गांधी को विधायक दल के फैसले के बारे में बता दिया गया। इसके बाद थोड़ी देर पहले कांग्रेस की ओर से चरणजीत सिंह चन्‍नी के नाम का ऐलान का दिया गया। इससे पहले ही पंजाब कांग्रेस की ओर से राज्‍यपाल से मिलने के लिए समय मांगा गया था।  पंजाब के नए कैबिनेट में दो उपमुख्‍यमंत्री बनाए जा सकते हैं।

इससे पहले पंजाब कांग्रेस के महासचिव परगट सिंह ने विधायकों की बैठक के बाद कहा कि पंजाब के नए सीएम की घाेषणा आज ही होगी। हाईकमान को विधायक दल के नए नेता का नाम भेज दिया गया है। हाईकमान इस पर फैसला करेगी। मैं हाईकमान नहीं हूं, ऐसे में मैं निर्णय नहीं ले सकता।  यह हाईकमान का काम है।

पहले चर्चा थी कि  रंधावा के सीएम बनने पर उपमुख्‍यमंत्री के रूप में दीनानगर की कांग्रेस विधायक अरुणा चौधरी और लुधियाना वेस्‍ट से कांग्रेस विधायक भारत भूषण आशु उपमुख्‍यमंत्री बनेंगे। दोनों कैप्‍टन अमरिंदर सिंह कैबिनेट में भी मंत्री थे। लेकिन अब बदले हालात में अभी इस बारे में कुछ स्‍पष्‍ट नहीं हो रहा है।

इससे पहले अंबिका सोनी के इन्‍कार के बाद मामला फिर उलझ गया था। इसके बाद पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत और पार्टी के केंद्रीय पर्यवेक्षकों ने पार्टी विधायकों से फिर से रायशुमारी की। इसमें पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष सुनील जाखड़ का नाम सबसे आगे रहा। बताया जाता है कि विधायकों से जो फीडबैक लिया गया!  उसमें करीब 40 विधायकों ने सुनील जाखड़ के पक्ष में सहमति दी। दूसरे नंबर पर सुखजिंदर रंधावा रहे। उनके लिए 20 विधायकों ने सहमति दी।  तीसरे नंबर पर नवजोत सिंह सिद्धू रहे और करीब 12 विधायकाें ने उनको नया सीएम बनाने का समर्थन किया। 

इससे पहले अंबिका सोनी का नाम लगभग तय हो गया था, लेकिन उन्‍होंने इस पेशकश को मना कर दिया।  सोनी ने रविवार दोपहर को कहा कि उन्‍होंने यह पद लेने से इन्‍कार कर दिया है। मेरे विचार से किसी सिख को सीएम होना चाहिए। इससे पहले कांग्रेस विधायक दल के नए नेता व सीएम के लिए कल तक सुनील जाखड़ का नाम लगभग तय माना जा रहा था, लेकिन देर रात पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता अंबिका सोनी का नाम भी चर्चाओं में आ गया।

बाद में यह बात सामने आई कि अंबिका साेनी ने स्वास्थ्य कारणाें का हवाला देते हुए आलाकमान से पंजाब सीएम पद के लिए इन्कार कर दिया।  हालांकि वह कांग्रेस के पूर्व राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष राहुल गांधी के बुलावे पर उनसे मिलने पहुंचीं। बताया जाता है पंजाब में नेताओं के बीच खींचतान को देखते हुए हाईकमान अंबिका सोनी को सीएम बनाना चाहती थी।

पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और सुनील जाखड़ की फाइल फोटो।

यह भी पढ़ें: Punjab CM: जट और हिंदू चेहरे के बीच में उलझ गई मुख्यमंत्री की कुर्सी, सिद्धू ने आलाकमान से कहा- मुझे सीएम बनाएं

 

पंजाब के एडवोकेट जनरल अतुल नंदा का इस्‍तीफा

उधर रविवार को पंजाब के एडवोकेट जनरल अतुल नंदा ने त्यागपत्र दिया। इससे पहले कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के मी‍डिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने भी इस्‍तीफा दे दिया था।

यह भी पढ़ें : Punjab Congress: कैप्टन अमरिंदर सिंह के आक्रामक रुख से हिला कांग्रेस हाईकमान, पंजाब में फूंक-फूंक कर रख रहा कदम

शुक्रवार रात से ही यह चर्चा रही है कि अगला मुख्यमंत्री कौन होगा। सुनील जाखड़, सुखजिंदर सिंह रंधावा, प्रताप सिंह बाजवा के नाम शनिवार सुबह से ज्यादा चर्चा में रहे। सुनील जाखड़ को बेंगलुरु दौरे से शुक्रवार रात को ही वापस बुला लिया गया।

----

ऐसा रहा पूरा घटनाक्रम

- गुरुवार को 40 विधायकों ने कैप्टन अमरिंदर सिंह पर अविश्वास प्रकट करते हुए हाईकमान को पत्र भेजा। - शुक्रवार देर रात आलाकमान ने कांग्रेस विधायक दल की शनिवार को बैठक बुलाने का निर्देश दिया। - शुक्रवार देर रात पहले हरीश रावत और फिर नवजोत सिंह सिद्धू ने विधायक दल की बैठक के बारे में ट्वीट कर जानकारी दी। - शनिवार सुबह से कैप्टन अमरिंदर सिंह अपने फार्म हाउस पर समर्थक विधायकों की बैठक के लिए सबको फोन कर रहे थे। -11.30 बजे खबर आई कि कांग्रेस हाईकमान ने कैप्टन अमरिंदर सिंह से इस्तीफा मांग लिया है। -12.15 पर कैप्टन ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ, मनीष तिवारी समेत कई अन्य नेताओं से फोन पर बात की। -12.41 पर जाखड़ ने ट्वीट करके हाईकमान के फैसले की प्रशंसा की और दिल्ली जाने की जानकारी दी। - 12.50 पर कैप्टन ने समर्थक विधायकों की बैठक रद कर दी। -1.15 बजे अमरिंदर सिंह ने सोनिया गांधी को फोन किया और कहा कि मेरा अपमान किया गया है। -2.20 बजे पंजाब मामलों के प्रभारी हरीश रावत, केंद्रीय पर्यवेक्षक अजय माकन व हरीश राय चंडीगढ़ पहुंचे। उन्हें पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने रिसीव किया। -3.49 पर कैप्टन के बेटे रणइंदर सिंह ने ट्वीट कर जानकारी दी कि कैप्टन अमरिंदर सिंह इस्तीफा देने राजभवन जा रहे हैं। -4.20 बजे कैप्टन ने राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित को अपना इस्तीफा सौंप दिया। -4.35 बजे कैप्टन ने मीडिया से बात की और हाईकमान के फैसले को अपना अपमान बताया। -5.45 बजे कांग्रेस विधायक दल की बैठक में नेता चुनने का अधिकार सोनिया गांधी को सौंप दिया गया। -6.30 बजे राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने कैप्टन का इस्तीफा स्वीकार कर लिया। -7.00 बजे कांग्रेस विधायकों से कहा गया कि वह अभी कांग्रेस भवन में ही इंतजार करें। रविवार सुबह कांग्रेस विधायक दल की बैठक स्‍थगित की गई। रविवार को अंबिका सोनी का नाम अचानक सबसे ऊपर आ गया, ले‍किन करीब 11 बजे उन्‍होंने इससे इन्‍कार कर दिया।  कांग्रेस विधायक दल की बैठक में रायशुमारी की गई। रविवार को दोपहर बाद सुखजिंदर सिंह रंधावा का नाम नए सीएम के लिए तय करने की खबर आई। शाम करीब 5.45 बजे चरणजीत सिंह चन्‍नी को अगला सीएम बनाने की घोषणा की गई। चरणजीत सिंह चन्‍नी शाम करीब 6.30 बजे राजभवन पहुंचे और राज्‍यपाल के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश किया।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.