मोहाली में शिक्षकों के धरने में पहुंचे अरविंद केजरीवाल, लोगों से पूछा- क्या सीएम चन्नी ने बिजली मुफ्त की

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) मोहाली में धरना दे रहे पंजाब के शिक्षकों के बीच पहुंच चुके हैं। केजरीवाल शिक्षकों की मांगों के समर्थन में धरने पर बैठ गए हैं।

Ankesh ThakurSat, 27 Nov 2021 01:20 PM (IST)
शिक्षकों के धरने में पहुंचे अरविंद केजरीवाल के साथ संगरूर के सांसद भगवंत मान भी मौजूद हैं।

मोहाली, जेएनएन। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) मोहाली में धरना दे रहे पंजाब के शिक्षकों के बीच पहुंच चुके हैं। केजरीवाल शिक्षकों की मांगों के समर्थन में धरने पर बैठ गए हैं। केजरीवाल ने शिक्षकों की मांगों को सही बताते कहा कि आम आदमी पार्टी की सरकार बनने पर शिक्षकों की सभी मागों को पूरा किया जाएगा। उनके साथ धरने में पंजाब आप के प्रधान सांसद भगवंत मान भी मौजूद हैं। केजरीवाल ने कहा कि पंजाब सरकार शिक्षकों की मांगों को पूरा न करके उनके साथ अन्याय कर रही है। उन्होंने अपने संबोधन के दौरान लोगों से पूछा कि पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने राज्य में मुफ्त बिजली की घोषणा की थी। पंजाब में जगह-जगह फ्री बिजली के बड़े बड़े होर्डिंग भी लगे हुए हैं। लेकिन पंजाब के लोग बताएं कि किस-किस की बिजली फ्री हुई है। इससे साफ पता चलता है कि चन्नी ने लोगों के झूठ बोला।

फेज-8 में शिक्षा विभाग भवन में पिछले 165 दिन से स्थायी नौकरी की मांग कर रहे 13000 शिक्षकों से मिलने के दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पहुंचे। मंच से अरविंद केजरीवाल ने पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी पर जुबानी हमला बोला। केजरीवाल ने कहा कि जब मैं एयरपोर्ट से धरने की ओर आ रहा था तो चन्नी साहब के होर्डिंग देखे कि 36 हजार कर्मचारियों को पक्का कर दिया। केजरीवाल ने कहा कि चन्नी झूठ बोले रहे हैं। क्योंकि न तो कोई शिक्षकों को पक्की नौकरी दी गई और न ही कोई सफाई कर्मचारी रेगुलर किया गया। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली की शिक्षा का सुधार मनीष सिसोदिया ने नहीं बल्कि वहां की टीचर्स ने किया है।

केजरीवाल ने कहा कि मैं शिक्षकों से वादा करता हूं कि एक बार अपने छोटे भाई (केजरीवाल) को मौका दो। अगर न कर पाया तो मुझे भी बाहर का रास्ता दिखा देना। दिल्ली के अध्यापकों को सरकार विदेशों में ट्रेनिंग के लिए भेजते हैं। पंजाब में शिक्षा का स्तर पूरी तरह से सुधार दिया जाएगा।

मान ने कहा- आप शिक्षकों के साथ

वहीं, शिक्षकों के धरने पर पहुंचे संगरूर से सांसद भगवंत मान ने कहा कि शिक्षकों को राष्ट्र निर्माता कहा जाता है। शिक्षक जो बच्चों का भविष्य बनाते हैं आज वह अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं। अपनी मांगों को पूरा करवाने के लिए वर्षों से धरने दे रहे हैं। नहरों पर कूदने को भी पर मजबूर हैं। कैसे रोके जिन्होंने हमारे बच्चों का भविष्य बनाना वे अपने भविष्य की लड़ाई लड़ रहे हैं। मैं टीचर का बेटा हूं इसलिए मुझे शिक्षकों का दर्द समझ सकता हूं। भगवंत मान ने कहा कि संसद का सत्र शुरू होने जा रहा है। वे वहां पर एमएसपी गारंटी, धरने के दौरान शहीद हुए किसानों को श्रद्धांजलि दिलवाने का प्रयास करेंगे। आम आदमी पार्टी शिक्षकों के साथ है। इस दौरान आप के विधायकों व शिक्षक नेताओं ने भी शिक्षकों को संबोधित किया।

कर्मचारी संगठनों ने दिए मांग पत्र

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड में काम करने वाले 550 कच्चे अध्यापकों, मिड डे मील, सर्व शिक्षा अभियान के अस्थायी कर्मचारियों, कंप्यूटर टीचर्स की ओर से भी मांग पत्र दिए गए। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कर्मचारी संगठनों को आश्वसन दिया कि अगर पंजाब में उनकी सरकार बनी तो सभी मांगों को पूरा किया जाएगा।

कांग्रेस को ले डूबेगा उनके मंत्रियों का अहंकार

इससे पहले आम आदमी पार्टी पंजाब के प्रधान व सांसद भगवंत मान ने कहा कि कच्चे मुलाजिमों को पक्का करने का वादा कांग्रेस ने किया था लेकिन आज भी बड़ी संख्या में पंजाब के मुलाजिम धरने व प्रदर्शन कर रहे हैं कि उन्हें पक्का किया जाए, लेकिन उपमुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा और ट्रांसपोर्ट मंत्री अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग उन कर्मचारियों को धमकियां दे रहे हैं। क्या यह मंत्रियों की भाषा है। यह अहंकार कांग्रेस की सरकार को ले डूबेगा।

भगवंत मान दिल्ली सीएम के आने से पहले मोहाली एयरपोर्ट पर मीडिया कर्मियों से अनौपचारिक बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सत्ता में रहकर कांग्रेस मंत्री अंहकार से भर गए हैं लेकिन उन्हें कैप्टन अमरिंदर सिंह की ओर देखना चाहिए जिनके हाथ से सत्ता छिनने के बाद वह अपने शहर के मेयर की कुर्सी को बचाने के लिए सीढ़ियां चढ़ रहे हैं। मान ने कहा कि वक्त बड़ा बलवान होता है वह राजाओं से भीख मंगवा देता है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.