हरियाणा हर साल तैयार करेगा 2500 डाक्टर : मनोहर लाल

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में डाक्टरों की मांग को पूरा करने के लिए हर जिले में एक मेडीकल कालेज खोलने की प्रक्रिया जारी है। हर वर्ष 2500 डाक्टर तैयार करने का लक्ष्य रखा गया है और इसके लिए एमबीबीएस की सीटें बढ़ाकर 1685 की गई हैं।

JagranSun, 28 Nov 2021 08:22 PM (IST)
हरियाणा हर साल तैयार करेगा 2500 डाक्टर : मनोहर लाल

जासं, पंचकूला : हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में डाक्टरों की मांग को पूरा करने के लिए हर जिले में एक मेडीकल कालेज खोलने की प्रक्रिया जारी है। हर वर्ष 2500 डाक्टर तैयार करने का लक्ष्य रखा गया है और इसके लिए एमबीबीएस की सीटें बढ़ाकर 1685 की गई हैं। जबकि 2014 में सीटें 700 थीं।

मुख्यमंत्री पंचकूला के सेक्टर 5 स्थित इंद्रधनुष ऑडिटोरियम में हरियाणा मेडीकल काउंसिल के तत्वावधान में आयोजित डॉक्टर्स डे अवार्ड फंक्शन में बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री मनोहर लाल व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने 75 वर्ष से अधिक आयु के 90 डाक्टरों को 'वट वृक्ष पुरस्कार देकर सम्मानित किया। सम्मान पाने वालों में सबसे अधिक 92 वर्ष आयु के सिरसा के डॉक्टर आरएस सांगवान भी शामिल थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज की युवा पीढ़ी के डाक्टरों को पुरानी पीढ़ी के डाक्टरों से मानवता की सेवा करने की भावना से प्रेरणा लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि वर्तमान में निजी व सरकारी क्षेत्र दोनो को मिला कर डाक्टरों की संख्या लगभग 13-14 हजार है, जबकि यूएनओ के मानदंडों के अनुसार 1000 की जनसंख्या पर एक डॉक्टर होना चाहिए। यदि हम हरियाणा की जनसंख्या 2021 में 2.70 करोड़ मान कर चलते हैं तो 27 हजार डाक्टरों की आवश्यकता है। इस मांग को पूरा करने के लिए हर वर्ष 2500 डाक्टर तैयार करने का लक्ष्य रखा गया है।

मुख्यमंत्री ने हरियाणा मेडीकल काउंसिल द्वारा वयोवृद्ध डाक्टरों को सम्मानित' करने लिए चुने गए शीर्ष वाक्य ''वट वृक्ष'' की सराहना की। हरियाणा सरकार ने भी 75 वर्ष से अधिक आयु वाले पेड़ों की देखभाल के लिए 2500 रूपए वार्षिक की पेंशन योजना शुरू की है। 'मैं भी डॉक्टर'

मुख्यमंत्री ने कहा कि वैसे तो मैं भी डॉक्टर हूं। जैसे एक डॉक्टर रोगियों की बीमारी दूर करता है वैसे ही मैं भी पिछले 7 सालों से समाज की बुराइयों को दूर करने में लगा हूं। वहीं स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी महसूस की गई लेकिन मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पूरी तत्परता से कार्रवाही की और इसका समाधान किया। उन्होंने कहा कि अब आदेश जारी किए गए है कि 50 बेड से अधिक अस्पताल चाहे वह सरकारी हों या निजी, सभी को ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए पीएसए प्लांट लगाना अनिवार्य होगा। कोरोना योद्धाओं की याद में बनायी गयीं 'वाल ऑफ मेमोरी'

उन्होंने कहा कि इस दौरान कुछ लोग शहीद हो गए, जिनमें से स्वास्थ्य विभाग के 28 लोग शहीद हुए और उनकी याद में मुख्यालय तथा जिला अस्पतालों में 'वाल आफ मेमोरी' यानी यादगार स्मारक बनाया जाएगा। हरियाणा मेडीकल काउंसिल के अध्यक्ष डा. आरके अनेजा, सदस्य डा. वेद बेनीवाल, स्वास्थ्य सेवाएं हरियाणा के महानिदेशक डा. वीना सिंह ने भी उपस्थित लोगों को संबोधित किया। डा. प्रदीप भारद्वाज व डा. रोजी अनेजा ने देशभक्ति के गानों से सभी का समय बांधा। इस अवसर पर उपायुक्त महावीर कौशिक, पुलिस उपायुक्त मोहित हांडा, हरियाणा मेडीकल काउंसिल के रजिस्ट्रार डा. संदीप छाबड़ा, रोहित शर्मा, डा. अनिरुद्ध भारद्वाज व काउंसिल के अन्य सदस्य व डाक्टर भी उपस्थित थे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.