Video: कृषि कानूनों के मुद्दे पर नई दिल्ली में संसद भवन के बाहर भिड़े हरसिमरत कौर व रवनीत बिट्टू

कृषि कानूनों के मुद्दे पर अकाली सांसद हरसिमरत कौर बादल व कांग्रेस सांसद रवनीत बिट्टू आपस में भिड़ गए। दोनों ने एक-दूसरे पर आरोप लगाए। बिट्टू ने कहा कि उसी कैबिनेट में कानून पास हुआ था जिसमें हरसिमरत मंत्री थीं।

Kamlesh BhattWed, 04 Aug 2021 12:45 PM (IST)
संसद भवन के बाहर भिड़ते हरसिमरत कौर बादल व रवनीत बिट्टू। फोटो एएनआइ के वीडियो से

कैलाश नाथ, चंडीगढ़। कृषि कानून को लेकर कांग्रेस के सांसद रवनीत बिट्टू और पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमतर कौर बादल संसद भवन के भिड़ गए। दोनों में तीखी नोकझोंक हुई। कृषि बिलों को लेकर हरसिमरत कौर बादल नारेबाजी कर रही थीं तभी रवनीत बिट्टू वहां पहुंच गए। उन्होंने कमेंट्स किया। जिस पर हरसिमरत कौर बादलभड़क गई। दोनों ने जमकर एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाए।

बिट्टू ने कहा कि वह (हरसिमरत) ड्रामेबाजी कर रही हैं। जिस कैबिनेट में यह बिल पास हुआ, उसमें हरिमसरत कौर बतौर मंत्री मौजूद थी। वहीं, पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने बिट्टू पर पलटवार करते हुए कहा कि जिस समय संसद में कृषि बिल पास हो रहे थे उस समय राहुल गांधी कहां थे।

कृषि कानून को लेकर राजनीतिक पार्टियों के आमने-सामने होने की यह पहली घटना सामने आई है। इससे पहले सभी राजनीतिक दल अपने-अपने स्तर पर ही बयानबाजी कर रहे थे। जून 2020 में जब कृषि बिल अस्तित्व में आया था उस समय पंजाब में कांग्रेस पार्टी ने सबसे पहले इसका विरोध किया था। कांग्रेस के तत्कालीन प्रदेश प्रधान सुनील जाखड़ ने इस बिल के विरोध में अकेले ही राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर को मांग पत्र सौंपा था। उस समय अकाली दल एनडीए का हिस्सा होता था और हरसिमरत कौर बादल केंद्रीय मंत्री होती थी।

हरसिमरत कौर बादल व रवनीत बिट्टू की फाइल फोटो। 

अकाली दल ने इस बिल का समर्थन किया था। शिरोमणि अकाली दल के संरक्षक व पांच बार के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल समेत सुखबीर बादल और हरसिमरत कौर बादल ने खुलकर बिल का समर्थन किया था। कांग्रेस के विरोध पर जब किसान संगठन सड़कों पर उतरे तो अकाली दल ने बिल का विरोध करना शुरू किया और भाजपा से नाता तोड़ते हुए केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया।

इसी क्रम में संसद के बाहर शिरोमणि अकाली दल के सांसद रोजाना इस बिल के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं। बुधवार को जब रवनीत बिट्टू संसद पहुंचे तो वह और हरसिमरत कौर बादल आमने सामने हो गए। यह पहला मौका था जब पंजाब के दो सांसद ने एक दूसरे पर जमकर प्रहार किया। बिट्टू ने कहा, जिस पर बिल पास हुआ उस समय वह (हरसिमरत) केंद्र सरकार का हिस्सा थी और वह कैबिनेट मंत्री। बिट्टू ने कहा, पहले अकाली दल ने बिल का समर्थन किया और आज विरोध कर रही है। जबकि हरसिमरत कौर ने कहा, जब सदन में बिल पास हो रहा था तब राहुल गांधी कहां थे। दोनों सांसदों ने जमकर एक-दूसरे पर प्रहार किए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.