साइबर क्रिमिनल के निशाने पर चंडीगढ़ पुलिस, अब इंस्पेक्टर रंजीत सिंह की बनाई नकली फेसबुक आइडी, मांगे जा रहे पैसे

ट्रैफिक इंस्पेक्टर रंजीत सिंह ने लोगों को पैसे न ट्रांसफर करने के लिए अलर्ट मैसेज किया है।

इन दिनों साइबर क्रिमिनल के निशाने पर चंडीगढ़ पुलिस के अधिकारी हैं। साइबर क्रिमिनल चंडीगढ़ पुलिस विभाग पर पैनी नजर बनाकर धोखाधड़ी की वारदात करने की कोशिश में लगे हुए हैं। इस बार ट्रैफिक इंस्पेक्टर रंजीत सिंह की नकली फेसबुक आइडी बनाकर जानकारों से पैसे मांगे जा रहे हैं।

Ankesh KumarSat, 10 Apr 2021 01:47 PM (IST)

चंडीगढ़, [कुलदीप शुक्ला]। इन दिनों साइबर क्रिमिनल के निशाने पर चंडीगढ़ पुलिस के अधिकारी हैं। साइबर क्रिमिनल चंडीगढ़ पुलिस विभाग पर पैनी नजर बनाकर धोखाधड़ी की वारदात करने की कोशिश में लगे हुए हैं। इस बार ट्रैफिक विंग में इंचार्ज के तौर पर तैनात इंस्पेक्टर रंजीत सिंह की नकली फेसबुक आइडी बनाकर लोगों को मैसेज कर रहे हैं कि पैसे गूगल पे या अकाउंट में तत्काल ट्रांसफर कर दो। जिसकी सूचना मिलने के बाद रंजीत सिंह ने अपने सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर लोगों को पैसे न ट्रांसफर करने के लिए अलर्ट मैसेज कर साइबर सेल में शिकायत दी है।

इससे तीन दिन ही पहले सारंगपुर थाना एसएचओ इंस्पेक्टर लखबीर सिंह की नकली फेसबुक आइडी बनाकर हैकर्स ने इसी तरह की ठगी करने की कोशिश की थी। इस मामले में भी साइबर सेल के पास शिकायत पेंडिंग पड़ी हुई है।

चंडीगढ़ के मेयर और भाजपा अध्यक्ष सूद की आइडी भी बना चुके हैं नकली फेसबुक आइडी

इससे पहले साइबर क्रिमिनल चंडीगढ़ के मेयर रविकांत शर्मा और चंडीगढ़ भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद की नकली फेसबुक आइडी बनाकर ठगी की कोशिश कर चुके हैं।  

रिटायर्ड एसपी, डीएसपी, एसआइ, वकील, प्रिंसिपल की एफबी आइडी भी हो चुकी हैक

पहले यूटी पुलिस के पूर्व एसपी रोशन लाल, पूर्व डीएसपी क्राइम जगबीर सिंह, वर्तमान डीएसपी दिलशेर सिंह चंदेल, इंस्पेक्टर अशोक कुमार की भी आइडी बनाकर हैकर पैसे मांगने की वारदात कर चुके है। इससे पहले एडवोकेट अजय जग्गा, डीएवी-10 के प्रिंसिपल डॉ. पवन कुमार शर्मा, एमसीएम डीएवी की प्रिंसिपल डॉ. निशा भार्गव की नकली आइडी बनाकर वारदात की कोशिश हो चुकी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.