दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

लेबर का काम करने वाले युवक ने शराब के नशे में पत्थर मारकर की राज मिस्त्री की हत्या

मोहाली में राज मिस्त्री की हत्या का मामला पुलिस ने सुझला लिया है। सांकेतिक फोटो

बूटी चौधरी राज मिस्त्री का काम करता था। आरोपित उमेश सिंह उसी के पास लेबर था। उमेश ने रविवार को खून शराब पी थी। इस कारण वह दिहाड़ी पर नहीं आया। इसे लेकर बूटी चौधरी ने उसे डांटा तो उसने उसकी हत्या की साजिश रच डाली।

Pankaj DwivediTue, 11 May 2021 06:50 PM (IST)

मोहाली, जेएनएन। सोहाना थाने के अधीन ऐयरपोर्ट रोड पर पड़ते गांव रुड़का (सेक्टर-66बी) में एक कोठी में राज मिस्त्री का काम करने वाले व्यक्ति का उसी के पास लेबर का काम करने वाले युवक ने शराब के नशे में कत्ल कर दिया। मरने वाले की पहचान 48 वर्षीय बूटी चौधरी के रुप में हुई है जोकि मूल रुप से पश्चिमी चंपारण (बिहार) का रहने वाला था और यहां चंडीगढ़ सेक्टर-41 में किराए के मकान पर रह रहा था। बूटी चौधरी के मुंह व सिर पर नुकीले पत्थर से कई वार कर उसका चेहरा बिगाड़ा गया था। उसकी लाश बन रही कोठी के एक कमरे में खून से लथपथ मिली है। सोहाना थाने के एसएचओ भगवंत सिंह ने बताया कि बूटी चौधरी का कत्ल उसके पास लेबर का काम करने वाले उमेश सिंह निवासी उत्तर प्रदेश ने किया था। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपित के खिलाफ थाना सोहाना में हत्या की धारा में केस दर्ज किया गया है।

एसएचओ भगवंत सिंह ने बताया कि बूटी चौधरी के साले दीनानाथ ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि रविवार को 8 बजे वह अपने जीजा से मिलने के लिए सेक्टर-66बी गया था। वहां तीन मंजिला कोठी का निर्माण चल रहा है। जीजा बूटी चौधरी राज मिस्त्री का काम करता है और उमेश सिंह उसके पास लेबर था। बूटी चौधरी ने दीनानाथ को बताया कि उमेश ने रविवार को खून शराब पी थी जिस कारण वह दिहाड़ी पर नहीं आया और उसने उसे गालियां निकाली। दोनों ही कुछ दिनों से कोठी में बने कमरों में सो रहे थे।

रविवार रात 11 बजे उसका जीजा अपने कमरे में बैठा था। उसी दौरान उमेश सिंह शराब के नशे में उसके पास आया और बोला कि उसने कोई जरुरी बात करनी है। तभी उमेश ने  बूटी चौधरी के सिर व मुंह पर नौकीले पत्थर से वार कर उसका कत्ल कर दिया और लाश को कंबल में लपेट कर फरार हो गया। अगली सुबह जब 11 बजे तक राज मिस्त्री काम पर नहीं पहुंचा तो कोठी मालिक ने उसके कमरे में जाकर जांच की तो बिस्तर पर कंबल में बूटी चौधरी की खून से लथपथ लाश पड़ी थी। उसने तुरंत पुलिस कंट्रोल रुम पर मामले की सूचना दी। इसके बाद एसएचओ भगवंत सिंह पुलिस पार्टी सहित मौके पर पहुंचे। उन्होंने लाश को  कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल फेज-6 पहुंचाया।

जीरकपुर से गिरफ्तार हुआ आरोपित

एसएचओ भगवंत सिंह ने बताया कि आरोपित कत्ल को अंजाम देने के बाद फरार हो गया था। जिसका फोन ऑन था। दोपहर को जब बूटी चौधरी के कत्ल का पता चला तो उमेश फरार था। पुलिस ने कोठी मालिक से उमेश को फोन करवाया। उमेश ने उस समय बहुत शराब पी रखी थी। उसने कोठी मालिक को बताया कि उससे गुस्से में बूटी चौधरी का कत्ल हो गया क्योंकि उसने उसे सभी के सामने गालियां दी थी। उसने बताया कि वह जीरकपुर में छिपा हुआ है। पुलिस ने जब उसका नंबर ट्रैप पर लगाया तो उसकी लोकेशन जीरकपुर की निकली। बाद में उसे गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपित को बुधवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.