कोच चरणजीत कौर ने देश को दिए कई अंतरराष्ट्रीय फेंसिग खिलाड़ी

कोच चरणजीत कौर ने देश को दिए कई अंतरराष्ट्रीय फेंसिग खिलाड़ी

फेंसिंग कोच चरणजीत कौर ने अपने बूते देश के लिए कई इंटरनेशनल स्तर के खिलाड़ी तैयार किए हैं। जीएमएसएसएस -10 में तैनात कोच चरणजीत कौर की वजह से खिलाड़ी खासतौर पर फेंसिग कोचिग के लिए इस स्कूल में एडमिशन लेते हैं। चरणजीत कौर के छह ट्रेनी खिलाड़ियों का चयन इस बार इंडिया कैंप में हुआ है।

JagranMon, 12 Apr 2021 08:56 AM (IST)

जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : फेंसिंग कोच चरणजीत कौर ने अपने बूते देश के लिए कई इंटरनेशनल स्तर के खिलाड़ी तैयार किए हैं। जीएमएसएसएस -10 में तैनात कोच चरणजीत कौर की वजह से खिलाड़ी खासतौर पर फेंसिग कोचिग के लिए इस स्कूल में एडमिशन लेते हैं। चरणजीत कौर के छह ट्रेनी खिलाड़ियों का चयन इस बार इंडिया कैंप में हुआ है। देवेश, कुसुम का जूनियर कैटेगरी में और यशकीरत, ईरा, आकाश और कुसुम का चयन सीनियर नेशनल में हुआ है। इतना ही नहीं इसी साल उनकी यशकीरत कौर ने सीनियर नेशनल फेंसिग टूर्नामेंट में गोल्ड मेडल जीता था, यह चंडीगढ़ के इतिहास में पहली बार है जब सीनियर नेशनल प्रतियोगिता में शहर की किसी महिला खिलाड़ी ने गोल्ड मेडल जीता हो। चरणजीत कई इंटरनेशनल स्तर के टूर्नामेंट में भी टीम इंडिया की कोच रह चुकी हैं।

चरणजीत कौर ने बताया कि साल 2001-02 में उन्होंने एनआइएस पटियाला से डिप्लोमा इन फेंसिग किया। डिप्लोमा में टॉपर होने के चलते उन्हें एनआइएस पटियाला में ही नौकरी मिल गई। उन्होंने एक साल वहां फेंसिग कोचों को पढ़ाया। इसके बाद साल 2003 में चंडीगढ़ में एजुकेशन डिपार्टमेंट ज्वाइन कर लिया। तब चंडीगढ़ में फेंसिग का कोई नामोनिशान नहीं था। तब से लेकर आज तक वह जीएमएसएसएस-10 में ही कोचिग दे रही है। इसी साल रूद्रप्रयाग में आयोजित सीनियर नेशनल और जूनियर कॉमनवेल्थ चैंपियनशिपशिप 2018 में ब्रांज मेडल जीतने वाली यशकीरत कौर और कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीतने वाली प्रभजोत कौर भी चरणजीत कौर की ट्रेनी हैं। इसके अलावा इंटरनेशनल खिलाड़ी काजल, रवि, तारा, शुभजोत, कशिश, अशनी पब्बी, इंद्रप्रताप सिंह, आकाश, हिमानी, दिव्या, बलजीत कौर जैसी कई खिलाड़ी हैं जो उनके ट्रेनी हैं। इंडियन फेंसिग टीम की कैप्टन रह चुकी कौर मूलरूप से पटियाला की रहने वाली चरणजीत कौर बताती हैं कि वह खुद सीनियर नेशनल और नेशनल गेम्स सात गोल्ड मेडल जीत चुकी हैं। साल 2001 बैंकाक में आयोजित सीनियर एशियन चैंपियनशिप में वह भारतीय टीम की कप्तान थी, और उनकी बेस्ट परफोरमेंस को देखते हुए उन्हें इंटरनेशनल फेंसिग फेडरेशन की तरफ से एडवांस ट्रेनिग के लिए चीन भेजा गया था। यह सब अनुभव खेल के साथ उन्हें कोचिग देने में भी काम आया। साल 2018 इंडोनेशिया में आयोजित एशियन गेम्स में वह भारतीय महिला फेंसिग टीम के साथ बतौर कोच गई थी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.