Mini Lockdown extended In Punjab: पंजाब में 31 मई तक बढ़ा मिनी लाकडाउन, ग्रामीण इलाकों में बढ़ेगी सख्ती

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह की फाइल फोटो।

Mini Lockdown extended In Punjab पंजाब में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए पंजाब सरकार ने मिनी लाकडाउन को 31 मई तक बढ़ा दिया है। जिलों में दुकानों के खुलने के क्रम को जिला उपायुक्त तय करेंगे।

Kamlesh BhattSun, 16 May 2021 05:35 PM (IST)

जेएनएन, चंडीगढ़। Mini Lockdown extended In Punjab:  पंजाब सरकार ने मिनी लाकडाउन की अवधि में वृद्धि कर दी है। राज्य सरकार ने वर्तमान समय में कोरोना संक्रमण के कारण लगाई गई पाबंदियों को 31 मई तक बढ़ा दिया है। सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सभी प्रतिबंधों को सख्ती से लागू करने को कहा है। स्थानीय स्तर पर दुकानों को खोलने के क्रम का फैसला जिला उपायुक्तों पर छोड़ा गया है।

ग्रामीण इलाकों में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला उपायुक्त अन्य प्रतिबंध लागू करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे स्थानीय स्थिति के आधार पर उपयुक्त संशोधन भी कर सकते हैं। जिला उपायुक्त कोविड को लेकर तय  गाइडलाइन का सख्ती से पालन करवाएंगे, जिसमें शारीरिक, सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ को कम करना, मास्क पहनना आदि शामिल है।

यह भी पढें: कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट नहीं तो गांवों में NO ENTRY, 6 हिदायतों के साथ पंजाब की 122 पंचायतों ने संभाला मोर्चा

कोविड स्थिति की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अब प्रतिबंधों के परिणाम दिखाई देने लगे हैं। कोरोना संक्रमण के मामलों में थोड़ी गिरावट आई है। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को कुछ निजी अस्पतालों द्वारा मरीजों को भगाने की शिकायतों की जांच करने का भी निर्देश दिया। साथ ही चेतावनी दी कि अगर वे इस तरह की प्रथाओं में शामिल होते रहे तो इन्हें बंद कर दिया जाएगा। ऐसे मामलों से सख्ती से निपटा जाना चाहिए, उन्होंने पुलिस विभाग को निर्देश दिया कि वे किसी भी कोविड से संबंधित आवश्यक या दवाओं की जमाखोरी या कालाबाजारी में लिप्त पाए जाने वालों पर नकेल कसें।

यह भी पढ़ें: पंजाब में गोबर से बनेगी बिजली, गैस भी होगी तैयार, जर्मन तकनीक का होगा इस्तेमाल

मुख्यमंत्री ने कोविड से जुड़े नए ब्लैक फंगस फैलने पर भी चिंता व्यक्त की। उन्होंने इस बीमारी के लिए निगरानी बढ़ाने की आवश्यकता पर बल दिया, क्योंकि यदि इसका जल्दी इलाज नहीं किया गया तो यह गंभीर जटिलता पैदा कर सकता है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को यह सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया कि इस बीमारी के इलाज के लिए दवाएं राज्य के पास उपलब्ध हों।

यह भी पढ़ें: ओवरलोड हुई पंजाब की जेलें, 90 दिन की छुट्टी पर भेजे जाएंगे 3600 सजायाफ्ता कैदी, प्रक्रिया शुरू

उन्होंने उपायुक्तों से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि क्वारंटाइन में रहने वालों को भोजन किट वितरित की जाए। कोई भी भूखा रहने के लिए मजबूर न हो। उन्होंने 'भोजन हेल्पलाइन' के सफल शुभारंभ पर डीजीपी की सराहना की। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थिति गंभीर बनी हुई है, ढीलाई की कोई गुंजाइश नहीं है। मुख्यमंत्री ने डीजीपी दिनकर गुप्ता को कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।
यह भी पढ़ें:  चंडीगढ़ में अंतिम संस्कार के लिए भी अपोइंटमेंट, श्मशान घाट में आग बुझने से पहले ही अगली चिता तैयार
 
यह भी पढ़ें:  पंजाब में कैप्टन व सिद्धू में चल रहा है शह-मात का खेल, हाईकमान चुप, नवजोत के पक्ष में उतरे मंत्री रंधावा
यह भी पढ़ें:  हरियाणा में 1 वर्ष में 6,500 सरकारी कर्मचारियों की छंटनी, करीब 20 विभागों में गई नौकरी

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.