नागालैंड को 118 रन से हरा चंडीगढ़ की लगातार नौवीं जीत

नागालैंड को 118 रन से हरा चंडीगढ़ की लगातार नौवीं जीत

पुडुचेरी में आयोजित बीसीसीआइ वुमंस वन डे टूर्नामेंट में अपनी अजेय लय बरकरार रखी।

JagranWed, 11 Mar 2020 08:12 PM (IST)

जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : पुडुचेरी में आयोजित बीसीसीआइ वुमंस वन डे टूर्नामेंट में अपनी अजेय लय बरकरार रखते चंडीगढ़ ने प्लेट ग्रुप के आखिरी मैच में नागालैंड को 118 रन से हराकर लगातार नौवीं जीत दर्ज की। चंडीगढ़ के पांच विकेट के नुकसान पर 210 रनों के जवाब में नागालैंड 36वें ओवर में 95 रनों पर ही सिमट गई। चंडीगढ़ अब आगामी 15 मार्च को रेलवे के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में भिड़ेगा, जोकि गुजरात के बडौदरा में खेला जाएगा। इससे पूर्व चंडीगढ़ ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया, जोकि कप्तान अमनजोत कौर के लिये सार्थक सिद्ध हुआ। मोनिका पांडे और मनीषा बधन ने 24 रन तक टीम को सधी हुई शुरुआत दी, जिसके बाद छठें ओवर में मनीषा बधन (12), तृष्णा नायर की गेंद पर विसी चौधरी को कैच थमा बैठी। इसके बाद नई बल्लेबाज सुमन (8) भी ज्यादा देर टिक नहीं सकी और पंकुल का शिकार हुई। जिससे स्कोर दो विकेट के नुकसान पर 41 रन हुआ। इसके बाद, एक बार फिर कप्तान अमनजोत कौर ने अपनी काबलियत सिद्ध करते हुए मोनिका पांडे के साथ तीसरे विकेट के लिए अगले लगभग तीस ओवर्स में 125 रनों की साझेदारी निभाई। इसी बीच सबसे पहले मोनिका पांडे ने 108 गेंद पर अपना अर्धशतक पूरा किया। जिसके बाद कप्तान अमनजोत कौर ने 80 गेंदों पर अर्धशतक जड़ा। 50 ओवर्स में पांच विकेट के नुकसान पर बनाए 210 रन

पारी के 44वें ओवर में सरिबा ने मोनिका पांडे को आउट कर खतरनाक दिख रही इस जोड़ी का अंत किया और अब स्कोर तीन विकेट के नुकसान पर 166 रन हुआ। पांडे ने 128 गेदों पर 67 रन बनाए, जिसमें उन्होंने सात चौके भी जड़े। स्लॉग ओवर्स में रनों की गति को बढ़ाते हुए अगले ही ओवर में प्रियंका गुलेरिया (8) भी सरिबा द्वारा क्लीन बोल्ड हुई। टूर्नामेंट में अपने पहले शतक की ओर बढ़ रही कप्तान अमनजोत कौर की साहासिक पारी का अंत अयनतिका ने किया। कौर ने 109 गेंदो पर नौ चौके जड़कर 73 रनों की पारी खेली जिससे स्कोर पांच विकेट के नुकसान पर 181 रन हुआ। नंदिनी शर्मा के नाबाद बीस और नाट आउट रही अंबिका (10) की मदद से चंडीगढ़ ने निर्धारित 50 ओवर्स में पांच विकेट के नुकसान पर 210 रन जुटाए। नागालैंड की टीम 92 रनों पर ऑलआउट

नागालैंड की शुरुआती ओवर्स में कप्तान अमनजोत कौर और नंदिनी शर्मा की गेंदबाजी के समक्ष चरमराती नजर आई। पहले नौ ओवर्स में ही दोनों की जोड़ी ने चार विकेट के नुकसान पर नागालैंड का स्कोर बीस रन कर दिया। नंदिनी ने नज्मा (8) और रुपसेना (2) को आउट किया जबकि अमनजोत कौर ने मुनिया (0) और विसी चौधरी (8) को सस्ते में चलता किया। इसके बाद पारुल सैनी ने भी मोर्चा संभाला और पारी के 13वें ओवर में अयंतिका (9) का विकेट लेकर आधी टीम 35 रनों पर ढेर कर दी। इसी बीच मधुमोंती चट्टान की तरह क्रीज पर डटी रही और एक लंबी साझेदारी को तरसती रही। पारी के 25वें ओवर में पारुल सैनी ने दो विकेट चटकाए जिसमें उन्होंनें तृष्णा नायर (0) और सनिग्धा (0) को आउट कर स्कोर सात विकेट के नुकसान पर 63 रन हुआ। मैच 28वें ओवर में कुमारी शिबी को एकमात्र विकेट सेंटीलेम्ला (8) रूप में मिला। पारी के अंतिम क्षणों ने अंबिका ने पंकुल (1) और अमनजोत कौर ने सरिबा को क्लीन बोल्ड कर नागालैंड की पूरी टीम 36वें ओवर में मात्र 92 रनों में समेट दी। चंडीगढ़ की ओर से अमनजोत कौर और पारुल सैनी ने तीन तीन विकेट चटकाई, जबकि नंदिनी शर्मा ने दो विकेट प्राप्त की। कुमारी शिबी और अंबिका को एक एक विकेट से संतोष करना पड़ा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.