राहुल गांधी भी नहीं मना सके सुनील जाखड़ को, चन्नी और सिद्धू के साथ काम करने को तैयार नहीं

Punjab Congress पंजाब कांग्रेस में खींचतान के बीच राहुल गांधी द्वारा दिल्‍ली में बुलाई गई बैठक का भी कोई खास परिणाम नहीं निकला। राहुल गांधी भी सुनील जाखड़ को मना नहीं सके। जाखड़ ने पंजाब कांग्रेस की वर्तमान टीम के साथ काम करने से इन्‍कार कर‍ दिया।

Sunil Kumar JhaPublish:Thu, 02 Dec 2021 09:07 AM (IST) Updated:Thu, 02 Dec 2021 12:16 PM (IST)
राहुल गांधी भी नहीं मना सके सुनील जाखड़ को, चन्नी और सिद्धू के साथ काम करने को तैयार नहीं
राहुल गांधी भी नहीं मना सके सुनील जाखड़ को, चन्नी और सिद्धू के साथ काम करने को तैयार नहीं

चंडीगढ़, [कैलाश नाथ]। Punjab Congress Tussle: पंजाब में कांग्रेस में चल रही खींचतान को लेकर राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, कांग्रेस के प्रदेश प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू और पूर्व प्रदेश प्रधान सुनील जाखड़ के साथ बैठक की। राहुल ने पहले सुनील जाखड़ के साथ बैठक की और उन्हें मनाने का प्रयास किया। हालांकि उनका यह प्रयास पुनः व्यर्थ साबित हुआ। जाखड़ ने पंजाब कांग्रेस की वर्तमान टीम के साथ काम करने से साफ मना कर दिया। इसके बाद राहुल गांधी द्वारा चन्नी, सिद्धू और जाखड़ को एक माला में पिरोने का प्रयास कामयाब नहीं हो सका। वहीं, राहुल ने जिला कमेटियों को लेकर सिद्धू के माडल (एक प्रधान और दो कार्यकारी प्रधान) को मंजूरी दे दी।

 जिला कमेटियों को लेकर सिद्धू का माडल को मिली मंजूरी

जानकारी के अनुसार चन्नी और सिद्धू के साथ बैठक से पूर्व राहुल गांधी ने सुनील जाखड़ के साथ बैठक की। करीब एक घंटे तक चली इस बैठक के दौरान कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी हरीश चौधरी और कृष्णा अल्लावारू की उपस्थिति में राहुल गांधी को जाखड़ को मनाने की तमाम कोशिश की। सूत्र बताते हैं कि राहुल ने जाखड़ को पार्टी में महत्वपूर्ण ओहदा देने का भी आफर किया लेकिन जाखड़ ने यह कहते हुए इन्‍कार कर दिया कि वह वर्तमान टीम के साथ काम नहीं कर सकते।

सूत्र बताते हैं कि राहुल ने जाखड़ को यह भी समझाने की कोशिश की कि वर्तमान टीम भी यही चाहती है कि वह पिक्चर से आउट हो जाए, इसके बावजूद जाखड़ नहीं माने। माना जा रहा है कि राहुल चन्नी, सिद्धू और जाखड़ को एक साथ बैठाना चाहते थे लेकिन जाखड़ के साफ मना करने के बाद एसा संभव नहीं हो गया।

सिद्धू और चन्नी ने एक दूसरे की शिकायतें की, राहुल बोले एक साथ चलो

इसके बाद राहुल गांधी ने नवजोत सिंह सिद्धू के साथ करीब आधे घंटे तक अलग से बैठक की। जानकारी के अनुसार सिद्धू ने इस दौरान मुख्यमंत्री द्वारा ब्लाक प्रधानों के साथ की गई बैठक का मुद्दा उठाया। साथ ही उन्होंने राजनीतिक मुद्दों को लेकर भी चर्चा की। इसके उपरांत राहुल ने मुख्यमंत्री और सिद्धू के साथ संयुक्त रूप से बैठक की। जानकारी के अनुसार इस बैठक के दौरान चन्नी ने बतौर मुख्यमंत्री अपने द्वारा उठाए गए कदमों की जानकारी राहुल गांधी को दी।

इस बीच राहुल ने जिला कमेटियों को लेकर सिद्धू के माडल को मंजूरी दे दी। बता दें कि सिद्धू माडल से प्रदेश प्रभारी हरीश चौधरी संतुष्ट नहीं थे। इसके कारण जिला कमेटियों का गठन नहीं हो पा रहा था। क्योंकि,  सिद्धू ने कई वरिष्ठ नेताओं के सिफारिशों को भी दरकिनार कर जिला कमेटियों की सिफारिशें की थी। तकरीबन 2.30 घंटे तक चली बैठक के दौरान चन्नी और सिद्धू में खींचतान चलती रही। बैठक के अंत में राहुल गांधी ने चन्नी और सिद्धू को एक साथ मिल कर चलने के लिए भी कहा।