Chandigarh MC Polls: पूर्व मेयर राजबाला मलिक नहीं लड़ेंगी चुनाव, पार्टी प्रत्याशियों के लिए करेंगी प्रचार

जबाला मलिक ने खुद ही पार्टी नेताओं को कहा है कि वह इस बार चुनाव लड़ने की इच्छुक नहीं हैं। मालूम हो कि राजबाला मलिक एकमात्र ऐसी पार्षद हैं जिन पर कांग्रेस और भाजपा दोनों की मेहरबानी है। इस समय राजबाला मलिक सेक्टर 15 के वार्ड से पार्षद हैं।

Pankaj DwivediPublish:Thu, 02 Dec 2021 03:40 PM (IST) Updated:Thu, 02 Dec 2021 06:32 PM (IST)
Chandigarh MC Polls: पूर्व मेयर राजबाला मलिक नहीं लड़ेंगी चुनाव, पार्टी प्रत्याशियों के लिए करेंगी प्रचार
Chandigarh MC Polls: पूर्व मेयर राजबाला मलिक नहीं लड़ेंगी चुनाव, पार्टी प्रत्याशियों के लिए करेंगी प्रचार

जासं, चंडीगढ़। शहर की राजनीतिक हलके से बड़ी खबर आ रही है। पूर्व मेयर राजबाला मलिक इस बार नगर निगम चुनाव नहीं लड़ेंगी। राजबाला मलिक ने खुद ही पार्टी नेताओं को कहा है कि वह इस बार चुनाव लड़ने की इच्छुक नहीं हैं। मालूम हो कि राजबाला मलिक एकमात्र ऐसी पार्षद हैं। वह कांग्रेस और भाजपा दोनों दलों की तरफ से मेयर रह चुकी हैं। इस समय राजबाला सेक्टर 15 के वार्ड से पार्षद हैं। यह वार्ड इस बार जनरल कैटेगरी के लिए रिजर्व है। इससे पहले, पूर्व मेयर राजबाला मलिक की चुनाव प्रभारी विनोद तावड़े के साथ बैठक हुई। तावड़े ने राजबाला मलिक को शहर के अन्य वार्डों में चुनाव प्रचार करने की जिम्मेवारी दी है। राजबाला मलिक पिछले 10 साल से पार्षद हैं।

अब तक 23 प्रत्याशियों की घोषणा

नगर निगम चुनाव के लिए चंडीगढ़ भाजपा अभी तक 23 उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी है। बाकी बचे 12 वार्ड के लिए उम्मीदवारों की घोषणा वीरवार देर शाम को की जाएगी।

प्रत्याशियों को तय करने के लिए कांग्रेस की बैठक जारी

उधर, कांग्रेस उम्मीदवारों को तय करने के लिए बैठक कर रही है। इसमें पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन कुमार बंसल, कांग्रेस अध्यक्ष सुभाष घई, डीडी जिंदल, पवन शर्मा शामिल हैं। कहा जा रहा है कि भाजपा के कई नाराज नेता इस समय कांग्रेस के संपर्क में हैं। बुधवार रात को भाजपा ने जो 23 उम्मीदवारों की घोषणा की है। इस सूची में सिर्फ चार सिटिंग पार्षदों को टिकट दी गई है। इस पहली सूची में किसी भी पूर्व मेयर का नाम शामिल नहीं है। ऐसे में बाकी बचे दावेदारों ने लॉबिंग तेज कर दी गई है। दूसरी ओर, आज शाम को कांग्रेस अपने उम्मीदवारों की घोषणा करेगी। टिकट कटने पर कई नेताओं की नाराजगी कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ा सकती है।

यह भी पढ़ें- Chandigarh AQI Update: वर्ष के सर्वेच्च स्तर पर प्रदूषण, एक्यूआइ 226 तक पहुंचा, जानिए दूसरे शहरों का हाल

यह भी पढ़ें - बायोमेडिकल वेस्ट चोरी हुआ या सही डस्पोज नहीं किया तो कड़ी कार्रवाई, चंडीगढ़ में अब बार कोड का होगा इस्तेमाल